Monday, June 17, 2024
Homeराजनीतिजहाँ से चाहती थी कॉन्ग्रेस, वहाँ से नहीं शुरू होगी राहुल गाँधी की 'भारत...

जहाँ से चाहती थी कॉन्ग्रेस, वहाँ से नहीं शुरू होगी राहुल गाँधी की ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’: सुरक्षा कारणों से मणिपुर सरकार ने नहीं दी अनुमति

मणिपुर सरकार ने कॉन्ग्रेस सांसद राहुल गाँधी की 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' को राज्य की राजधानी से शुरू करने की अनुमति देने से मना कर दिया है। कॉन्ग्रेस ने राज्य सरकार से 14 जनवरी को शुरू होने वाली यात्रा के लिए अनुमति मांगी थी और कुछ कॉन्ग्रेस नेता भी मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह से मिले थे।

मणिपुर सरकार ने कॉन्ग्रेस सांसद राहुल गाँधी की ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा‘ को राजधानी इम्फाल से शुरू करने की अनुमति देने से मना कर दिया है। कॉन्ग्रेस ने राज्य सरकार से 14 जनवरी 2024 को शुरू होने वाली इस यात्रा के लिए अनुमति माँगी थी। इस संबंध में कॉन्ग्रेस के कुछ नेताओं ने मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह से मुलाकात भी की थी।

दरअसल, कॉन्ग्रेस ने मणिपुर की राजधानी इम्फाल के हप्ता कांजेईबंग मैदान से यात्रा शुरू करने की अनुमति माँगी थी। इस मैदान का काफी ऐतिहासिक महत्व है और यह दुनिया के सबसे ऊँचे पोलो ग्राउंड में से एक है। यात्रा चालू करने को लेकर जब मणिपुर सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया तो कॉन्ग्रेस का एक प्रतिनधिमंडल राज्य के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह से मिला जिन्होंने यह अनुमति देने से मना कर दिया।

मणिपुर के मुख्यमंत्री ने अनुमति नहीं देने के पीछे राज्य की क़ानून व्यवस्था का हवाला दिया है। इससे पहले मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने कहा था कि कॉन्ग्रेस के इस आवेदन पर विचार सुरक्षा एजेंसियों की रिपोर्ट के बाद किया जाएगा। उधर कॉन्ग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल उन राज्यों में तैयारियाँ देख रहे हैं, जहाँ से यह यात्रा निकलनी है।

मणिपुर के कॉन्ग्रेस अध्यक्ष केशम मेघचन्द्र सिंह ने बताया, “आज एक टीम माननीय मुख्यमंत्री से मिली, जिन्होंने इस यात्रा को हप्ता कांजेईबंग मैदान से निकालने को लेकर अनुमति देने से मना कर दिया। हमने इसको लेकर 2 जनवरी को आवेदन दिया था। यह यात्रा 14 जनवरी को चालू होनी है। मुख्यमंत्री ने स्पष्टतया अनुमति देने से मना कर दिया।” अब कॉन्ग्रेस यात्रा थोबल जिले के खोंगजम स्थित एक निजी स्थल से निकालेगी।

यह यात्रा मणिपुर, नागालैंड, असम, मेघालय, पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र में होगी। इन राज्यों के 85 जिलों से यात्रा गुजरेगी। इस यात्रा को भारत जोड़ो यात्रा की अगली कड़ी बताया जा रहा है, लेकिन इस बार कई बदलाव भी दिखेंगे।

मसलन यह पूरी तरह पद यात्रा नहीं होगी। इस यात्रा में राहुल गाँधी एक विशेष बस से सफर करेंगे। इसमें वह कहीं-कहीं पैदल भी चलेंगे और लोगों से मुलाक़ात करेंगे। भारत न्याय यात्रा को हरी झंडी कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडगे दिखाएँगे और 66 दिवसीय इस यात्रा का समापन 20 मार्च 2024 को मुंबई में होगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस जगन्नाथ मंदिर में फेंका गया था गाय का सिर, वहाँ हजारों की भीड़ ने जुट कर की महा-आरती: पूछा – खुलेआम कैसे घूम...

रतलाम के जिस मंदिर में 4 मुस्लिमों ने गाय का सिर काट कर फेंका था वहाँ हजारों हिन्दुओं ने महाआरती कर के असल साजिशकर्ता को पकड़ने की माँग उठाई।

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -