कॉन्ग्रेस समर्थक तहसीन पूनावाला ने लाइव डिबेट में अय्यर को लगाई लताड़, हार के लिए ठहराया जिम्मेदार

पहले भी तहसीन ने ट्वीट करते हुए कहा था, “कॉन्ग्रेस का कट्टर समर्थक होने के नाते मैं ईमानदारी से स्वीकार करता हूँ कि रेणुका चौधरी और मणिशंकर अय्यर पार्टी के लिए बोझ हैं। इनके घमंड के कारण कॉन्ग्रेस को नुकसान उठाना पड़ रहा है।"

तहसीन पूनावाला को कॉन्ग्रेस पार्टी का बड़ा समर्थक माना जाता है, लेकिन एक लाइव न्यूज़ डिबेट के दौरान उन्होंने पार्टी और पार्टी के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर के ऊपर जमकर हमला बोला। दरअसल, हाल ही में एक न्यूज डिबेट में कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर और तहसीन पूनावाला हिस्सा ले रहे थे। इस दौरान उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेता को जमकर घेरा और साथ ही उन पर पार्टी की हार का कारण होने का भी आरोप लगाया। पूनावाला ने कॉन्ग्रेस में युवाओं को मौका न देने पर भी सवाल उठाया।

पूनावाला ने इस दौरान कॉन्ग्रेस पार्टी को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने मिलिंद देवड़ा और राजीव शुक्ला जैसे नेताओं को बाहर कर कुमार केतकर जैसे बेकार और फालतू नेता को राज्यसभा में भेजने के लिए पार्टी की आलोचना की। इसके साथ ही उन्होंने कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा के पूर्वी उत्तर प्रदेश के महासचिव बनाने के फैसले को भी गलत बताया।

तहसीन पूनावाला ने कॉन्ग्रेस की हार के लिए मणिशंकर को जिम्मेदार ठहराया और घमंडी बताया। उन्होंने कहा कि वो बीते जमाने में रहते हैं, उन्हें नए भारत, नए युग की समझ नहीं है। पूनावाला ने अय्यर द्वारा 2014 लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी के लिए चायावाला शब्द इस्तेमाल करने का भी जिक्र किया और कहा कि इनके इस शब्द की वजह से प्रधानमंत्री को सहानुभूति मिली, जो कि कॉन्ग्रेस की हार और भाजपा की जीत का कारण बनी। 

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

गौरतलब है कि, पूनावाला इससे पहले भी मणिशंकर को पार्टी के लिए बोझ कह चुके हैं। 2018 में कॉन्ग्रेस नेता के राज्य सभा में प्रधानमंत्री के भाषण पर हँसने के बाद उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा था, “कॉन्ग्रेस का कट्टर समर्थक होने के नाते मैं ईमानदारी से स्वीकार करता हूँ कि रेणुका चौधरी और मणिशंकर अय्यर पार्टी के लिए बोझ हैं। इनके घमंड के कारण कॉन्ग्रेस को नुकसान उठाना पड़ रहा है। यह गाँधी और नेहरू जैसों की पार्टी है। ऊपरी सदन में इस हँसी से मैं छटपटा गया।”

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

नितिन गडकरी
गडकरी का यह बयान शिवसेना विधायक दल में बगावत की खबरों के बीच आया है। हालॉंकि शिवसेना का कहना है कि एनसीपी और कॉन्ग्रेस के साथ मिलकर सरकार चलाने के लिए उसने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

113,096फैंसलाइक करें
22,561फॉलोवर्सफॉलो करें
119,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: