Thursday, September 23, 2021
Homeराजनीति19 साल बाद उठा बाल ठाकरे की गिरफ्तारी का मुद्दा, शिवसेना बोली- माफी माँगे...

19 साल बाद उठा बाल ठाकरे की गिरफ्तारी का मुद्दा, शिवसेना बोली- माफी माँगे अजित पवार

महाराष्ट्र में कॉन्ग्रेस-राकांपा की सरकार के दौरान शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में सांप्रदायिक घृणा की भावना को कथित तौर पर उकसाने के आरोप में ठाकरे को गिरफ्तार किया गया था। साल 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस के विषय पर ठाकरे का.....

शिवसेना सांसद संजय राउत ने राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी (NCP) के वरिष्ठ नेता अजित पवार से माफी माँगने के लिए कहा है। दरअसल एक दिन पहले पवार ने कहा था कि शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे को साल 2000 में गिरफ्तार करना एक ‘भूल’ थी। अजित पवार के इस बयान के बाद राउत ने उनसे माफी माँग करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘‘आपको इस बात का एहसास करने में लंबा वक्त लगा कि बाला साहब ठाकरे को गिरफ्तार करना एक भूल थी। अगर आपके आँसू सच्चे हैं तो आपको उनकी गिरफ्तारी पर माफी माँगनी चाहिए।’’

बता दें कि महाराष्ट्र में कॉन्ग्रेस-राकांपा की सरकार के दौरान शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में सांप्रदायिक घृणा की भावना को कथित तौर पर उकसाने के आरोप में ठाकरे को गिरफ्तार किया गया था। साल 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस के विषय पर ठाकरे का कथित भड़काऊ लेख ‘सामना’ में प्रकाशित हुआ था, जिसके बाद मुंबई में सिलसिलेवार बम धमाके हुए थे जिसमें 300 से अधिक लोग मारे गए थे।

वहीं शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे की बात करें तो उन्होंने भी हाल ही में बाला साहब ठाकरे की गिरफ्तारी पर कॉन्ग्रेस- एनसीपी को घेरा था। उन्होंने अपने पिता की गिरफ्तारी पर बात करते हुए कहा था कि महाराष्ट्र ‘बदले और राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित राजनीति’ का समर्थन नहीं करता है। उन्होंने मुंबई में शिवसेना के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था कि उनके पिता को भ्रष्टाचार या किसी अन्य अनियमितता के आरोप में गिरफ्तार नहीं किया गया था, बल्कि उन्हें तो 1992-93 के दंगों के दौरान मुंबई और महाराष्ट्र में हिंदुओं की रक्षा के लिए गिरफ्तार किया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अंग्रेजों से रेवाड़ी को दिलाई मुक्ति, स्वतंत्रता के लिए दुनिया की खाक छानी: काबुल में राव तुला राम ने ली थी आखिरी साँस

सन 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणी नायकों में एक राव तुला राम की आज (23 सितंबर) पुण्यतिथि है। राव तुला राम का जन्म 9 दिसंबर 1825 के दिन रेवाड़ी में हुआ था।

100 मलयाली ISIS में हुए शामिल- 94 मुस्लिम, 5 कन्वर्टेड: ‘नारकोटिक्स जिहाद’ पर घिरे केरल के CM ने बताया

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने बुधवार को खुलासा किया कि 2019 तक केरल से ISIS में शामिल होने वाले 100 मलयालियों में से लगभग 94 मुस्लिम थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,920FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe