‘आरोप साबित हुए तो फाँसी लगा लूँगा, नहीं तो केजरीवाल राजनीति छोड़ें’: गौतम गंभीर

आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि पूर्वी दिल्ली की हाउसिंग सोसाइटियों में अखबारों में रखकर बँटवाए गए पर्चे में आतिशी के बारे में काफी आपत्तिजनक बातें लिखी गई हैं। इसमें आतिशी को 'प्रॉस्टिट्यूट', 'बीफ इटर', 'मिक्स ब्रीड का सबसे अच्छा उदाहरण' बताया गया है।

पूर्वी दिल्ली संसदीय क्षेत्र से आम आदमी पार्टी (AAP) प्रत्याशी आतिशी ने बीजेपी प्रत्याशी गौतम गंभीर पर आरोप लगाया था कि गौतम गंभीर ने इस लोकसभा क्षेत्र में उनके खिलाफ आपत्तिजनक पर्चे बँटवाए हैं। गौतम गंभीर ने आतिशी और आम आदमी पार्टी के आरोपों को खारिज कर दिया था और कहा था कि अगर ये आरोप सही साबित हो गए, तो वो अपनी उम्मीदवारी वापस ले लेंगे।

अब एक बार फिर से गौतम गंभीर ने ट्वीट कर दिल्ली के CM अरविन्द केजरीवाल और आम आदमी पार्टी को चुनौती दी है। गंभीर ने लिखा है, “अगर वो ये साबित कर देते हैं कि उस पर्चे से मेरा कोई लेना-देना है, तो मैं जनता के बीच अपने आप को फाँसी लगा लूँगा। अगर ऐसा नहीं हुआ तो अरविंद केजरीवाल को राजनीति से संन्यास लेना होगा। क्या यह चुनौती स्वीकार है?”

गंभीर ने भेजा मानहानि नोटिस

आम आदमी पार्टी के आरोपों पर गौतम गंभीर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आतिशी मार्लेना के खिलाफ मानहानि का नोटिस भेजा है। इससे पहले उन्होंने आरोपों के जवाब में कहा था कि अगर उनके खिलाफ इस मामले में आरोप साबित होते हैं, तो वे अपनी उम्मीदवारी वापस ले लेंगे। अगर ऐसा नहीं हुआ तो केजरीवाल और अतिशी राजनीति से संन्यास लें।

‘मुझे महिलाओं की इज्जत करना सिखाया गया’

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

गौतम गंभीर ने कहा, ‘‘जो भी हुआ, मैं उसकी निंदा करता हूँ। मैं उस परिवार से आता हूँ, जहाँ मुझे महिलाओं की इज्जत करना सिखाया गया है। मुझे नहीं पता था कि अरविंद केजरीवाल इतने नीचे चले जाएँगे। इसलिए मैंने मानहानि का केस किया है। हम इस हद तक कभी नहीं गिर सकते, जहाँ तक AAP नेता जा रहे हैं।’’

हाउसिंग सोसाइटियों में बंटवाए गए पर्चे

आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि पूर्वी दिल्ली की हाउसिंग सोसाइटियों में अखबारों में रखकर बँटवाए गए पर्चे में आतिशी के बारे में काफी आपत्तिजनक बातें लिखी गई हैं। इसमें आतिशी को ‘प्रॉस्टिट्यूट’, ‘बीफ इटर’, ‘मिक्स ब्रीड का सबसे अच्छा उदाहरण’ बताया गया है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बीएचयू, वीर सावरकर
वीर सावरकर की फोटो को दीवार से उखाड़ कर पहली बेंच पर पटक दिया गया था। फोटो पर स्याही लगी हुई थी। इसके बाद छात्र आक्रोशित हो उठे और धरने पर बैठ गए। छात्रों के आक्रोश को देख कर एचओडी वहाँ पर पहुँचे। उन्होंने तीन सदस्यीय कमिटी गठित कर जाँच का आश्वासन दिया।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,579फैंसलाइक करें
23,213फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: