Thursday, January 20, 2022
Homeराजनीतिअमित शाह के तमिलनाडु पहुँचते ही बदले AIADMK के सुर, कहा- BJP के साथ...

अमित शाह के तमिलनाडु पहुँचते ही बदले AIADMK के सुर, कहा- BJP के साथ मिलकर लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

तमिलनाडु को निवेश का बड़ा केंद्र बनाने के दृष्टिकोण के साथ अमित शाह ने कई परियोजनाओं का उद्घाटन भी किया। इसमें चेन्नई मेट्रो रेल का दूसरा चरण, कोयम्बटूर स्थित अविनाशी रोड पर एलिवेटेड राजमार्ग, चेन्नई ट्रेड सेंटर का विस्तार समेत अन्य परियोजना शामिल है।

ज्यादा दिन नहीं बीते जब तमिलनाडु में AIADMK के नेता भाजपा की ‘वेल यात्रा’ का विरोध कर रहे थे। लेकिन, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के शनिवार (नवंबर 21, 2020) को प्रदेश में पहुँचते ही सारे समीकरण बदल गए। पहले तो AIADMK के नेताओं ने चेन्नई एयरपोर्ट पर पहुँचकर भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह का स्वागत किया और बाद में बकायदा पार्टी ने बीजेपी के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान भी कर दिया। तमिलनाडु में मई 2021 में विधानसभा चुनाव होने हैं।

बीजेपी के साथ गठबंधन जारी रखने की घोषणा मुख्यमंत्री ई के पलानिस्वामी ने की। इसके बाद पलानीस्वामी और अमित शाह के बीच बैठक हुई। शाह ने तमिलनाडु को देश का सबसे बेहतर गवर्नेंस वाला राज्य बताया। 

इससे पहले हवाई अड्डे पर केंद्रीय गृह मंत्री का भव्य स्वागत हुआ। हवाई अड्डे से लेकर होटल तक पूरे रास्ते में जनसैलाब उमड़ा हुआ था। अमित शाह सुरक्षा प्रोटोकॉल तोड़कर अपने काफ़िले से बाहर आए और आम जनता से रूबरू भी हुए। इसके कुछ समय बाद कलाईवनर अरंगम में हुए एक समारोह के दौरान उन्होंने कन्ननकोट्टई थेरोवई कांदीगई रिजर्वायर की शुरुआत करने का ऐलान किया और लगभग 67378 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस समारोह के दौरान बोलते हुए मुख्यमंत्री पलानिस्वामी और उपमुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम ने कई अहम बातें कहीं। 

इनका कहना था कि आगामी विधानसभा चुनावों में हमारा गठबंधन भाजपा के साथ जारी रहेगा। वहीं केंद्रीय गृह मंत्री का कहना था कि तमिलनाडु सरकार को केंद्र सरकार की तरफ से जनहित और विकास संबंधी हर योजना बनाने से लेकर लागू करने तक पूरा सहयोग प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा अमित शाह ने कोरोना महामारी को लेकर तमिलनाडु की राज्य सरकार के प्रबंधन की सराहना भी की जिसके चलते कुछ ही समय में प्रदेश के भीतर प्रभावित मामलों की संख्या में बहुत कमी आई है। उन्होंने इस बात का भी उल्लेख किया कि तमिलनाडु का रिकवरी रेट 97 फ़ीसदी है जो कि पूरे देश में सबसे ज़्यादा है। 

इस बीच अमित शाह ने डीएमके को भी जमकर निशाना बनाया जो पूरे 10 साल बाद सत्ता हासिल करने की कोशिश में है। उन्होंने कहा, “डीएमके को चुनावों में हार का सामना करना पड़ेगा और सिर्फ लोकतांत्रिक ताकतें ही उभर कर सामने आएँगी।” इसके बाद 2जी घोटाले की याद दिलाते हुए गृह मंत्री ने कहा, “डीएमके और कॉन्ग्रेस ने 10 वर्षों तक सत्ता में रहते हुए देश और तमिलनाडु के लिए क्या किया है? हमें इस बात की जानकारी दीजिए कि आपने पिछले 10 वर्षों में क्या किया है और फिर हम उस पर सार्वजनिक परिचर्चा करते हैं। मैं इस बात की विस्तार से जानकारी देने के लिए तैयार हूँ कि एनडीए ने तमिलनाडु के लिए क्या किया है।” 

पलानीस्वामी ने भी महामारी की वजह से थमी हुई अर्थव्यवस्था को अनेक क्षेत्रों के लिए आर्थिक राहत पैकेज देकर फिर से गति देने के लिए आभार प्रकट किया। मुख्यमंत्री ने कहा, “कोरोना महामारी के बाद अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के दौरान, मुझे यह बताते हुए बेहद ख़ुशी हो रही है कि इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम के तहत सहायता प्रदान करने के मामले में तमिलनाडु दूसरे पायदान पर है। पब्लिक सेक्टर बैंकों ने अभी तक कुल 6980 करोड़ रुपए वितरित किए हैं।” 

तमिलनाडु को निवेश का बड़ा केंद्र बनाने के दृष्टिकोण के साथ अमित शाह ने कई परियोजनाओं का उद्घाटन भी किया। इसमें चेन्नई मेट्रो रेल का दूसरा चरण, कोयम्बटूर स्थित अविनाशी रोड पर एलिवेटेड राजमार्ग, चेन्नई ट्रेड सेंटर का विस्तार समेत अन्य परियोजना शामिल है। पलानीस्वामी और पन्नीरसेल्वम की अमित शाह के साथ लगभग 40 मिनट तक बैठक हुई

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

‘एक्सप्रेस प्रदेश’ बन रहा है यूपी, ग्रामीण इलाकों में भी 15000 Km सड़कें: CM योगी कुछ यूँ बदल रहे रोड इंफ्रास्ट्रक्चर

योगी सरकार ने ग्रामीण इलाकों में 5 वर्षों में 15,246 किलोमीटर सड़कों का निर्माण कराया। उत्तर प्रदेश में जल्द ही अब 6 एक्सप्रेसवे हो जाएँगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,276FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe