Sunday, October 17, 2021
Homeराजनीतिभारत के खिलाफ इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस जाने वाले थे शाह फैसल: सूत्र

भारत के खिलाफ इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस जाने वाले थे शाह फैसल: सूत्र

शाह फैसल गत बुधवार को तुर्की के लिए रवाना होने से पहले दिल्ली एयरपोर्ट पर रोक लिया गया था। बताया जा रहा है कि उनकी योजना तुर्की से हेग जाने की थी।

सिविल सर्विसेज छोड़कर नेता बने शाह फैसल को हाल ही में दिल्ली एयरपोर्ट से हिरासत में लेकर कश्मीर में नजरबंद किया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अगर 14 अगस्त को शाह फैसल दिल्ली में नहीं रोके गए होते तो वह इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) में भारत के खिलाफ मामला दर्ज करा चुके होते। वह घाटी में अनुच्छेद-370 के प्रावधानों को निष्प्रभावी करने के केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ याचिका दायर करने की तैयारी में थे।

फिलहाल, जम्मू कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट के नेता शाह फैसल को शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में नजरबंद रखा गया है। वहाँ पीडीपी, पीपुल्स कॉन्फ्रेंस, जेकेपीएम और नेशनल कॉन्फ्रेंस के कई नेता और कार्यकर्ता भी रखे गए हैं।

तुर्की से हेग जाने वाले थे

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शाह फैसल गत बुधवार तुर्की के लिए रवाना हो रहे थे, जहाँ से वो हेग (नीदरलैंड) ICJ जाने की योजना बना रहे थे। हालाँकि, संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के मुताबिक कोई भी आम आदमी निजी हैसियत से ICJ में केस दायर नहीं कर सकता है।

370 पर फैसले के बाद से पकिस्तान और विरोधी संगठन लगातार सरकार को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर घेरने की साजिश रच रहे हैं। शाह फैसल ने कश्मीर को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा था कि हमारे सामने दो ही रास्ते हैं- कश्मीर कठपुतली बने या फिर अलगाववादी। उन्होंने कहा कि इसके अलावा कोई विकल्प नहीं है। 370 पर केंद्र सरकार के फैसले के बाद शाह फैसल ने कहा था कि राजनीतिक अधिकारों को दोबारा पाने के लिए कश्मीर को लंबे, निरंतर और अहिंसक राजनीतिक आंदोलन की जरूरत है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,107FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe