Sunday, July 3, 2022
Homeराजनीतिमोदी जी ने की संकल्प और संयम की अपील, कहा 22 मार्च को जनता...

मोदी जी ने की संकल्प और संयम की अपील, कहा 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का हर नागरिक पालन करें

"आज मैं एक करोड़ देशवासियों से कुछ माँगने आया हूँ। मुझे आपको कुछ दिन और कुछ सप्ताह चाहिए। अभी तक कोरोना वायरस को लेकर न तो कोई दवा बन पाई और न ही कोई वैक्सीन बन पाई है। ऐसे में हमें सजग रहना जरूरी है। "

कोरोना वायरस को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं। इस दौरान वह कोविड-19 (COVID-19) से संबंधित मुद्दों और इससे निपटने के प्रयासों के बारे में जनता को अवगत करा रहे हैं। इससे पहले कोरोना वायरस के चलते देश में लॉकडाउन की अटकलों को प्रधानमंत्री कार्यालय ने सिरे खारिज दिया है। पीएमओ ने कहा था कि पीएम मोदी आज रात आठ बजे अपने संबोधन में लॉकडाउन जैसी कोई घोषणा नहीं करने वाले हैं।

PM मोदी के संबोधन की कुछ महत्वपूर्ण बातें

शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा- “आज मैं एक करोड़ देशवासियों से कुछ माँगने आया हूँ। मुझे आपको कुछ दिन और कुछ सप्ताह चाहिए। अभी तक कोरोना वायरस को लेकर न तो कोई दवा बन पाई और न ही कोई वैक्सीन बन पाई है। ऐसे में हमें सजग रहना जरूरी है।”

  • मैं देशवासियों से जनता कर्फ्यू माँग रहा हूँ। 
  • जब मैं छोटा था तब मैं अनुभव करता था कि गाँव-गाँव ब्लैकऑउट किया जाता था।
  • 60 से 65 वर्षा से अधिक उम्र वाले व्यक्ति घर से बाहर नहीं निकलें। 
  • देशवासियों से आग्रह है कि आने वाले कुछ सप्ताह तक ज्यादा जरूरी हो तभी घर से बाहर निकलें। हो सके तो ऑफिस का काम भी घर से ही करें।
  • 130 करोड़ देशवासियों को संकल्प और दृढ़ करना होगा। इसे रोकने के लिए एक नागरिक के नाते अपने कर्तव्य का पालन करेंगे। हमें यह संकल्प लेना होगा कि स्वयं संक्रमित होने से बचेंगे और दूसरों को भी बचाएंगे।  
  • सरकार की पूरी नजर कोरोना की स्थिति पर है। भारत जैसे 130 करोड़ की जनसंख्या वाले देश पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा यह मानना गलत है। अभी तक विज्ञान कोरोना का इलाज नहीं निकाल पाया है। ऐसी स्थिति में हर किसी की चिंता बढ़नी जरूरी है। अध्ययन में यह बात सामने आई है कि शुरुआती कुछ दिनों के बाद बीमारी का विस्फोट हुए है। कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से फैली है।
  • आपसे जब भी जो कुछ मांगा है आपने निराश नहीं किया है। आज मैं 130 करोड़ देशवासियों से कुछ मांगने आया हूं। मुझे आपके आने वाला कुछ सप्ताह चाहिए। आपका आने वाला कुछ समय चाहिए।
  • बीते कुछ दिनों से ऐसा लग रहा है कि हम ठीक है, लेकिन यह सोच सही नहीं है। प्रत्येक भारतीयों का सजग रहना जरूरी है।
  • कोरोना का संकट ऐसा है कि पूरे विश्व को सकट में डाल दिया है।
  • पीएम मोदी के संबोधन से पहले कांग्रेस के नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने आज रात पीएम नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन को लेकर कहा है कि अगर टोटल लॉकडाउन की घोषणा नहीं हुई तो मुझे निराशा होगी।
  • प्रधानमंत्री कार्यालय ने बुधवार को ट्विटर पर यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस दौरान वह कोविड-19 से जुड़े मुद्दों और उस पर काबू पाने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में बताएंगे।
  • एक अन्य ट्वीट में पीएमओ ने बताया कि प्रधानमंत्री ने कोरोना संकट से निपटने के लिए किए जा रहे प्रयासों को लेकर उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की। इसमें भारत की तैयारियों को और पुख्ता करने के तौर-तरीकों पर चर्चा हुई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

8 लोग थे निशाने पर, एक डॉक्टर को वीडियो बना माँगनी पड़ी थी माफ़ी: उमेश कोल्हे के गले पर 5 इंच चौड़ा, 7 इंच...

उमेश कोल्हे के गले पर जख्म 5 इंच चौड़ा, 5 इंच लंबा और 5 इंच गहरा था। साँस वाली नली, भोजन निगलने वाली नली और आँखों की नसों पर भी वार किए गए थे।

सिर कलम करने में जिस डॉ युसूफ का हाथ, वो 16 साल से था दोस्त: अमरावती हत्याकांड में कश्मीर नरसंहार वाला पैटर्न, उदयपुर में...

अमरावती में उमेश कोल्हे की हत्या में उनका 16 साल पुराना वेटेनरी डॉक्टर दोस्त यूसुफ खान भी शामिल था। उसी ने कोल्हे की पोस्ट को वायरल किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,752FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe