Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीतिमोदी विरोध में अब कॉन्ग्रेसी मंत्री ने सीमा पर तैनात जवानों की निंदा की,...

मोदी विरोध में अब कॉन्ग्रेसी मंत्री ने सीमा पर तैनात जवानों की निंदा की, पाकिस्तान की तारीफों के बाँधे पुल

इसी से इस राज्य की संवेदनशीलता का पता चलता है। मनप्रीत सिंह बादल ने सीमा सुरक्षा बल (BSF) पर किसानों के साथ अभद्रता के आरोप लगाए। साथ ही उन्होंने इस्लामी मुल्क की तारीफ करते हुए कहा कि पाकिस्तान ने बॉर्डर मैनेजमेंट काफी अच्छे से किया हुआ है।

केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ अब तक खालिस्तानी एजेंडा चलाए जाने की तो कई ख़बरें आई थीं, लेकिन अब पाकिस्तान का गुणगान भी शुरू हो गया है। अपने ही देश की सीमा की सुरक्षा करने वाले जवानों तक की आलोचना की जा रही है। पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने BSF पर निशाना साधते हुए पाकिस्तान की तारीफ कर डाली। खालिस्तानी अलगाववाद से जूझते रहे पंजाब की सीमा पाकिस्तान से लगती है।

इसी से इस राज्य की संवेदनशीलता का पता चलता है। मनप्रीत सिंह बादल ने सीमा सुरक्षा बल (BSF) पर किसानों के साथ अभद्रता के आरोप लगाए। साथ ही उन्होंने इस्लामी मुल्क की तारीफ करते हुए कहा कि पाकिस्तान ने बॉर्डर मैनेजमेंट काफी अच्छे से किया हुआ है। उन्होंने सोमवार (फरवरी 1, 2021) को आए केंद्रीय बजट की भी आलोचना करते हुए कहा कि इसमें कृषि क्षेत्र में फैली अशांति, बेरोजगारी और मध्य वर्ग की समस्याओं का समाधान नहीं किया गया है।

कॉन्ग्रेस नेता मनप्रीत सिंह बादल ने कहा, “बजट में कृषि क्षेत्र की अशांति पर कुछ नहीं कहा गया। NDA द्वारा शुरू की गई संकट का निदान नहीं किया गया। MSP पर भी इसमें कुछ नहीं कहा गया। बजट में बेरोजगारी पर भी कुछ स्पष्ट नहीं किया गया है। कोरोना महामारी की स्थिति से सही से नहीं निपट पाने के कारण बेराजगारी के आँकड़े लगातार बढ़ रहे हैं। लेकिन, इस मुद्दे पर बजट में एकदम चुप हैं।”

उन्होंने अन्य विपक्षी दलों के सुर में सुर मिलाते हुए राग अलापा कि मध्य वर्ग की दिक्कतों के समाधान के लिए भी ताज़ा आम बजट में कुछ उपाय नहीं किए गए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि इसमें समूचे उत्तर भारत को सिर्फ इसीलिए नज़रअंदाज़ किया गया है, क्योंकि यहाँ अगले कुछ महीनों में चुनाव नहीं होने हैं। पद्म पुरस्कारों पर भी उन्होंने टिप्पणी करते हुए कहा कि जिन 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, केवल वहीं के लोगों को प्राथमिकता दी गई।

BSF की आलोचना और पाकिस्तान की तारीफ वाले मनप्रीत बादल के बयान से मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा नाराज़ हो गए। उन्होंने कहा कि जिस पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष ही विदेशी होगा, उस पार्टी के नेता विदेशी मुल्क की ही तो तारीफ करेंगे। उन्होंने कहा कि जो 10 वर्षों में नेता प्रतिपक्ष न बदल पाए, वो हिंदुस्तान की तारीफ थोड़े करेंगे। उन्होंने कॉन्ग्रेस नेताओं पर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर टिप्पणी कर के महिलाओं का अपमान करने का आरोप लगाया।

बता दें कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब की कॉन्ग्रेस सरकार ने दिल्ली में गणतंत्र दिवस के दिन दंगा करने वाले तथाकथित किसानों के समर्थन में वकीलों की एक पूरी फ़ौज ही उतार दी है। पंजाब में 2022 की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव को अब लगभग 1 वर्ष ही बचे हैं, ऐसे में वहाँ की सरकार ने 70 वकीलों की एक टीम को दंगाइयों का केस लड़ने के लिए लगा दिया है। इतना ही नहीं, इसके लिए एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe