Tuesday, May 21, 2024
Homeराजनीतिजिन पर लगा था गायों को गोली मारने का आरोप, वे बेटी के साथ...

जिन पर लगा था गायों को गोली मारने का आरोप, वे बेटी के साथ AAP में शामिल; केजरीवाल ने खुद किया वेलकम

निर्मल सिंह पर 2020 में गाय को गोली मारने का आरोप लगा था। उनके खिलाफ उत्तर प्रदेश के बेहट थाने में गोहत्या का मामला दर्ज किया गया था। FIR यूपी के गाँव बरथा कोरसी निवासी माम हुसैन ने दर्ज कराई थी।

हरियाणा के पूर्व मंत्री निर्मल सिंह और उनकी बेटी चित्रा सरवारा ने गुरुवार (7 अप्रैल 2022) को आम आदमी पार्टी (AAP) की सदस्यता ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने दोनों का पार्टी में स्वागत किया। कभी कॉन्ग्रेस में रहे सिंह ने कुछ समय पहले हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट का गठन किया था। अब इसका विलय आप में कर दिया गया है। सिंह नवंबर 2020 में तब चर्चा में आए थे, जब उन पर गोहत्या का मामला दर्ज हुआ था। हालाँकि अब इस मामले में उन्हें क्लीनचिट मिल चुकी है।

सिंह और उनकी बेटी के पार्टी में शामिल होने के लेकर केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा, “चित्रा जी, निर्मल जी एवं हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट के सभी कार्यकर्ताओं का आम आदमी पार्टी परिवार में स्वागत है। हरियाणा और देश की तरक्की के लिए हम सब मिलकर मेहनत करेंगे।” इस मौके पर आप सांसद सुशील कुमार गुप्ता और हाल ही में AAP में शामिल होने वाले हरियाणा कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर भी मौजूद थे।

गौरतलब है कि निर्मल सिंह पर 2020 में गाय को गोली मारने का आरोप लगा था। उनके खिलाफ उत्तर प्रदेश के बेहट थाने में गोहत्या का मामला दर्ज किया गया था। FIR यूपी के गाँव बरथा कोरसी निवासी माम हुसैन ने दर्ज कराई थी। ऑपइंडिया से बात करते हुए सहारनपुर के SSP आकाश तोमर ने बताया कि इस मामले में पुलिस ने फाइनल रिपोर्ट (FR) लगा दी थी। तत्कालीन पुलिसकर्मियों द्वारा जाँच के बाद इस केस में निर्मल सिंह को दोषी नहीं पाया गया था।

दरअसल जिस जगह यह घटना हुई थी वहाँ पर पूर्व मंत्री निर्मल सिंह का घोड़ों का फार्म है। इस फार्म को लेकर कई तरह के आरोप लगते रहे हैं। पत्रकार सचिन गुप्ता ने 2020 में इस घटना के बाद ट्वीट करते हुए इस फार्म को विवादित बताया था। सिंह चार बार विधायक रह चुके हैं। उन्होंने ​हरियाणा की नागल सीट से 1982, 1991, 1996 और 2005 में जीत दर्ज की थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -