Friday, June 14, 2024
HomeराजनीतिPM मोदी ने लॉन्च की RBI की 2 योजनाएँ, जानें आम जनता को कैसे...

PM मोदी ने लॉन्च की RBI की 2 योजनाएँ, जानें आम जनता को कैसे मिलेगा घर बैठे फायदा: बताया- 7 साल में 19 गुणा बढ़ी डिजिटल ट्रांजेक्शन

UPI ने भारत को डिजिटल ट्रांजैक्शन में अग्रणी बना दिया है। UPI के माध्यम सिर्फ 7 सालों में भारत ने डिजिटल ट्रांजेक्शंस के मामले में 19 गुणा की छलांग लगाई है। आज 24 घंटे, सातों दिन और 12 महीने देश में कभी भी, कहीं भी देश का बैंकिंग सिस्टम चालू रहता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (नवंबर 12, 2021) भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की दो नई स्कीम्स को लॉन्च किया है। इनका नाम RBI रिटेल डायरेक्ट स्कीम और रिजर्व बैंक इंटिग्रेटेड ओंबड्समैन स्कीम है। पीएम ने बताया कि इन स्कीमों से आम लोगों को निवेश का एक सुक्षित और आसान माध्यम मिलेगा। वहीं देश में निवेश के दायरे का विस्तार होगा। इससे बड़े से छोटे निवेशक कैपिटल मार्केट को सरलता से एक्सेस कर पाएँगे। साथ ही पूरी प्रक्रिया में पारदर्शिता भी आएगी।

RBI रिटेल डायरेक्ट स्कीम के तहत, रिटेल निवेशक सरकारी सिक्योरिटीज में पैसा लगा सकेंगे। उन्हें भारत सरकार और राज्य सरकारों द्वारा जारी सिक्योरिटीज में सीधे निवेश करने का एक नया रास्ता मिलेगा। इस स्कीम के तहत, निवेशक RBI के साथ, आसानी से सरकारी सिक्योरिटीज अकाउंट को ऑनलाइन मुफ्त में खोल सकते हैं।

वहीं रिजर्व बैंक- इंटिग्रेटेड ओंबड्समैन स्कीम का मकसद RBI द्वारा रेगुलेटेड इकाइयों के खिलाफ ग्राहकों की शिकायतें के समाधान की बेहतर व्यवस्था मिलेगी। ये योजना वन नेशन-वन ओंबड्समैन पर आधारित है। इस योजनाओं में ग्राहकों को शिकायत करने के लिए एक पोर्टल, एक ईमेल और एक एड्रेस की सुविधा दी गई है। इसके अलावा शिकायतकर्ताओं को अपनी परेशानी बताने के लिए, दस्तावेजों को जमा कराने के लिए और फीडबैक देने के लिए एक जगह मिलेगी। इसके साथ एक हर समस्या के समाधान और उसकी शिकायत दर्ज कराने के लिए कई भाषाओं में एक टोल फ्री नंबर भी मिलेगा।

पीएम ने कहा कि आरबीआई ने सामान्य नागरिक को मद्देनजर रखते हुए कई कदम उठाए और उसी क्रम में दोनों योजनाएँ मील का पत्थर साबित होंगी। पीएम ने कॉपरेटिव बैंकों के आरबीआई के दायरे में लाने की बात बताते हुए कहा कि अब गवर्नेंस में सुधार आ रहा है। डिपोजिटर्स के मन में इस प्रणाली के प्रति विश्वास मजबूत हो रहा है। पीएम ने पिछला समय याद दिलाया जब समाज के तमाम वर्गों के लिए बैंकिंग, पेंशन, इनंश्योरेंस की सुविधा दूर होती थीं लेकिन अब समय बदला है। आज 31 करोड़ रुपए से ज्यादा के RUPAY कार्ड ने देश के कोने-कोने में डिजिटल ट्रांजैक्शन को संभव बनाया है। UPI ने भारत को डिजिटल ट्रांजैक्शन में अग्रणी बना दिया है। UPI के माध्यम सिर्फ 7 सालों में भारत ने डिजिटल ट्रांजेक्शंस के मामले में 19 गुणा की छलांग लगाई है। आज 24 घंटे, सातों दिन और 12 महीने देश में कभी भी, कहीं भी देश का बैंकिंग सिस्टम चालू रहता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मेलोनी को किया नमस्ते, पोप से गले मिले… इंग्लैंड से सेमीकंडक्टर, यूक्रेन से ‘Black Sea’ और फ्रांस से ‘ब्लू इकोनॉमी’ पर बातचीत, G7 में...

रक्षा, सुरक्षा, तकनीक, AI, ब्लू इकॉनमी और कई अन्य विषयों पर फ्रांस से चर्चा हुई। इंग्लैंड से सेमीकंडक्टर पर भी बात हुई। यूक्रेन से 'ब्लैक सी एक्सपोर्ट कॉरिडोर' पर बातचीत।

हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान पर ‘मत देखो’, इस्लामी कुरीति पर सवाल उठाना ‘आपत्तिजनक’: PK और ‘हमारे बारह’ को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दोहरा रवैया...

राधा व दुर्गा के साथ 'सेक्सी' शब्द जोड़ने वालों और भगवान शिव को बाथरूम में छिपते हुए दिखाने वालों पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या कार्रवाई की थी? इस्लामी कुरीति दिखाने पर भड़क गया सर्वोच्च न्यायालय, हिन्दू धर्म के अपमान पर चूँ तक नहीं किया जाता।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -