Monday, May 16, 2022
Homeराजनीतिउत्तराखंड में लागू होगा समान नागरिक संहिता, शपथ लेते ही धामी ने दोहराई प्रतिबद्धता:...

उत्तराखंड में लागू होगा समान नागरिक संहिता, शपथ लेते ही धामी ने दोहराई प्रतिबद्धता: PM मोदी भी थे मौजूद

अपनी सीट नहीं बचा पाने के बावजूद धामी दोबारा सूबे की सत्ता सँभालेंगे। पुष्कर सिंह धामी ने खटीमा (Khatima) से चुनाव लड़ा था, जहाँ उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

उत्तराखंड में भाजपा नेता पुष्कर सिंह धामी ने दोबारा मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। उनके शपथग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री मौजूद रहे।

शपथ लेने से ठीक पहले पुष्कर सिंह धामी ने यूनिफॉर्म सिविल कोड(Uniform Civil Code) यानी समान नागरिक संहिता को लागू करने की बात दोहराई थी। उन्होंने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) अपने हर वादे को पूरा करेगी। मतलब अब वह इसे लेकर कमेटी का गठन करेंगे और कानून बनेगा।

चुनाव से पहले भी धामी ने अपनी रैलियों में यूनिफॉर्म सिविल कोड का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि कानून को तैयार करने के लिए वह कमेटी का गठन करेंगे, जिसमें कानूनी एक्सपर्ट, वरिष्ठ नागरिक और बुद्धिजीवी शामिल होंगे। बता दें कि समान नागरिक संहिता यानी यूनिफॉर्म सिविल कोड का अर्थ होता है भारत में रहने वाले हर नागरिक के लिए एक समान कानून होगा, चाहे वह किसी भी धर्म या जाति का क्यों न हो। समान नागरिक संहिता में शादी, तलाक और जमीन-जायदाद के बँटवारे में सभी धर्मों के लिए एक ही कानून लागू होगा।

उत्तराखंड (Uttarakhand) में जीत के बाद बीजेपी ने पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) पर दोबारा भरोसा जताया है। अपनी सीट नहीं बचा पाने के बावजूद धामी दोबारा सूबे की सत्ता सँभालेंगे। पुष्कर सिंह धामी ने खटीमा (Khatima) से चुनाव लड़ा था, जहाँ उन्हें हार का सामना करना पड़ा, जिसके बाद से ऐसी अटकलें थी कि बीजेपी धामी को दोबारा मुख्यमंत्री नहीं भी बनाएगी। हालाँकि ये अटकलें गलत साबित हुई। धामी ने इस बात के लिए पार्टी और पीएम मोदी का आभार जताया था। उन्होंने कहा था कि सामान्य से पार्टी कार्यकर्ता पर इतना भरोसा जताने के लिए वह बीजेपी नेतृत्व का धन्यवाद करते हैं।

उत्तराखंड के चुनाव नतीजों की बात करें तो भारतीय जनता पार्टी ने 70 में से 47 सीटों पर जीत हासिल की थी। वहीं कॉन्ग्रेस 19 सीटों पर सिमट गई थी। इसके अलावा बहुजन समाज पार्टी को 2 सीट मिली थी। 2 ही सीटों से निर्दलीय प्रत्याशी जीतकर आए थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की महत्वता, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

CRPF करेगी ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग की सुरक्षा, अदालत ने सील की जगह, वजू पर मनाही: जैसे ही दिखे बाबा, ‘हर-हर महादेव’ से गूँजा...

सर्वे के तीसरे दिन हिन्दू पक्ष की तरफ से सोमवार को करीब 12 फीट 8 इंच लंबा शिवलिंग नंदी के सामने विवादित ढाँचे के वजूखाने में मिलने का दावा किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe