Monday, July 22, 2024
Homeराजनीति'4 करोड़ को मिला मुफ्त इलाज, बचाए गरीबों के ₹50000 करोड़': कर्नाटक में बोले...

‘4 करोड़ को मिला मुफ्त इलाज, बचाए गरीबों के ₹50000 करोड़’: कर्नाटक में बोले PM मोदी – 8 साल में गरीबों के लिए बनाए 3 करोड़ घर

"जल जीवन मिशन के तहत सिर्फ 3 वर्षों में ही देश में 6 करोड़ से अधिक घरों में पाइप से पानी की सुविधा पहुँचाई गई है और इसमें कर्नाटक के भी 30 लाख से ज्यादा ग्रामीण परिवारों तक पहली बार पाइप से पानी पहुँचा है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक के मंगलुरु में 3800 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया। इससे इंफ़्रास्ट्रक्चर को एक बड़ी मजबूती मिलेगी। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि इस बार स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से जिन ‘पंच प्रणों’ की बात उन्होंने की है, उनमें से सबसे पहला है – विकसित भारत का निर्माण। उन्होंने समझाया कि ये प्रण है विकसित भारत के निर्माण के लिए देश के मैन्युफेक्चरिंग सेक्टर का, ‘मेक इन इंडिया’ का विस्तार करना बहुत आवश्यक है।

पीएम मोदी ने कहा कि बीते वर्षों में देश ने ‘Port led development’ को विकास का एक अहम मंत्र बनाया है और इन्हीं प्रयासों का परिणाम है कि सिर्फ 8 वर्षों में भारत के पोर्ट्स की कैपेसिटी लगभग दोगुनी हो गई है। उन्होंने बताया कि पिछले 8 वर्षों में देशभर में इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास को जिस प्रकार देश ने प्राथमिकता बनाया है, उसका बहुत अधिक लाभ कर्नाटक को मिला है। उन्होंने जानकारी दी कि कर्नाटक सागरमाला योजना के सबसे बड़े लाभार्थियों में से एक है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये भी कहा कि पिछले 8 वर्षों में देश में गरीबों के लिए 3 करोड़ से अधिक घर बनाए गए हैं और कर्नाटक में भी गरीबों के लिए 8 लाख से ज्यादा पक्के घरों के लिए स्वीकृति दी गई है। बकौल पीएम मोदी, मध्यम वर्ग के हजारों परिवारों को भी अपना घर बनाने के लिए करोड़ों रुपए की मदद दी गई है। उन्होंने ये भी बताया कि जल जीवन मिशन के तहत सिर्फ 3 वर्षों में ही देश में 6 करोड़ से अधिक घरों में पाइप से पानी की सुविधा पहुँचाई गई है और इसमें कर्नाटक के भी 30 लाख से ज्यादा ग्रामीण परिवारों तक पहली बार पाइप से पानी पहुँचा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “आयुष्मान भारत योजना के तहत देश के करीब-करीब 4 करोड़ गरीबों को अस्पताल में भर्ती रहते हुए मुफ्त इलाज मिल चुका है, जिससे गरीबों के करीब-करीब 50 हजार करोड़ रुपए खर्च होने से बचे हैं। ‘आयुष्मान भारत’ का लाभ कर्नाटक के भी 30 लाख से अधिक गरीब मरीज़ों को मिला है। जिनको आर्थिक दृष्टि से छोटा समझकर भुला दिया गया था, हमारी सरकार उनके साथ भी खड़ी है। छोटे किसान हों, छोटे व्यापारी हों, मछुआरे हों, रेहड़ी-पटरी-ठेले वाले हों, ऐसे करोड़ों लोगों को पहली बार देश के विकास का लाभ मिलना शुरू हुआ है, वो विकास की मुख्यधारा से जुड़ रहे हैं।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये भी कहा कि कुछ दिनों पहले GDP के जो आँकड़े आए हैं, वो दिखा रहे हैं कि भारत ने कोरोना काल में जो नीतियाँ बनाईं, जो निर्णय लिए, वो कितने महत्वपूर्ण थे। उन्होंने बताया कि पिछले साल इतने वैश्विक समस्याओं के बावजूद भारत ने 670 बिलियन डॉलर, यानी 50 लाख करोड़ रुपए का टोटल एक्सपोर्ट किया। पीएम मोदी ने आज ही INS विक्रांत का भी अनावरण किया, जो भारतीय नौसेना को नई मजबूती देगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

AAP विधायक की वकीलगिरी का हाई कोर्ट ने उतारा भूत: गलत-सलत लिख कर ले गया था याचिका, लग चुका है बीवी को कुत्ते से...

दिल्ली हाईकोर्ट के जज ने सोमनाथ भारती की याचिका पर कहा कि वो नोटिस जारी नहीं कर सकते, उन्हें ये समझ ही नहीं आ रहा है, वो मामला स्थगित करते हैं।

हज पर मुस्लिम मर्द दबाते हैं बच्चियों-औरतों के स्तन, पीछे से सटाते हैं लिंग, घुसाते हैं उँगली… और कहते हैं अल्हम्दुलिल्लाह: जिन-जिन ने झेला,...

कुछ महिलाओं की मानें तो उन्हें यकीन नहीं हुआ इतनी 'पाक' जगह पर लोग ऐसी हरकत कर रहे हैं और ऐसा करके किसी को कोई पछतावा भी नहीं था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -