Thursday, June 20, 2024
Homeराजनीति'AI कोई मैजिक टूल नहीं, डीपफेक से लग सकती है देश में आग': बिल...

‘AI कोई मैजिक टूल नहीं, डीपफेक से लग सकती है देश में आग’: बिल गेट्स से बोले PM मोदी, गिफ्ट किए तमिलनाडु के मोती से लेकर कश्मीर के केसर तक

पीएम मोदी ने कहा, "अगर हम AI को अपने आलसीपन को बचाने के लिए करते हैं तो यह इसके साथ अन्याय होगा। हमें AI के साथ मुकाबला करना होगा। हमें उससे आगे जाना होगा "

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने माइक्रोसॉफ्ट संस्थापक और विश्व की नामचीन हस्ती बिल गेट्स के साथ एक लम्बी बातचीत की है। इस दौरान पीएम मोदी ने गेट्स को भारत की तकनीकी क्षेत्र में प्रगति से अवगत करवाया है। उन्होंने गेट्स को नमो एप भी दिखाया जिसमें AI तकनीक का जबरदस्त इस्तेमाल है। बातचीत में पीएम मोदी और बिल गेट्स ने डीपफेक पर भी चिंता जाहिर की है। 45 मिनट लम्बी इस लम्बी बातचीत में उन्होंने भारत की डिजिटल यात्रा समेत कई मुद्दों पर चर्चा की।

बिल गेट्स ने पीएम मोदी से पूछा कि भारत AI को कैसे देखता है। पीएम मोदी ने इस पर कहा, “अगर हम AI को अपने आलसीपन को बचाने के लिए करते हैं तो यह इसके साथ अन्याय होगा। हमें AI के साथ मुकाबला करना होगा। हमें उससे आगे जाना होगा “

पीएम मोदी ने AI का टेस्ट लेने की एक घटना का जिक्र भी किया। उन्होंने बताया कि भारत से अन्तरिक्ष में जाने वाले अन्तरिक्षयात्रियों से बातचीत के दौरान उन्होंने AI का टेस्ट ललिया था जिसकी कमियाँ उन्होंने बताई थी। पीएम मोदी ने AI के गलत इस्तेमाल को लेकर भी चिंता व्यक्त की। आप इस बातचीत को यहाँ देख सकते हैं।

उन्होंने कहा, ” हमें AI को मैजिक टूल नहीं समझना होगा। अगर AI को बिना ट्रेन किए हुए लोगों के हाथ में दे दी जाए तो उसके दुरूपयोग की बड़ी संभावना है। मैंने AI से जुड़े लोगों को सुझाव दिया है कि जो भी चीज AI से जनरेट की जाए, उस पर स्पष्ट रूप से AI जनरेटेड लिखा हो।” पीएम ने डीपफेक को लेकर कहा, “भारत जैसे बड़े लोकतांत्रिक देश में अगर कोई डीपफेक का उपयोग करते हुए कुछ गलत चीज बना दे तो आग लग जाएगी। इसीलिए जरुरी है कि कंटेंट पर AI जनरेटेड और सोर्स स्पष्ट रूप से लिखा हो।”

पीएम मोदी ने भारत की डिजिटल यात्रा को दर्शाने वाले नमो एप को भी बिल गेट्स को दिखाया। बिल गेट्स इसमें उपयोग की गई तकनीक पर काफी आश्चर्यचकित हुए। पीएम मोदी ने नमो एप में डाला गया फोटो बूथ फीचर बिल गेट्स को दिखाया। इस फीचर का गेट्स ने इस्तेमाल भी किया। इसने उनकी पीएम मोदी के साथ सभी पुरानी फोटो दिखा दी। पीएम मोदी ने बिल गेट्स से भारत की डिजिटल यात्रा, ड्रोन दीदी स्कीम, G20 का आयोजन, कोविड वैक्सीन समेत नवीनीकृत ऊर्जा के क्षेत्र में किए गए कामों की भी चर्चा की।

पीएम मोदी को इस बातचीत के बाद बिल गेट्स ने कुछ पुस्तकें भेंट की जो कि पोषण से सम्बंधित थीं। पीएम मोदी ने उन्हें ‘वोकल फॉर लोकल’ की तर्ज पर टेराकोटा से बनी हुई दो आकृतियाँ भेंट की। इसके साथ ही पीएम मोदी ने गेट्स को कुछ मोती भेंट किए जो कि तमिलनाडु से आए थे। इसके अलावा पीएम ने गेट्स को कश्मीर का पश्मीना स्कार्फ और केसर भेंट की। गेट्स ने इन गिफ्ट के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद किया और कहा कि उन्हें यह मुलाक़ात याद रहेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -