Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीतिथिएटर में ब्लू फिल्म या इंदिरा गाँधी के नाम पर टूर टॉकीज? घिरे कॉन्ग्रेसी...

थिएटर में ब्लू फिल्म या इंदिरा गाँधी के नाम पर टूर टॉकीज? घिरे कॉन्ग्रेसी उप-मुख्यमंत्री DK शिवकुमार, कर्नाटक में पोस्टर वॉर

"उनसे कहिए कि वह मेरी विधानसभा में जाएँ और लोगों से पूछे कि क्या उन्होंने मुझे ब्लू फिल्म दिखाने के लिए जिताया है। अगर कुमारस्वामी या और कोई भी यह सिद्ध कर दे तो मैं राजनीति छोड़ दूँगा।"

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और जनता दल के बड़े नेता एच डी कुमारस्वामी ने राज्य के उपमुख्यमंत्री और कॉन्ग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार पर आरोप लगाया है कि वह अपने थिएटर में ‘ब्लू फिल्म’ दिखाया करते थे। वहीं उनके इस बयान पर डीके शिवकुमार ने प्रतिक्रिया दी है।

दरअसल, कुमारस्वामी ने शिवकुमार को लेकर कहा, “उनकी क्या गरिमा है? पोस्टर चिपकाना ही उनकी गरिमा है? वह डोड्डलहल्ली और सथानुर में टेंट थिएटर में ब्लू फिल्म दिखाया करते थे। यह दिखाता है वह कहाँ से आते हैं। यही पार्टी अध्यक्ष की गरिमा है क्या?”

गौरतलब है कि कुछ दिनों से कुमारस्वामी के खिलाफ पोस्टर के माध्यम से जंग छिड़ी हुई है। शिवकुमार के ब्लू फिल्म वाले थिएटर चलाने को लेकर यह बयान भी उसी बीच आए हैं। कुमारस्वामी पर बिजली चोरी का आरोप लगाते हुए कुछ दिन पहले उनके घर के बाहर पोस्टर लगे मिले थे। इसमें कुमारस्वामी को बिजली चोर बताया गया था।

वहीं डीके शिवकुमार ने इन आरोपों को निराधार बताया है। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि कुमारस्वामी अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं। उन्होंने कहा, “मुझे कुमारस्वामी के लिए बड़ा दुःख होता है। वह इतने वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हैं और इस तरह की बातें कर रहे हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “उनसे कहिए कि वह मेरी विधानसभा में जाएँ और लोगों से पूछे कि क्या उन्होंने मुझे ब्लू फिल्म दिखाने के लिए जिताया है। अगर कुमारस्वामी या और कोई भी यह सिद्ध कर दे तो मैं राजनीति छोड़ दूँगा। कुमारस्वामी को इस तरह बोलने के लिए शर्म आनी चाहिए।”

इससे पहले शिवकुमार ने कहा था, “मैं इंदिरा गाँधी के नाम से 4 टूरिंग टाकीज (जगह बदल कर चलाए जाने वाले टाकीज) चलाता था। केवल एक नहीं बल्कि मैं ऐसे तीन टाकिज चलाता था जो कि डोड्डलहल्ली, हरोबेले और कोडीहल्ली में थे। हुसेनाहल्ली वाला टेंट अब भी चल रहा है। मीडिया वहाँ जा कर देख सकता है कि क्या दिखाया जाता है।”

दरअसल, कुमारस्वामी के बेंगलुरु में जेपी नगर स्थित घर पर दीपावली में हुई सजावट में बिजली एक पोल से अवैध तरीके से ली गई थी। बाद में कुमारस्वामी ने कहा था कि उनकी गैरमौजूदगी में ऐसा हुआ और यह सजावट वाले ने किया है। कुमारस्वामी पर बेंगलुरु में बिजली देने वाले BESCOM ने शिकायत भी दर्ज करवा दी थी।

हालाँकि, कुमारस्वामी ने अपनी गलती मानते हुए इस मामले में माफ़ी भी माँगी थी और ₹68,000 का जुर्माना भी भरा था। इसके बाद भी कुछ शरारती तत्वों ने उनके घर के बाहर उनके कार्टून बनाए और पोस्टर लगाए जिन पर बिजली चोर लिखा हुआ था।

कुमारस्वामी के जुर्माना भरने के बाद भी यह तत्व बाज नहीं आए। उन्होंने दूसरे पोस्टर लगाए जिनमें लिखा हुआ था कि उन्होंने ₹68,000 की फिल्म बनाई है। इनमें यह भी लिखा हुआ था कि आखिर वह ट्रेलर से क्यों घबरा रहे हैं अभी तो पूरी फिल्म बाक़ी है। ऐसे कुछ पोस्टर जेडीएस के दफ्तर के बाहर भी मिले थे। इन्हीं पोस्टर के बाद यह पूरी जुबानी जंग छिड़ी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -