Thursday, August 5, 2021
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस समर्थक तहसीन पूनावाला ने लाइव डिबेट में अय्यर को लगाई लताड़, हार के...

कॉन्ग्रेस समर्थक तहसीन पूनावाला ने लाइव डिबेट में अय्यर को लगाई लताड़, हार के लिए ठहराया जिम्मेदार

पहले भी तहसीन ने ट्वीट करते हुए कहा था, “कॉन्ग्रेस का कट्टर समर्थक होने के नाते मैं ईमानदारी से स्वीकार करता हूँ कि रेणुका चौधरी और मणिशंकर अय्यर पार्टी के लिए बोझ हैं। इनके घमंड के कारण कॉन्ग्रेस को नुकसान उठाना पड़ रहा है।"

तहसीन पूनावाला को कॉन्ग्रेस पार्टी का बड़ा समर्थक माना जाता है, लेकिन एक लाइव न्यूज़ डिबेट के दौरान उन्होंने पार्टी और पार्टी के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर के ऊपर जमकर हमला बोला। दरअसल, हाल ही में एक न्यूज डिबेट में कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर और तहसीन पूनावाला हिस्सा ले रहे थे। इस दौरान उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेता को जमकर घेरा और साथ ही उन पर पार्टी की हार का कारण होने का भी आरोप लगाया। पूनावाला ने कॉन्ग्रेस में युवाओं को मौका न देने पर भी सवाल उठाया।

पूनावाला ने इस दौरान कॉन्ग्रेस पार्टी को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने मिलिंद देवड़ा और राजीव शुक्ला जैसे नेताओं को बाहर कर कुमार केतकर जैसे बेकार और फालतू नेता को राज्यसभा में भेजने के लिए पार्टी की आलोचना की। इसके साथ ही उन्होंने कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा के पूर्वी उत्तर प्रदेश के महासचिव बनाने के फैसले को भी गलत बताया।

तहसीन पूनावाला ने कॉन्ग्रेस की हार के लिए मणिशंकर को जिम्मेदार ठहराया और घमंडी बताया। उन्होंने कहा कि वो बीते जमाने में रहते हैं, उन्हें नए भारत, नए युग की समझ नहीं है। पूनावाला ने अय्यर द्वारा 2014 लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी के लिए चायावाला शब्द इस्तेमाल करने का भी जिक्र किया और कहा कि इनके इस शब्द की वजह से प्रधानमंत्री को सहानुभूति मिली, जो कि कॉन्ग्रेस की हार और भाजपा की जीत का कारण बनी। 

गौरतलब है कि, पूनावाला इससे पहले भी मणिशंकर को पार्टी के लिए बोझ कह चुके हैं। 2018 में कॉन्ग्रेस नेता के राज्य सभा में प्रधानमंत्री के भाषण पर हँसने के बाद उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा था, “कॉन्ग्रेस का कट्टर समर्थक होने के नाते मैं ईमानदारी से स्वीकार करता हूँ कि रेणुका चौधरी और मणिशंकर अय्यर पार्टी के लिए बोझ हैं। इनके घमंड के कारण कॉन्ग्रेस को नुकसान उठाना पड़ रहा है। यह गाँधी और नेहरू जैसों की पार्टी है। ऊपरी सदन में इस हँसी से मैं छटपटा गया।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,029FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe