कॉन्ग्रेस ने टाँग अड़ाई हमने कर दिखाया, अयोध्या में बनेगा भव्य राम मंदिर: गृहमंत्री अमित शाह

अमित शाह ने कहा- अयोध्या में आसमान छूने वाला भव्य मंदिर बनेगा। प्रभु श्री राम की कृपा से फैसला आ गया है, अब उसी स्थान पर भव्य राम मंदिर निर्माण का ताला खुल गया है।

झारखण्ड राज्य में अब विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। आगामी विधानसभा चुनाव से पहले अमित शाह ने आज लातेहर में की और अपनी इसी जनसभा के साथ राज्य में चुनाव प्रचार की शुरुआत कर दी है। झारखण्ड के लातेहर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए केन्द्रीय गृह-मंत्री अमित शाह ने कॉन्ग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होने कहा कि अयोध्या में आसमान छूने वाला भव्य मंदिर बनेगा। उन्होंने कहा कि प्रभु श्री राम की कृपा से फैसला आ गया है, अब उसी स्थान पर भव्य राम मंदिर निर्माण का ताला खुल गया है।

शाह यहीं नहीं रुके, उन्होंने अपने भाषण में कॉन्ग्रेस पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इस पार्टी ने अपने स्वार्थ के लिए 70 साल तक अनुच्छेद 370 और 35A को लटकाए रखा। उन्होंने मोदी सरकार की सराहना करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने कश्मीर समस्या का हल निकाला। अमित शाह ने अपनी जनसभा में झारखण्ड के आदिवासियों के लिए सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओं का भी ज़िक्र किया। शाह बोले कि उनकी सरकार ने इन 5 सालों में आदिवासियों का गौरव बढ़ाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने आंकड़ों का हवाला देते हुए बताया कि केंद्र की मोदी सरकार आदिवासियों के विकास हेतु डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड में करीब 32 हज़ार करोड़ रूपए खर्च किए।

एक रिपोर्ट के मुताबिक अपने भाषण में उन्होंने नक्सलवाद पर भी निशाना साधा। शाह ने झारखण्ड की अपनी जनसभा में बोलते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने आदिवासियों के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि इसी कारण से कोने-कोने बिजली, सड़क, पीने का पानी और सिलेंडर पहुँच सका है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

अमित शाह ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने प्रधानमंत्री रहते हुए झारखण्ड को राज्य का रूप दिया था। पीएम मोदी इसे सँवारेंगे। उन्होंने कहा कि बिरसा मुंडा की इस कर्मभूमि पर भाजपा ने 70 साल में पहली बार, 2018 में डिग्री कॉलेज की स्वीकृति दी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बरखा दत्त
मीडिया गिरोह ऐसे आंदोलनों की तलाश में रहता है, जहाँ अपना कुछ दाँव पर न लगे और मलाई काटने को खूब मिले। बरखा दत्त का ट्वीट इसकी प्रतिध्वनि है। यूॅं ही नहीं कहते- तू चल मैं आता हूँ, चुपड़ी रोटी खाता हूँ, ठण्डा पानी पीता हूँ, हरी डाल पर बैठा हूँ।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,018फैंसलाइक करें
26,176फॉलोवर्सफॉलो करें
126,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: