Saturday, May 18, 2024
Homeराजनीतिअरविंद केजरीवाल की मुसीबत बढ़ी, दिल्ली शराब घोटाले में 'आरोपी' बना सकती है ED:...

अरविंद केजरीवाल की मुसीबत बढ़ी, दिल्ली शराब घोटाले में ‘आरोपी’ बना सकती है ED: 10 मई को दाखिल करेगी चार्जशीट, इसी दिन जमानत पर भी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

सप्लीमेंट्री चार्जशीट में अरविंद केजरीवाल को मुख्य साजिशकर्ता यानी 'किंगपिन' के तौर पर 'चिन्हित' किया जाएगा, साथ ही इसमें बीआरएस की एमएलसी के कविता की भूमिका के बारे में भी कोर्ट को जानकारी दी जाएगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है। खबरों के मुताबिक, शुक्रवार (10 मई 2024) को ईडी कोर्ट में सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर कर सकती है। सूत्रों की मानें तो इस चार्जशीट में अरविंद केजरीवाल को मुख्य साजिशकर्ता यानी ‘किंगपिन’ के तौर पर ‘चिन्हित’ किया जाएगा, साथ ही इसमें बीआरएस की एमएलसी के कविता की भूमिका के बारे में भी कोर्ट को जानकारी दी जाएगी।

ईडी ने पिछली बार अरविंद केजरीवाल की हिरासत बढ़ाने की माँग के दौरान भी ये कहा था कि अरविंद केजरीवाल दिल्ली शराब नीति घोटाला मामले में ‘मुख्य साजिशकर्ता‘ हैं। जिसमें अरविंद केजरीवाल को नई शराब नीति 2021-22 को तैयार करने और लागू करने के लिए ‘साउथ ग्रुप’ से रिश्वत के रूप में कई करोड़ रुपए मिले। अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) एसवी राजू ने राउज एवेन्यू कोर्ट को बताया था कि उन्होंने चुनाव लड़ने के लिए ‘साउथ ग्रुप’ के लोगों से 100 करोड़ रुपए की माँग की थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ईडी अपनी चार्जशीट में केजरीवाल का नाम मुख्य साजिशकर्ता और किंगपिन के तौर पर दर्ज करने जा रही है। ईडी का दावा है कि उसने अरविंद केजरीवाल से जुड़े मनी ट्रेल का पता लगा लिया है। ऐसे में अब ईडी द्वारा दिल्ली शराब घोटाले में सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल किए जाने के बाद उनकी मुसीबत बढ़ सकती है, क्योंकि उसी दिन यानी शुक्रवार को ही सुप्रीम कोर्ट में अरविंद केजरीवाल की अंतरिम जमानत पर फैसला हो सकता है।

सुप्रीम कोर्ट में जमानत याचिका पर सुनवाई

इस बीच, सुप्रीम कोर्ट में अरविंद केजरीवाल की जमानत याचिका पर शुक्रवार (10 मई 2024) को ही सुनवाई की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने कुछ दिन पहले सुनवाई की थी, और मामले में दोनों पक्षों की दलीलों को सुना था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि लोकसभा चुनाव 2024 को देखते हुए अरविंद केजरीवाल को अंतरिम जमानत देने पर विचार किया जा सकता है।

गौरतलब है कि ईडी ने बीआरएस नेता के कविता को 15 मार्च को हैदराबाद से और अरविंद केजरीवाल को दिल्ली से 21 मार्च 2024 को गिरफ्तार किया था। दोनों ही नेताओं से मौके पर पूछताछ की गई थी, इसके बाद गिरफ्तारी को अंजाम दिया गया था। इससे पहले, ईडी ने अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के लिए 9 समन जारी किए थे। हालाँकि, केजरीवाल किसी भी समन पर पेश नहीं हुए थे।

केंद्रीय जाँच एजेंसी का आरोप है कि वह घोटाले के मुख्य साजिशकर्ता थे और सीधे तौर पर शराब कारोबारियों से रिश्वत माँगने में शामिल थे। इस मामले में के कविता और अरविंद केजरीवाल, दोनों ही नेता तिहाड़ जेल में बंद हैं। दिल्ली शराब नीति घोटाले में मनीष सिसोदिया समेत कई आप नेता और ‘साउथ ग्रुप’ से जुड़े कई लोग पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं और उनके खिलाफ जाँच चल रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

स्वाति मालीवाल पर AAP का यूटर्न: पहले पार्टी ने कहा कि केजरीवाल के पीए विभव ने की बदतमीजी, अब महिला सांसद के आरोप को...

कल तक स्वाति मालीवाल के साथ खड़ा रहने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी ने अब यू टर्न ले लिया है और विभव कुमार के बचाव में खड़ी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -