Sunday, June 16, 2024
HomeराजनीतिTMC का चैलेंज एक्सेप्ट कर कलकत्ता HC के जज अभिजीत गंगोपाध्याय ने दिया इस्तीफा,...

TMC का चैलेंज एक्सेप्ट कर कलकत्ता HC के जज अभिजीत गंगोपाध्याय ने दिया इस्तीफा, 7 मार्च को BJP में होंगे शामिल, अब लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

कलकत्ता हाई कोर्ट के जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय ने ऐलान कर दिया है कि वो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल होंगे। उन्होंने बताया है कि दो दिन बाद वो एक कार्यक्रम में बीजेपी में शामिल होंगे।

कलकत्ता हाई कोर्ट के जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय ने मंगलवार (05 मार्च 2024) को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने दो दिन पहले ही ये बता दिया था कि वो 5 मार्च को अपना इस्तीफा दे देंगे और राजनीति के मैदान में उतरेंगे। उन्होंने टीएमसी के नेताओं को धन्यवाद देते हुए कहा था कि उन्हीं की वजह से वो इस फैसले पर पहुँचे हैं। उन्होंने अपने इस्तीफे के कुछ ही समय बाद इस बात का ऐलान कर दिया है कि वो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल होंगे। उन्होंने बताया है कि दो दिन बाद वो एक कार्यक्रम में बीजेपी में शामिल होंगे।

कलकत्ता हाई कोर्ट के जज अभिजीत गंगोपाध्याय ने अपना इस्तीफा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को भेज दिया। इसके अलावा इस्तीफे की कॉपियाँ मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ और कलकत्ता हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश टीएस शिवज्ञानम को भी भेज दी। इसके बाद अब उन्होंने ऐलान किया है कि वो गुरुवार (7 मार्च 2024) को बीजेपी में शामिल होंगे।

जस्टिस गंगोपाध्याय हमेशा सत्तारूढ़ टीएमसी के निशाने पर रहते थे। जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय ने रविवार (3 मार्च, 2024) को इस्तीफे के बारे में एबीपी आनंदा से बातचीत के दौरान खुलासा किया था। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कॉन्ग्रेस के नेता उन्हें बार बार चैलेंज कर रहे थे कि मैं राजनीतिक मैदान में आऊँ। ऐसे में मैंने सोचा कि क्यों न यही काम कर लिया जाए। अत: मैंने इस्तीफे का फैसला ले लिया।

जब जस्टिस गंगोपाध्याय से इस्तीफे का कारण पूछने पर उन्होंने कहा कि सत्ताधारी पार्टी के कई लोगों ने मुझे चुनौती देकर मुझे यह निर्णय लेने के लिए मजबूर किया। मैं इसके लिए सत्तारूढ़ दल (टीएमसी) को बधाई देना चाहता हूँ कि उनकी वजह से मुझे ये फैसला लेना पड़ा। बता दें कि जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय 2018 में कलकत्ता हाई कोर्ट के जस्टिस बने थे और वो अगस्त 2024 में रिटायर होने वाले थे। अपने रिटायरमेंट से 5 महीने पहले ही उन्होंने इस्तीफा देकर राजनीति के मैदान में उतरने का ऐलान कर दिया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली पुलिस को पाइपलाइन की रखवाली के लिए लगाना चाहती है AAP सरकार, कमिश्नर को आतिशी ने लिखा पत्र: घोटाले का आरोप लगा BJP...

बीजेपी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने जब से दिल्ली जल बोर्ड की कमान संभाली, उसके एक साल में जमकर धाँधली हुई और दिल्ली जल बोर्ड को बर्बाद कर दिया गया।

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -