Monday, August 2, 2021
HomeराजनीतिUP में फिल्म सिटी पर महाराष्ट्र की सत्ता में 'आग': NCP का प्रदर्शन, CM...

UP में फिल्म सिटी पर महाराष्ट्र की सत्ता में ‘आग’: NCP का प्रदर्शन, CM ठाकरे ने कहा – ‘ईर्ष्या नहीं कर रहे लेकिन…’

"महाराष्ट्र कॉम्पिटिशन से नहीं डरता है लेकिन कोई जबरन यहाँ से बिजनस लेकर नहीं जा सकता है। इसकी इजाजत नहीं होगी। हम किसी की प्रगति से ईर्ष्या नहीं कर रहे लेकिन यह फेयर कॉम्पिटिशन के जरिए होना चाहिए।"

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में 200 करोड़ रुपए के लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड को लॉन्च करने के लिए मुंबई में थे। उन्होंने गौतम बुद्ध नगर जिले में यूपी की आगामी फिल्म सिटी में निवेश पर चर्चा करने के लिए कई फिल्मी हस्तियों से मुलाकात की। इस सिलसिले में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने अभिनेता अक्षय कुमार से भी बातचीत की है। हालाँकि उनके इस दौरे ने मुंबई के सत्तारूढ़ पार्टी गठबंधन में हलचल मचा दी है।

राष्ट्रीय कॉन्ग्रेस पार्टी (एनसीपी) और शिवसेना के नेताओं ने उनकी यात्रा पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया है कि सीएम योगी मुंबई से फिल्म उद्योग को हटाने की कोशिश कर रहे हैं।

यूपी में सबसे बड़ी फिल्म सिटी का निर्माण

दरअसल सितंबर में योगी आदित्यनाथ की यूपी सरकार ने गौतम बुद्ध नगर में फिल्म सिटी के लिए 1000 एकड़ जमीन आवंटित किया था। 22 सितंबर को मुख्यमंत्री ने लखनऊ में कई फिल्मी हस्तियों से मुलाकात की, जिनमें फिल्मकार सुभाष घई, ओम राउत (तानाजी के निर्देशक), तमिल अभिनेता रजनीकांत और उनकी बेटी सौंदर्या, गायक कैलाश खेर और उदित नारायण शामिल थे।

वहीं एनसीपी कार्यकर्ताओं ने 2 दिसंबर को आगामी फिल्म सिटी के खिलाफ यूपी में विरोध प्रदर्शन किया। साथ ही उन्होंने 2 दिवसीय यात्रा के लिए मुंबई पहुँचे योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारे भी लगाए।

एनसीपी ने आरोप लगाया कि सीएम योगी महाराष्ट्र के फिल्म उद्योग को ले जाने की कोशिश कर रहे हैं। और वे किसी भी कीमत पर यह नहीं होने देंगे। एनसीपी नेताओं ने मीडिया से कहा कि योगी का मुंबई में स्वागत है लेकिन मुंबई से फ़िल्म सिटी को किसी भी कीमत पर शिफ्ट नहीं होने देंगे। एनसीपी के माजिद ने यहाँ तक ​​दावा किया कि बॉलीवुड निवेशक मुंबई छोड़ना पसंद नहीं करेंगे।

इतना ही नहीं, हद तो तब हो गई जब एनसीपी ने यह मानते हुए कि यूपी के सीएम योगी बॉलीवुड के फिल्म उद्योग को अपने राज्य में ले जाएँगे तो उन्होंने इसका विरोध भी करना शुरू कर दिया। यह समझ में नहीं आता है कि वे उस निष्कर्ष पर कैसे पहुँचे, क्योंकि भारत में कई फिल्मी शहर हैं और यह बताने के लिए कोई कानून नहीं है कि सिनेमा उद्योग के निवेशक दूसरे राज्य में निवेश नहीं कर सकते।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने 2 दिसंबर को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर कटाक्ष किया और कहा कि कोई भी महाराष्ट्र से कोई उद्योग नहीं ले जा सकता है। उद्धव ठाकरे ने कहा, “महाराष्ट्र कॉम्पिटिशन से नहीं डरता है लेकिन कोई जबरन यहाँ से बिजनस लेकर नहीं जा सकता है। इसकी इजाजत नहीं होगी। हम किसी की प्रगति से ईर्ष्या नहीं कर रहे लेकिन यह फेयर कॉम्पिटिशन के जरिए होना चाहिए।”

उद्धव ने कहा कि जो कोई भी उद्योग को ले जाने की कोशिश करेगा, वह सफल नहीं होगा क्योंकि महाराष्ट्र की मैग्नेटिक मजबूती काफी शक्तिशाली है जो चीजों को यहाँ से जाने से रोकेगी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, यूपी सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि सीएम योगी राज्य में फिल्म सिटी की स्थापना की प्रक्रिया को अंतिम रूप देने के लिए सुभाष घई, बोनी कपूर, ज़ी स्टूडियो के जतिन सेठी, टी-सीरीज़ के भूषण कुमार, रणदीप हुड्डा, जिमी शेरगिल, कोमल नाहटा और राज कुमार संतोषी सहित अन्य लोगों से मिलेंगे। वह चर्चा करेंगे कि फिल्म निर्माताओं के लिए फ़िल्म सिटी और अधिक आकर्षक बनाने के लिए कौन-कौन सी सुविधाएँ शामिल की जानी चाहिए।

मैं नई फिल्म सिटी बना रहा हूँ: योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महाराष्ट्र की अपनी यात्रा पर शिवसेना के संजय राउत की टिप्पणियों का करारा जवाब देते हुए कहा था कि वह महाराष्ट्र राज्य से कुछ भी नहीं ले जा रहे और वह उत्तर प्रदेश में एक नई फिल्म सिटी का निर्माण कर रहे हैं। बता दें कि राउत ने चेतावनी दी थी कि मुंबई फिल्म सिटी को दूसरी जगह पर शिफ्ट करना आसान नहीं है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी में मुहर्रम सर्कुलर की भाषा पर घमासान: भड़के शिया मौलाना कल्बे जव्वाद ने बहिष्कार का जारी किया फरमान

मौलाना कल्बे जव्वाद ने आरोप लगाया है कि सर्कुलर में गौहत्या, यौन संबंधी कई घटनाओं का भी जिक्र किया गया है।

चौटाला से मिल नीतीश पहुँचे पटना, कुशवाहा ने बता दिया ‘पीएम मैटेरियल’, बीजेपी बोली- अगले 10 साल तक वैकेंसी नहीं

कुशवाहा के बयान पर पलटवार करते हुए भाजपा नेता सम्राट चौधरी ने कहा कि अगले दस साल तक प्रधानमंत्री पद के लिए कोई वैकेंसी नहीं हैं

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,651FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe