Thursday, May 30, 2024
Homeराजनीतिसड़क पर गैर-कानूनी मस्जिद निर्माण: विरोध करने गए BJP विधायक हिरासत में, पुलिस का...

सड़क पर गैर-कानूनी मस्जिद निर्माण: विरोध करने गए BJP विधायक हिरासत में, पुलिस का दोहरा रवैया

"मुस्लिम समुदाय सरकारी जमीन पर अवैध रूप से अतिक्रमण करना चाहती थी, जिसका मैंने विरोध किया। मगर पुलिस ने मेरे साथ भेद-भाव वाला रवैया अपनाया।"

हैदराबाद में भाजपा विधायक टी राजा सिंह को रविवार (मई 5, 2019) को पुलिस द्वारा हिरासत में ले लिया गया। दरअसल, हैदराबाद के अंबरपेट इलाके में जमीन के एक हिस्से पर शेड की स्थापना को लेकर दो समुदायों में झड़प हो गई।

मौके पर पहुँची पुलिस ने वहाँ पर इकट्ठा हुई भीड़ को हटाया। इसका एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें साफ तौर पर देखा जा सकता है कि भाजपा के विधायक के साथ पुलिस बुरी तरीके से पेश आ रही है। इस वीडियो में पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार अपनी टीम से भाजपा विधायक को वहाँ से ले जाने के लिए कहते हैं। अंजनी कुमार कहते हैं, “ले जा इसको, उठा कर ले जाओ।”

राजा सिंह इसका विरोध कर रहे होते हैं, मगर पुलिस बलपूर्वक राजा सिंह को पकड़कर ले जाती है और हिरासत में ले लेती है। हालाँकि राजा सिंह को इसके बाद जल्द ही रिहा कर दिया गया। विधायक राजा सिंह ने इसके बाद ट्वीट कर बताया कि वो और उनके समर्थक लोग सड़क पर गैर-कानूनी मस्जिद निर्माण का विरोध करने गए थे लेकिन पुलिस ने उन्हें ही गिरफ्तार कर लिया जबकि गैर-कानूनी काम करने वाले लोग अभी भी खुला घूम रहे हैं।

भाजपा की तेलंगाना इकाई के नेताओं का आरोप है कि पुलिस ने पक्षपातपूर्ण ढंग से काम किया और केवल हिंदू संगठनों के सदस्यों पर लाठीचार्ज किया। उनका कहना है कि मुस्लिम समुदाय सरकारी जमीन पर अवैध रूप से अतिक्रमण करना चाहती थी, जिसे वो रोकने का प्रयास कर रहे थे। मगर पुलिस ने उनके साथ भेद-भाव वाला रवैया अपनाया।

उन्होंने कहा कि वो शहर के गोशामहल निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले सिंह की स्थिति के बारे में जानने के लिए मौके पर पहुँचे थे, लेकिन उन्हें पुलिस ने हिरासत में लिया जो निंदनीय है। भाजपा नेताओं ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के लक्ष्मण की अगुवाई में पुलिस महानिदेशक एम महेंदर रेड्डी से सोमवार (मई 6, 2019) शाम मुलाकात की और इस संबंध में एक ज्ञापन सौंपा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कौन हैं पुणे के रईसजादे को बेल देने वाले एलएन दावड़े, अब मीडिया से रहे भाग: जिसने 2 को कुचल कर मार डाला उसे...

पुणे पोर्श कार के आरोपित को बेल देने वाले डॉक्टर एल एन दावड़े की एक वीडियो सामने आई है इसमें वो मीडिया से भाग रहे हैं।

120 संगठन, विपक्ष, आंदोलनजीवी और पालतू पत्रकार… चुनावी नतीजों से पहले देश को जलाने की प्लानिंग, मोदी जीते तो कोर्ट से चुनाव रद्द करवाने...

'केरोसिन तेल छिड़का जा चुका है, एक चिंगारी से पूरे देश में आग लग जाएगी' - राहुल गाँधी का ये 2 साल पुराना बयान याद कीजिए, और आज नीलू व्यास थॉमस को सुनिए। मतगणना के बाद हिंसा भड़काने की पूरी प्लानिंग तैयार है। शाहीन बाग़ और किसान आंदोलन शायद इसका ही एक्सपेरिमेंट था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -