NCP नेता ने ‘तानाजी’ के मेकर्स को दी धमकी, कहा- अगर इसे नहीं बदला, तो ले लूँगा एक्शन

"ओम राउत, मैंने ट्रेलर देखा और आपको इसमें कुछ बदलाव करने जी जरूरत है। अगर ये बदलाव तुरंत नहीं किए गए तो मैं फिल्‍म के खिलाफ ऐक्‍शन लूँगा। अगर मेकर्स मेरी डिमांड को धमकी के रूप में लेते हैं तो ले सकते हैं।"

राष्‍ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी के विधायक जितेंद्र आव्हाड ने बुधवार (नवंबर 20,2019) को ‘तानाजी: द अनसंग वॉरियर’ के मेकर्स को धमकी दी है। उन्‍होंने कहा है कि मेकर्स फिल्‍म से जुड़े मूल तथ्यों को सही करें और इतिहास या उसके किरदारों को गलत तरीके से न दिखाएँ, नहीं तो वे इसपर कार्रवाई करेंगे।

‘तानाजी’ का किरदार निभाने वाले अजय देवगन की 100वीं फिल्म पर आव्हाड ने कहा है कि मेकर्स को फिल्म में कई बदलाव करने की आवश्यकता हैं। उन्होंने फिल्म निर्देशक ओम राउत पर आरोप लगाया है कि उन्होंने फिल्म के इतिहास को गलत तरह से और अनैतिक रूप से पेश किया हैं। इतना ही नहीं, उनका दावा है कि मराठा योद्धा तान्हाजी मालुसरे को भी गलत तरीके से दिखाया गया हैं।

अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, “ओम राउत, मैंने ट्रेलर देखा और आपको इसमें कुछ बदलाव करने जी जरूरत है। अगर ये बदलाव तुरंत नहीं किए गए तो मैं फिल्‍म के खिलाफ ऐक्‍शन लूँगा। अगर मेकर्स मेरी डिमांड को धमकी के रूप में लेते हैं तो ले सकते हैं।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

गौरतलब है कि इससे पहले संभाजी ब्रिगेड ने भी ट्रेलर में दिखाए गए कुछ सीन्स पर डायरेक्टर से स्पष्टीकरण माँगा हैं। ब्रिगेड ने अपने पत्र में कहा है कि फिल्म में भगवा झंडे पर ओम का चिह्न दिखाकर जानबूझकर शिवाजी की धर्मनिरपेक्ष छवि को खत्म करने की कोशिश की गई है। इसके अलावा बता दें कुछ लोगों द्वारा काजोल के डायलॉग्‍स पर भी आपत्ति जताई गई है जो फिल्‍म में सावित्रीबाई मालुसरे का किरदार निभा रही हैं।

इसके अतिरिक्त संभाजी ब्रिगेड ने फिल्म रिलीज से पहल पहले अपने लिए इसकी स्पेशल स्क्रीनिंग की माँग की हैं। यहाँ बता दें कि ‘तानाजी: द अनसंग वॉरियर’ बड़े पर्दे पर 10 जनवरी 2020 को 3डी में रिलीज होगी। लेकिन इससे पहले इसे काफी आलोचनाओं को सामना करना पड़ा है। अभी ट्रेलर के बाद द क्विंट ने इसपर अपना लेख लिखा है, जिसमें उन्होंने तानाजी का उदाहरण देते हुए कहा है कि जानिए कैसे बॉलीवुड हिंदुत्व को इतिहास बताकर धकेल रहा है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

आरफा शेरवानी
"हम अपनी विचारधारा से समझौता नहीं कर रहे बल्कि अपने तरीके और स्ट्रेटेजी बदल रहे हैं। सभी जाति, धर्म के लोग साथ आएँ। घर पर खूब मजहबी नारे पढ़कर आइए, उनसे आपको ताकत मिलती है। लेकिन सिर्फ मुस्लिम बनकर विरोध मत कीजिए, आप लड़ाई हार जाएँगे।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

144,666फैंसलाइक करें
36,511फॉलोवर्सफॉलो करें
165,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: