Thursday, January 20, 2022
Homeराजनीतिअब केजरीवाल गौतम को भेजेंगे मानहानि नोटिस, कहा: 'भाजपा को महिलाओं की उपलब्धि बर्दाश्त...

अब केजरीवाल गौतम को भेजेंगे मानहानि नोटिस, कहा: ‘भाजपा को महिलाओं की उपलब्धि बर्दाश्त नहीं’

केजरीवाल के मुताबिक गंभीर ने उनका अपमान करने के बाद उन्हीं के ख़िलाफ़ मानहानि का मामला दर्ज कराया है। अब वे भी गौतम गंभीर को मानहानि का नोटिस भेजने जा रहे हैं।

आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी आतिशी के लिए आपत्तिजनक बातों वाले पर्चे बँटवाने के मामले में अरविंद केजरीवाल ने पलटवार करते हुए गौतम गंभीर को मानहानि नोटिस भेजने का फैसला किया है। केजरीवाल के मुताबिक गंभीर ने उनका अपमान करने के बाद उन्हीं के ख़िलाफ़ मानहानि का मामला दर्ज कराया है। अब वे भी गौतम गंभीर को मानहानि का नोटिस भेजने जा रहे हैं। केजरीवाल का कहना है कि वो इस मामले को नहीं छोड़ेंगे।

एएनआई से हुई बातचीत में केजरीवाल ने कहा, “आतिशी (AAP की पूर्वी दिल्ली से उम्मीदवार) एक उच्च शिक्षित और एक कुशल महिला हैं। दिल्ली में उनका काम शिक्षा के क्षेत्र में बहुत अच्छा रहा है जिसकी दुनिया भर में चर्चा हो रही है। मुझे समझ नहीं आता कि भाजपा महिलाओं द्वारा की गई उपलब्धियों को क्यों बर्दाश्त नहीं कर सकती।”

गौरतलब है कि पूर्वी दिल्ली से भाजपा के उम्मीदवार गौतम गंभीर पर आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी आतिशी ने उनके ख़िलाफ़ ‘अभद्र टिप्पणी’ वाले पर्चे बँटवाने के संगीन आरोप लगाए थे। इस पर गंभीर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आप प्रत्याशी आतिशी को मानहानि का नोटिस भेजा और कहा कि वे बिना शर्त, माफ़ी माँगे और अपना झूठा बयान वापस लें, नहीं तो मानहानि का केस किया जाएगा।

बता दें गौतम गंभीर ट्विटर पर लगातार केजरीवाल और आतिशी को चैलेंज दे रहे हैं। सुबह उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों पर ट्वीट करते हुए लिखा था, “मैं घोषणा करता हूँ कि केजरीवाल और आतिशी अगर साबित कर दें कि मैंने कुछ गलत किया है तो मैं अभी अपनी उम्मीदवारी वापस ले लूँगा, लेकिन वह अगर ऐसा न कर पाए तो क्या वे राजनीति छोड़ देंगे?”

इसके बाद अभी कुछ समय पहले गौतम गंभीर ने ट्वीट किया ”केजरीवाल और आम आदमी पार्टी को मैं तीसरी चुनौती दे रहा हूँ। यदि वह (केजरीवाल) यह सिद्ध कर पाए कि ऐसे आपत्तिजनक पर्चों का मुझसे कोई लेना-देना है तो फिर मैं जनता के सामने खुद को फाँसी पर चढ़ा लूँगा, वरना क्या केजरीवाल जी राजनीति से सन्यास लेंगे? मंजूर है?”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नसीरुद्दीन के भाई जमीर उद्दीन शाह ने की हिंदू-मुस्लिम के बीच शांति की वकालत, भड़के इस्लामी कट्टरपंथियों ने उन्हें ट्विटर पर घेरा

जमीर उद्दीन शाह वही व्यक्ति हैं जिन्होंने गोधरा दंगे पर गुजरात की तत्कालीन मोदी सरकार के खिलाफ झूठ फैलाया था।

‘उस समय माहौल बहुत खौफनाक था…’: वे घाव जो आज भी कैराना के हिंदुओं को देते हैं दर्द, जानिए कैसे योगी सरकार बनी सुरक्षा...

योगी सरकार की क्राइम को लेकर जीरो टॉलरेस की नीति ही वह सुरक्षा कवच है जो कैराना के हिंदुओं को भरोसा दिलाती है कि 2017 से पहले का वह दौर नहीं लौटेगा, जिसकी बात करते हुए वे आज भी सहम जाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,380FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe