Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजअरविंद केजरीवाल के घर ED की छापेमारी, मोबाइल जब्त कर पूछताछ जारी: घर के...

अरविंद केजरीवाल के घर ED की छापेमारी, मोबाइल जब्त कर पूछताछ जारी: घर के बाहर धारा 144 लागू, सुप्रीम कोर्ट पहुँची दिल्ली CM की लीगल टीम

शराब घोटाले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा गुरुवार (21 मार्च 2024) को राहत देने से इनकार करने के तुरंत बाद प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम उनके घर पहुँच गई। कहा जा रहा है कि केंद्रीय एजेंसी उनके घर की तलाशी ले रही है। वहीं, सीएम केजरीवाल की लीगल टीम भी ईडी की इस कार्रवाई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुँच गई है।

शराब घोटाले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा गुरुवार (21 मार्च 2024) को राहत देने से इनकार करने के तुरंत बाद प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम उनके घर पहुँच गई। कहा जा रहा है कि केंद्रीय एजेंसी उनके घर की तलाशी ले रही है। वहीं, सीएम केजरीवाल की लीगल टीम भी ईडी की इस कार्रवाई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुँच गई है।

सीएम केजरीवाल के आवास पर ED के संयुक्त निदेशक कपिल राज भी मौजूद हैं। सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि आवास के चप्पे-चप्पे की तलाशी ली जा रही है। इतना ही नहीं, केजरीवाल का मोबाइल फोन भी जब्त कर लिया गया है और जाँच अधिकारी जोगेंद्र सीएम केजरीवाल से पूछताछ कर रहे हैं। वहीं, PMLA की धारा 50 के तहत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का बयान दर्ज किया जा रहा है।

इस बीच दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज भी अरविंद केजरीवाल के घर के बाहर पहुँच गए हैं। भारद्वाज ने कहा कि अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की तैयारी की जा रही है। आज ही दिल्ली हाईकोर्ट ने ईडी के समन मामले में एक महत्वपूर्ण टिप्पणी करते हुए कहा था कि अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तारी से राहत नहीं दी जा सकती है।

आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, ईडी कार्यालय के बाहर सुरक्षा बढ़ाई गई है और बाहर धारा 144 लगाई गई है। सीएम अरविंद केजरीवाल के घर के बाहर भी धारा 144 लगाई गई है। घर के बाहर RAF और पैरा मिलट्रीफोर्स के जवानों की तैनाती की गई है। सीएम केजरीवाल के घर के बाहर बढ़ रही भीड़ को नियंत्रित करने के लिए ऐसा किया गया है। घर के बाहर कार्यकर्ता नारेबाजी कर रहे हैं।

वहीं, मोहल्ला क्लीनिकों में दवाओं की कमी को दूर करने के लिए उठाए गए कदमों के संबंध में रिपोर्ट सौंपने के लिए मुख्य सचिव को 22 मार्च को विधानसभा में फिर से बुलाया गया है। वहीं, सीएम केजरीवाल के आवास पर दिल्ली पुलिस के ACP रैंक के कई अधिकारी भी मौजूद हैं। यह भी सामने आया है कि 6 से 8 अधिकारी सीएम केजरीवाल के घर समन देने के लिए पहुँचे हैं। यह 10वाँ समन होगा।

इसको लेकर राजनीति भी तेज हो गई है। दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा, “एक केजरीवाल को जेल में अंदर डालेंगे तो सौ केजरीवाल संविधान बचाने आएँगे। दिल्ली के लोग अरविंद केजरीवाल को प्यार करते हैं और अपने परिवार का सदस्य मानते हैं। दिल्ली में उन्होंने आमूलचूल परिवर्तन किया है इसलिए पीएम नरेंद्र मोदी उनसे डरते हैं।”

आम आदमी पार्टी के नेता और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सोशल मीडिया साइट X पर लिखा, “बीजेपी की राजनीतिक टीम (ED) केजरीवाल की सोच को कैद नहीं कर सकती… क्योंकि AAP ही BJP को रोक सकती हैं।। सोच को कभी भी दबाया नहीं जा सकता।”

बता दें कि ED ने सोमवार (18 मार्च 2024) को जारी एक प्रेस रिलीज में पहली बार अरविंद केजरीवाल का नाम लेते हुए कहा था कि जाँच में के. कविता के साथ सीएम केजरीवाल का नाम भी जुड़ा है। ED के मुताबिक, जाँच में खुलासा हुआ है कि नई आबकारी नीति से लाभ उठाने के लिए कविता ने AAP पार्टी के नेताओं, सीएम केजरीवाल और तत्कालीन उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के साथ मिलकर साजिश रची।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -