Thursday, May 23, 2024
Homeराजनीतिदिल्ली में वायु के बाद अब 'जल' संकट! मंत्री आतिशी ने वित्त सचिव पर...

दिल्ली में वायु के बाद अब ‘जल’ संकट! मंत्री आतिशी ने वित्त सचिव पर फोड़ा ठीकरा, पानी के लिए तरसेगी राजधानी

चिट्ठी में उन्होंने लिखा है कि दिल्ली में पानी की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि चीफ सेक्रेटरी के कहने पर वित्त सचिव आशीष वर्मा ने अगस्त से जल बोर्ड के सारे फंड बंद कर दिए हैं।

दिल्ली की जनता अब साफ हवा के बाद साफ पानी के लिए तरसने वाली है। दिल्ली सरकार ने बलि का बकरा भी ढूँढ लिया है। अब दिल्ली सरकार की मंत्री आतिशी ने कहा है कि वित्त सचिव ने दिल्ली जल बोर्ड का पैसा रोक लिया है, वो फंड ही जारी नहीं कर रहे हैं, तो दिल्ली में अब जल संकट आना तय है। आतिशी ने कहा कि चीफ सेक्रेटरी के कहने पर वित्त सचिव आशीष वर्मा ने अगस्त से जल बोर्ड के सारे फण्ड बंद कर दिए हैं। वित्त मंत्री के लिखित आदेश की बाद भी फंड को जारी नहीं कर रहे हैं, जिसकी वजह से इमरजेंसी जैसे हालात को पैदा करता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस मामले में आतिशी ने LG को चिट्ठी लिखकर हस्तक्षेप करने को कहा है। चिट्ठी में उन्होंने लिखा है कि दिल्ली में पानी की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि चीफ सेक्रेटरी के कहने पर वित्त सचिव आशीष वर्मा ने अगस्त से जल बोर्ड के सारे फंड बंद कर दिए हैं। जय बोर्ड के पास सैलरी और रूटीन कामों के लिए भी पैसे नहीं बचे हैं।

जल मंत्री आतिशी ने दिल्ली के उप-राज्यपाल विनय कुमार सक्सेना से तुरंत हस्तक्षेप करने की अपील करते हुए कहा है कि सभी ठेकेदारों ने काम करने से मना किया गया है। आने वाले दिनों में कई इलाकों में पानी की भारी किल्लत, गंदा पानी और सीवर ओवरफ्लो हो सकते हैं। अगर ऐसा हुआ, तो दिल्ली में महामारी का खतरा बढ़ सकता है। ये समस्या इमरजेंसी जैसे हालात पैदा करता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फंड जारी करने को लेकर वित्त विभाग और दिल्ली जल बोर्ड के बीच पिछले कुछ माह से खींचतान चल रही है। दिल्ली जल बोर्ड आवंटित बजट से 1,800 करोड़ रुपये अधिक मांग रहा है, जिसे जारी करने से वित्त विभाग ने इनकार कर दिया है। इस मामले के सामने आने के बाद दिल्ली की राजनीति भी गरमा सकती है, जिसके बाद विपक्षी पार्टियाँ दिल्ली सरकार को निशाने पर ले सकती हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

OBC में घुसा दी 77 मुस्लिम जाति, अब आरक्षण रद्द करने के फैसले को बता रहीं ‘BJP का आदेश’: जानिए क्यों ममता बनर्जी कह...

कुल 77 मुस्लिम जातियों को मिला OBC का दर्जा रद्द किया गया है। ममता बनर्जी ने इसे 'BJP का आदेश' बताते हुए 'OBC आरक्षण' जारी रहेगा।

क्या सोने की तस्करी में हुई MP अनवारुल अजीम की हत्या? बांग्लादेश पुलिस का दावा- दोस्त ने ही मरवाया, कोलकाता की फ्लैट में आई...

बांग्लादेश के सांसद अनवारुल अजीम की कोलकाता में हत्या उन्हीं के एक पुराने दोस्त अख्तरुज्ज्मान ने करवाई थी, वह अमेरिकी-बांग्लादेशी नागरिक है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -