Sunday, June 26, 2022
Homeराजनीतिमोदी से वार्ता को लेकर ट्रम्प ने बोला झूठ, विदेश मंत्रालय ने कहा- 4...

मोदी से वार्ता को लेकर ट्रम्प ने बोला झूठ, विदेश मंत्रालय ने कहा- 4 अप्रैल के बाद नहीं हुई कोई बातचीत

भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस बात से साफ इनकार कर दिया कि पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के बीच हाल ही में कोई बात नहीं हुई है। ऐसे में यह सवाल उठ खड़ा होना लाजमी है कि क्या ट्रंप जान बूझ कर भारत व चीन के बीच गलतफहमी को बढ़ाने के उद्देश्य से यह बयान दिया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए गलतबयानी या असहज बयान देकर दूसरे देशों व उनके राष्ट्राध्यक्षों के लिए नई मुसीबत खड़ी कर देना कोई नई बात नहीं है। शुक्रवार (29 मई 2020) को ट्रम्प ने वाशिंगटन में पत्रकारों से बातचीत में कहा है कि उनकी मोदी से बात हुई है और मोदी चीन को लेकर बहुत अच्छे मूड में नहीं है।

भारत व चीन के LAC पर पसरे मौजूदा सीमा तनाव को देखते हुए ट्रम्प के इस बयान का खासा महत्व है। लेकिन जैसे ही मीडिया में यह खबर आई भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस बात से साफ इनकार कर दिया कि पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के बीच हाल ही में कोई बात नहीं हुई है। ऐसे में यह सवाल उठ खड़ा होना लाजमी है कि क्या ट्रंप जान बूझ कर भारत व चीन के बीच गलतफहमी को बढ़ाने के उद्देश्य से यह बयान दिया है।

विदेश मंत्रालय ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के उन दावों को भी खारिज़ कर दिया है, जिसमें ट्रम्प ने कहा था कि भारत-चीन के मसले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की थी और वह दोनों देशों के बीच बड़े टकराव को लेकर अच्छे मूड में नहीं हैं।

मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि 4 अप्रैल के बाद राष्ट्रपति ट्रम्प और पीएम मोदी के बीच कोई बातचीत नहीं हुई है। दोनों के बीच अंतिम बातचीत हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के विषय पर हुई थी।

विदेश मंत्रालय ने आगे स्पष्ट किया कि भारत इस विवाद को हल करने के लिए स्थापित तंत्र और राजनयिक संपर्कों के माध्यम से सीधे तौर पर चीन से बातचीत कर रहा है।

बता दें व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में गुरुवार (28 मई) को रिपोर्टरों से भारत और चीन के बीच गतिरोध को लेकर बात करते हुए ट्रम्प ने कहा था, ”मैं आपके प्रधानमंत्री को बहुत पसंद करता हूँ। वह एक बहुत ही सज्जन हैं। भारत और चीन के बीच बड़े टकराव की स्थिति है। दोनों देशों के पास तकरीबन 1.4 अरब आबादी हैं। दोनों की पास काफी मजबूत सेना हैं। भारत खुश नहीं है और शायद चीन भी खुश नहीं है। मैंने पीएम मोदी से बात की थी और चीन के साथ जो कुछ भी चल रहा है उसे लेकर उनका मूड ठीक नहीं है।”

उन्होंने आगे कहा था कि अमेरिका दोनों के बीच उबलते सीमा विवाद में मध्यस्थता करने या फैसला करने के लिए तैयार है, इच्छुक है और योग्य भी है।’

ट्रम्प ने पहले भी बोला था झूठ

इससे पहले ट्रम्प ने कश्मीर के मुद्दे पर भी ऐसी ही भ्रामक बात कही थी। तब संयुक्त राष्ट्र महासभा के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से चर्चा के दौरान ट्रम्प ने कहा था कि कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए पीएम मोदी ने उनसे अपील की है। तब भारत ने तत्काल इसका खंडन किया था कि पीएम मोदी ने ऐसी कोई बात नहीं कही है और भारत कश्मीर पर किसी तीसरे पक्ष की दखल कतई नहीं चाहता है।

क्या है पूरा मामला

इस महीने की शुरुआत से ही लद्दाख में चीनी सैनिक और भारतीय सैनिक आमने-सामने हैं, चीन की ओर से लगातार सैनिकों की संख्या बढ़ाने और बेस बनाने की खबरें आ रही हैं। जिसको लेकर सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने 22मई,2020 को लद्दाख का दौरा किया था।

बता दें चीन ने पैंगोंग त्सो के पास अत्यधिक सैनिक बल को तैनात किया था और लद्दाख में गलवान नदी पर अस्थाई टेंट भी स्थापित किया था। यह भी माना जा रहा है कि चीनी सैनिकों ने पैंगोंग त्सो झील के किनारे भी स्थिति संभाली हुई है और क्षेत्र में भारतीय बलों को डराने के लिए मोटरबोट के साथ आक्रामक गश्त भी कर रहे हैं।

ऐसे में भारत भी पूरी तरह से मुस्तैद है और शीर्ष स्तर पर इसको लेकर मंथन चल रहा है। पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास पिछले कुछ दिनों से चीन की तरफ से सैन्य गतिविधियों के बढ़ने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति है। माना जा रहा है कि दोनों देशों के बीच 2017 में उपजे डोकलाम विवाद जैसी स्थिति फिर से दोनों देशों के बीच उत्पन्न हुई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘भारत जल्द बनेगा $30 ट्रिलियन की इकोनॉमी’ : देश का मजाक उड़वाने के लिए NDTV ने पीयूष गोयल के बयान से की छेड़छाड़, पोल...

एनडीटीवी ने झूठ बोलकर पाठकों को भ्रमित करने का काम अभी बंद नहीं किया है। हाल में इस चैनल ने भाजपा नेता पीयूष गोयल के बयान को तोड़-मरोड़ के पेश किया।

’47 साल पहले हुआ था लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास’: जर्मनी में PM मोदी ने याद दिलाया आपातकाल, कहा – ये इतिहास पर काला...

"आज भारत हर महीनें औसतन 500 से अधिक आधुनिक रेलवे कोच बना रहा है। आज भारत हर महीने औसतन 18 लाख घरों को पाइप वॉटर सप्लाई से जोड़ रहा है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,523FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe