Monday, September 27, 2021
Homeराजनीतिलोकसभा में कॉन्ग्रेस सांसद की 'गुंडागर्दी': स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के साथ हाथापाई की नौबत,...

लोकसभा में कॉन्ग्रेस सांसद की ‘गुंडागर्दी’: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के साथ हाथापाई की नौबत, सदन स्थगित

संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा कि राहुल गाँधी के शह पर कॉन्ग्रेस सदस्यों ने 'डंडे वाला रास्ता' दिखाया। यह डॉ हर्षवर्धन से हाथापाई करने का प्रयास था। यह कॉन्ग्रेस के हताशा स्तर को दर्शाता है और उनकी गुंडई की पराकाष्ठा है।

लोकसभा में शुक्रवार (फरवरी 7, 2020) को प्रश्नकाल के दौरान उस समय हंगामे की स्थिति बन गई, जब स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी के एक प्रश्न का उत्तर देने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में गाँधी के एक बयान की आलोचना शुरू कर दी। इस पर कॉन्ग्रेस के एक सदस्य हंगामा करते हुए सत्तापक्ष की अग्रिम पंक्ति तक पहुँच गए और हर्षवर्धन को घेर लिया। विवाद बढ़ता देख लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदन की बैठक दोपहर एक बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

दरअसल लोकसभा में आज राहुल गाँधी ने लिखित में एक सवाल पूछा था। राहुल के सवाल का जवाब केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन को देना था। लेकिन हर्षवर्धन ने सवाल का जवाब देने से पहले कहा, “मैं राहुल गाँधी के पीएम मोदी पर दिए गए बयान की निंदा करता हूँ, जिसमें उन्होंने पीएम को डंडे से मारने की बात कही है।’’

उनके इतना कहते हुए विपक्षी कॉन्ग्रेसी, तृणमूल, द्रमुक और अन्य सांसद अपनी सीटों पर खड़े हो गए और हर्षवर्धन के इस बयान की आलोचना करने लगे। इसके बाद कॉन्ग्रेसी सांसद आग बबूला हो गए और पहले शोर-शराबा किया, फिर बाद में हर्षवर्धन की तरफ दौड़ पड़े और उन्हें घेर लिया। इसी बीच कॉन्ग्रेस सांसद मणिकम टैगोर आक्रामक ढंग से डॉ हर्षवर्धन के बहुत नजदीक आ गए। जिसके बाद लोकसभा में हाथापाई की नौबत तक आ गई थी। इसलिए कार्यवाही को स्थगित करना पड़ा।

भाजपा सांसद जगदम्बिका पाल ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन राहुल गाँधी के बयान पर लोकसभा में बोल रहे थे, जब कॉन्ग्रेस सांसद मणिकम टैगोर ने उनकी ओर आने लगे। यह लोकतंत्र के लिए एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है।”

संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा कि राहुल गाँधी के शह पर कॉन्ग्रेस सदस्यों ने ‘डंडे वाला रास्ता’ दिखाया। यह डॉ हर्षवर्धन से हाथापाई करने का प्रयास था। यह कॉन्ग्रेस के हताशा स्तर को दर्शाता है और उनकी गुंडई की पराकाष्ठा है।

बता दें कि राहुल गाँधी ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा था, “ये जो नरेंद्र मोदी भाषण दे रहे हैं, 6 महीने बाद ये घर से बाहर नहीं निकल पाएँगे। हिन्दुस्तान के युवा इनको ऐसा डंडा मारेंगे, इनको समझा देंगे कि हिन्दुस्तान के युवा को रोजगार दिए बिना ये देश आगे नहीं बढ़ सकता।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

‘टोटी चोर’ के बाद मार्केट में AC ‘चोर’, कन्हैया ‘क्रांति’ कुमार का कॉन्ग्रेसी अवतार

एक 'आंगनबाड़ी सेविका' का बेटा वातानुकूलित सुख ले! इससे अच्छे दिन क्या हो सकते हैं भला। लेकिन सुख लेने के चक्कर में कन्हैया कुमार ने AC ही उखाड़ लिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,789FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe