Friday, July 19, 2024
HomeराजनीतिBJP कार्यकर्ताओं पर लाठी-डंडों से हमला, कई बुरी तरह घायल: बंगाल में नहीं थम...

BJP कार्यकर्ताओं पर लाठी-डंडों से हमला, कई बुरी तरह घायल: बंगाल में नहीं थम रहा TMC का गुंडा राज

इस घटना में भाजपा के कई कार्यकर्ता बुरी तरह घायल हो गए। घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसमें साफ़ देखा जा सकता है कि लाठी और डंडों से हमला किया जा रहा है।

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक विसंगतियों के हालात छिपे नहीं हैं, आए दिन वहाँ उपद्रव, हिंसा और हत्या की घटनाएँ सामने आती हैं। निशाने पर होते हैं भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता और भूमिका में होते हैं तृणमूल कॉन्ग्रेस के गुंडे। इसी कड़ी में एक और घटना सामने आई है। पश्चिम बंगाल के बर्धमान जिले में ‘रैली’ निकाल रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर तृणमूल कॉन्ग्रेस के गुंडों ने अचानक हमला कर दिया। इस सुनियोजित घटना में भाजपा के कई कार्यकर्ता बुरी तरह घायल हुए हैं। 

दरअसल भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बुधवार (21 अक्टूबर 2020) को पश्चिम बंगाल के बर्धमान जिले स्थित पुरबस्थली में एक रैली निकाली। यह रैली केंद्र की मोदी सरकार द्वारा हाल ही पारित किए गए कृषि कानूनों (Farm Laws) के समर्थन में निकाली जा रही थी। रैली के दौरान अचानक तृणमूल कॉन्ग्रेस के गुंडों ने भारी संख्या में आकर भाजपा कार्यकर्ताओं पर धावा बोल दिया। 

इस घटना में भाजपा के कई कार्यकर्ता बुरी तरह घायल हो गए। घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसमें साफ़ देखा जा सकता है कि लाठी और डंडों से हमला किया जा रहा है। हमले में भाजपा के राज्य तफ्सीली मोर्चा के बिपुल दास समेत कई अन्य नेता और कार्यकर्ता बुरी तरह घायल हुए हैं। हमले की जानकारी मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुँच कर हालात नियंत्रित किए। इसके अलावा घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

यह पहली ऐसी घटना नहीं है, जब तृणमूल गुंडों की अराजकता की घटना सामने आई हो। कुछ दिन पहले भाजपा के नवान्न अभियान के दौरान बंगाल पुलिस की गुंडागर्दी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था। इसमें बंगाल के एक पुलिस अधिकारी को एक ऑन-ड्यूटी सिख सुरक्षाकर्मी की पगड़ी खींचते हुए और उनकी बेरहमी से पिटाई करते हुए देखा जा सकता था। भाजपा नेता प्रियांगु पांडेय के सुरक्षा गार्ड बलविंदर सिंह पर उस समय हमला हुआ था, जब पश्चिम बंगाल पुलिस ने गुरुवार को कोलकाता की सड़कों पर भाजपा कार्यकर्ताओं को बेरहमी से पीटा और बड़े पैमाने पर लाठीचार्ज किया।

इसी तरह अक्टूबर महीने की शुरुआत में पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं ने कृषि विधेयक के समर्थन में रैली निकाली थी। इस दौरान उन पर तृणमूल कॉन्ग्रेस के गुंडों ने धावा बोल दिया था। उनके द्वारा किए गए हमले में भाजपा के कई कार्यकर्ता बुरी तरह घायल भी हो गए थे, घटना के कई वीडियो ट्विटर पर साझा किए गए थे। 

पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले स्थित नोडाखली गाँव में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने कृषि क़ानून के समर्थन में शनिवार (3 अक्टूबर 2020) को रैली निकाली थी। तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला किया था। घटना के वीडियो में साफ़ देखा गया था कि उनके हाथ में पत्थर और डंडे थे यानी वह इस घटना को अंजाम देने के लिए पूरी तैयारी के साथ आए थे। हमले की इस घटना के मामले में कुल 7 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

1 साल में बढ़े 80 हजार वोटर, जिनमें 70 हजार का मजहब ‘इस्लाम’, क्या याद है आपको मंगलदोई? डेमोग्राफी चेंज के खिलाफ असम के...

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने तथ्यों को आधार बनाते हुए चिंता जाहिर की है कि राज्य 2044 नहीं तो 2051 तक मुस्लिम बहुल हो जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -