Thursday, July 29, 2021
Homeराजनीतिआज WHO से लेकर जी-20 तक हमारा कायल: BJP के 40 वर्ष पूरे होने...

आज WHO से लेकर जी-20 तक हमारा कायल: BJP के 40 वर्ष पूरे होने पर PM मोदी के कार्यकर्ताओं से 5 आग्रह

हर स्तर पर एक बाद एक सक्रियता अपनाते हुए भारत ने कई फैसले लिए। राज्य सरकारों के सहयोग से इन फैसलों को गति भी मिली। भारत ने जिस तेजी और समग्रता से काम किया है, उसकी प्रसंशा सिर्फ भारत ने ही नहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी की है। तमाम देश एकजुट होकर कोरोना का मुकाबला करें, इसके लिए सार्क देशों की विशेष बैठक हो या G-20 देशों का विशेष सम्मेलन, भारत ने इन सारे आयोजनों में अहम भूमिका निभाई है।

भारतीय जनता पार्टी के 40 वर्ष पूरे होने के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित किया। पीएम मोदी ने इस दौरान उनसे 5 आग्रह किए। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी पार्टी का स्थापना दिवस एक ऐसे कालखंड में आया है, जब देश ही नहीं, पूरी दुनिया, एक मुश्किल वक्त से गुजर रही है। चुनौतियों से भरा ये वातावरण देश की सेवा के लिए, हमारे संस्कार, हमारे समर्पण, हमारी प्रतिबद्धता को और प्रशस्त करता है। उन्होंने दिवंगत नेताओं जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी, एकात्म मानवतावाद के चिंतक पंडित दीन दयाल उपाध्याय और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को भी याद किया।

पीएम ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से निपटने के लिए भारत के अबतक के प्रयासों ने दुनिया के सामने एक अलग ही उदाहरण प्रस्तुत किया है। भारत दुनिया के उन देशों में है जिसने कोरोना वायरस की गंभीरता को समझा और और समय रहते इसके खिलाफ एक व्यापक जंग की शुरुआत की। मोदी ने गिनाया कि भारत ने एक के बाद एक अनेक निर्णय किए, उन फैसलों को जमीन पर उतारने का भरसक प्रयास किया। सभी सरकारों को साथ लेकर आगे बढ़ने में काई कमी न रहे इसकी चिंता की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा:

हर स्तर पर एक बाद एक सक्रियता अपनाते हुए भारत ने कई फैसले लिए। राज्य सरकारों के सहयोग से इन फैसलों को गति भी मिली। भारत ने जिस तेजी और समग्रता से काम किया है, उसकी प्रसंशा सिर्फ भारत ने ही नहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी की है। तमाम देश एकजुट होकर कोरोना का मुकाबला करें, इसके लिए सार्क देशों की विशेष बैठक हो या G-20 देशों का विशेष सम्मेलन, भारत ने इन सारे आयोजनों में अहम भूमिका निभाई है। भारत जैसा इतना बड़ा देश, 130 करोड़ लोगों का ये देश, लॉकडाउन के समय भारत की जनता ने जिस तरह की समझदारी दिखाई है, गांभीर्य दिखाया है, वो अभूतपूर्व है। कोई कल्पना नहीं कर सकता था कि इतने विशाल देश में, लोग इस तरह अनुशासन और सेवा भाव का पालन करेंगे

पीएम मोदी ने इस दौरान एक श्लोक की चर्चा की। उन्होंने कहा- “समानो मंत्र: समिति: समानी। समानम् मनः सह चित्तम् एषाम्।” इसका अर्थ है कि हमारे विचार, हमारे संकल्प और हमारे हृदय एकजुट होने चाहिए। उन्होंने ‘9 बजे 9 मिनट’ के तहत रविवार (अप्रैल 5, 2020) की रात लोगों द्वारा दिए और कैंडल जलाने की बात करते हुए इसे सफल बताया। उन्होंने कहा कि हर वर्ग, हर आयु के लोग, अमीर गरीब, पढ़ा-लिखा हो, अनपढ़ हो, सभी ने मिलकर, एकजुटता की इस ताकत को नमन किया, कोरोना के खिलाफ लड़ाई का अपना संकल्प और मजबूत किया।

उन्होंने याद दिलाया कि ये लंबी लड़ाई है, जिसमें न थकना है, न हारना है। लंबी लड़ाई के बाद भी जीतना है। विजयी होकर निकलना है। उन्होंने कहा कि आज देश का लक्ष्य एक है, मिशन एक है, और संकल्प एक है- कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में जीत। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से निम्नलिखित 5 आग्रह किए:

  1. गरीबों को राशन के लिए अविरत सेवा अभियान।
  2. अपने साथ ही आप 5-7 अन्य लोगों के लिए फेस-कवर बनवाएँ और उनका वितरण करें।
  3. धन्यवाद अभियान के लिए पार्टी ने पाँच अलग-अलग वर्ग बनाए हैं। पहला वर्ग- नर्सेस और डॉक्टर्स, दूसरा वर्ग- सफाई कर्मचारी, तीसरा वर्ग– पुलिसकर्मी चौथा वर्ग- बैंक और पोस्ट ऑफिस के कर्मचारी, पाँचवाँ वर्ग- आवश्यक सेवाओं में जुटे हुए सभी कर्मचारी।
  4. ज्यादा से ज्यादा लोगों को ‘आरोग्य सेतु ऐप’ के विषय में जानकारी दें और कम से कम 40 लोगों के मोबाइल में ये ऐप इंस्टॉल भी करवाएँ।
  5. प्रत्येक भाजपा कार्यकर्ता को खुद भी सहयोग करना है और 40 अन्य लोगों से भी पीएम केयर्स फंड में सहयोग करने के लिए प्रेरित करना है।

प्रधानमंत्री इस दौरान ये भी याद दिलाना नहीं भूले कि आज पूरी दुनिया के लिए एक ही मंत्र है- सोशल डिस्टेंसिंग और अनुशासन का पूरा पालन करना। उन्होंने उम्मीद जताई कि भाजपा का हर कार्यकर्ता खुद की रक्षा करते हुए, अपने परिवार को भी सुरक्षित करेगा और इस देश को भी सुरक्षित करेगा। वहीं भाजपा के स्थापना दिवस पर पूर्व अध्यक्ष अमित शाह, वर्तमान अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित अन्य नेताओं ने भी कार्यकर्ताओं को धन्यवाद दिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिन बुलाए घर पर आकर करने लगा किस, कहा- शिल्पा से रिश्ते ठीक नहीं हैं: राज कुंद्रा पर शर्लिन चोपड़ा ने लगाए यौन उत्पीड़न...

शर्लिन के अनुसार, वह कभी भी एक शादीशुदा शख्स के साथ रिश्ता नहीं बनाना चाहती थीं और न ही उनके साथ कोई व्यापार करना चाहती थीं।

झारखंड: दिनदहाड़े खुली सड़क पर जज की हत्या, पोस्‍टमॉर्टम र‍िपोर्ट में हथौड़े से मारने के म‍िले न‍िशान, देखें Video

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जज के सिर पर हथौड़े से मारने वाले निशान पाए गए हैं। इसके अलावा जिस ऑटो ने उन्हें टक्कर मारी वह भी चोरी का था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,723FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe