दो लड़कियों के जबरन धर्मान्तरण पर Pak मंत्री ने की सुषमा को ट्रोल करने की कोशिश, हुए बेइज्जत

सुषमा स्वराज ने पाक मंत्री से कहा कि मैंने सिर्फ़ हिन्दू लड़कियों के जबरदस्ती इस्लामिक धर्मान्तरण को लेकर भारतीय उच्चायोग से एक रिपोर्ट माँगी है। इतने ने ही आपकी बेचैनी बढ़ा दी। यह आपकी दोषी मानसिकता का परिचायक है।

पाकिस्तान में दो लड़कियों के जबरन इस्लामिक धर्मान्तरण का मामला सामने आया है। इस घटना का संज्ञान लेते हुए केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायोग से रिपोर्ट माँगी। पाकिस्तान के सिंध में होली की शाम हुई इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना को लेकर गंभीर सुषमा स्वराज ने ट्वीट करते हुए भारतीय उच्चायोग को टैग किया और इस सम्बन्ध में एक रिपोर्ट देने का निर्देश दिया।

ज्ञात हो कि होली की पूर्व संध्या पर दो किशोर हिंदू लड़कियों, 13 वर्षीय रवीना और 15 वर्षीय रीना का अपहरण करके उन्हें पाकिस्तान के सिंध प्रांत में अपने उम्र से बहुत बड़े मुस्लिम पुरुषों से जबरन शादी करने के लिए मजबूर किया गया। हिन्दू किशोरियों पर हुए इस अत्याचार ने पूरे विश्व में लोगों को पाकिस्तान में हिन्दुओं के हालात पर सोचने के लिए मजबूर कर दिया।

लड़कियों के पिता का दिल दहला देने वाला वीडियो अब वायरल हुआ है। इसमें वो बेबस होकर दहाड़े मारकर रो रहे हैं और पुलिस के सामने अपनी शिकायत दर्ज कराने और दोषियों पर कार्रवाई करने का अनुरोध कर रहे हैं। इनकी दोनों बेटियों का अपहरण कर लिया गया है और उनका धर्मांतरण कर निकाह करा दिया गया। सुषमा स्वराज के ट्वीट के बाद पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने उन्हें ट्रोल करने की कोशिश की।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

पाकिस्तान के सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने ट्वीट कर सुषमा स्वराज पर तंज कसते हुए कहा कि ये इमरान ख़ान का नया पाकिस्तान है, मोदी का भारत नहीं है जहाँ अल्पसंख्यकों के साथ अत्याचार किया जाता है। शेखी बघारते हुए पाकिस्तानी मंत्री ने कहा कि उन्हें पाकिस्तान के झंडे में स्थित सफ़ेद रंग से भी उतना ही प्रेम है। साथ ही उन्होंने कहा कि आशा है, आप भारतीय अल्पसंख्यकों के मामले में भी ऐसी ही सक्रियता दिखाएँगी। इसके बाद सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर फवाद चौधरी को करारा जवाब दिया।

सुषमा स्वराज ने पाक मंत्री से कहा कि उन्होंने सिर्फ़ हिन्दू लड़कियों के जबरदस्ती इस्लामिक धर्मान्तरण को लेकर भारतीय उच्चायोग से एक रिपोर्ट माँगी है। सुषमा ने कहा कि इतना ही आपको बेचैन करने के लिए काफ़ी हो गया। उन्होंने इसे पाक मंत्री की दोषी मानसिकता का परिचायक बताया। सुषमा स्वराज के इस ट्वीट के बाद लोगों ने पाकिस्तानी मंत्री को बेइज्जत किया और जम कर लताड़ लगाई।

बता दें कि रवीना और रीना नामक नाबालिग हिंदू लड़कियों के पिता पुलिस स्टेशन के सामने रोए, गिड़गिड़ाए और विरोध भी किए। वायरल हुए वीडियो में पिता को यह कहते हुए सुना जा सकता है, “आप मुझे गोली मार सकते हैं, मैंने बहुत सब्र किया, लेकिन अब मैं अपनी बेटियों के वापस आने तक यहाँ से नहीं जाऊँगा”।

इसी बीच, सिंध प्रांत के कई हिंदुओं ने कथित तौर पर अपहरणकर्ताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज करने से इनकार करने के बाद पुलिस अधिकारियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। पाकिस्तान में हिंदू देश के सबसे वंचित और सबसे ज्यादा सताए गए अल्पसंख्यकों में से एक हैं। घटना के बाद, केंद्रीय विदेश मंत्री ने रविवार को पाकिस्तान के सिंध प्रांत में होली की पूर्व संध्या पर दो हिंदू लड़कियों के अपहरण पर विवरण मँगाया है।

सुषमा स्वराज की ज़ोरदार प्रतिक्रिया के बाद बौखलाए पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी को कोई जवाब नहीं सूझा तो उन्होंने गुजरात और जम्मू की रट लगानी शुरू कर दी। बिना सबूत भारत में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार का रोना रोकर फवाद ने एक बार फिर से अपनी बेइज्जती कराई।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

गौरी लंकेश, कमलेश तिवारी
गौरी लंकेश की हत्या के बाद पूरे राइट विंग को गाली देने वाले नहीं बता रहे कि कमलेश तिवारी की हत्या का जश्न मना रहे किस मज़हब के हैं, किसके समर्थक हैं? कमलेश तिवारी की हत्या से ख़ुश लोगों के प्रोफाइल क्यों नहीं खंगाले जा रहे?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,227फैंसलाइक करें
18,920फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: