Tuesday, November 30, 2021
Homeराजनीतिराहुल गाँधी ने आँख मारी तो उनके विधायक जी ने भरी सभा में दे...

राहुल गाँधी ने आँख मारी तो उनके विधायक जी ने भरी सभा में दे दी फ्लाइंग किस

कॉन्ग्रेस पार्टी के एक विधायक ने सदन में बोलते हुए अचानक विधानसभा स्पीकर के सामने उसे फ्लाइंग किस दे डाली.....

संसद सत्र के दौरान 2018 में राहुल गाँधी ने भरे सदन के बीच पीएम की ओर देखकर आँख मारी थी तो राहुल की इस हरकत से उनकी काफी बदनामी हुई थी। इस घटना का वीडियो इतना वायरल हुआ कि इसकी चर्चा आजतक होती है। इसपर राहुल को भारी आलोचना का सामना करना पड़ा था। इसके बावजूद उनकी पार्टी के नेता घटना से सबक लेने की बजाय उन्ही के पदचिन्हों पर चलने में लगे हैं। राहुल के बाद अब उन्ही की पार्टी के एक विधायक ने विधानसभा में अजीब हरकत कर दी है।

घटना ओडिशा विधानसभा की है जहाँ कॉन्ग्रेस पार्टी के एक विधायक ने सदन में बोलते हुए अचानक विधानसभा स्पीकर के सामने उसे फ्लाइंग किस दे डाली। इस हरकत को अंजाम देने वाले कॉन्ग्रेस पार्टी के विधायक का नाम ताराप्रसाद बाहिनीपति है जोकि जेपोर क्षेत्र से आते हैं। ताराप्रसाद ने यह हरकत सदन में स्पीकर एसएन पात्रो के सामने उन्ही से कर डाली। उनकी इस घटना के बाद पूरे सदन का माहौल एकएक मजाकिया हो गया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक विधायक ने इस घटना का स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि वह बस अपनी खुशी का इज़हार कर रहे थे। उन्होंने बताया कि उनकी ख़ुशी इस बात को लेकर थी कि स्पीकर ने 147 सदस्यों वाली विधानसभा में बोलने के लिए सबसे पहला मौका उन्हें दिया। साथ ही ताराप्रसाद ने कहा कि इस फ़्लाइंग किस देने के बहाने उनका इरादा किसी को भी ठेस पहुँचाने का नहीं था। अपने स्पष्टीकरण में कॉन्ग्रेस विधायक ने कहा कि वह स्पीकर से पिछड़े क्षेत्रों के प्रति उनके समर्पण के चलते और भी ज्यादा खुश हैं।

आमतौर पर माना जाता है कि संसद और विधानसभा में निर्वाचित होने वाले जनप्रतिनिधि अपने व्यवहार से शालीनता और शिष्टाचार का परिचय देते हैं मगर जब पार्टी अध्यक्ष खुद ही संसद में सारी मर्यादा को तार-तार कर दे तो ओडिशा में इस कॉन्ग्रेसी विधायक की ऐसी हरकत पर ज्यादा आश्चर्य नहीं होता।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,729FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe