Tuesday, May 21, 2024
Homeराजनीति'दिल्ली में ग़रीबों को दिया जा रहा अधपका, गंदा और कीड़ों वाला खाना': देखें...

‘दिल्ली में ग़रीबों को दिया जा रहा अधपका, गंदा और कीड़ों वाला खाना’: देखें Video

सांसद ने दिल्ली के मुखिया से कहा कि जो खाना उनकी सरकार गरीबों को खिला कर अपनी पीठ थपथपा रही है, वो आम आदमी पार्टी के नेताओं और विधायकों को खा कर देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार कोरोना वायरस संक्रमण के प्रकोप के बीच भी भ्रष्टाचार और निराशा ही परोस रही है, ये कृत्य क्षमा योग्य नहीं है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कई बार दावा कर चुके हैं कि उनकी सरकार लाखों लोगों को रोज खाना खिला रही है, जिनमें अधिकतर ग़रीब मजदूर हैं। लेकिन, तस्वीरें कुछ और ही हकीकत बयान करती हैं। वेस्ट दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने एक विडियो शेयर किया है, जो केजरीवाल के दावों की पोल खोलता है। उन्होंने आरोप लगाया है कि गरीबों को खिचड़ी के नाम पर उल्टी जैसा दिखने वाला पीला पानी परोसा जा रहा है। वर्मा ने कहा कि ये भोजन कीड़ों से भी भरा हुआ है।

सांसद ने दिल्ली के मुखिया से कहा कि जो खाना उनकी सरकार गरीबों को खिला कर अपनी पीठ थपथपा रही है, वो आम आदमी पार्टी के नेताओं और विधायकों को खा कर देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार कोरोना वायरस संक्रमण के प्रकोप के बीच भी भ्रष्टाचार और निराशा ही परोस रही है, ये कृत्य क्षमा योग्य नहीं है। इससे पहले आरोप लगे थे कि दिल्ली सरकार द्वारा गरीबों को खाना खिलाने में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया जा रहा है। कई तस्वीरें वायरल हुई थीं, जिनमें लोग एक ही जगह पर इकट्ठे बैठ कर खाते नजर आ रहे थे।

कई पीड़ितों ने भी दिल्ली सरकार पर निशाना साधा। संसद वर्मा द्वारा शेयर किए गए विडियो में एक महिला ने कहा कि एक तरफ़ कोरोना वायरस से संक्रमण का प्रकोप है, दूसरी तरफ़ कोई मरने के लिए कीड़ों वाला खाना क्यों खाएगा? महिला ने कहा कि खाना अधपका है, जिससे बच्चों के भी बीमार होने का ख़तरा है। कई अन्य लोगों ने भी इस खाने पर आपत्ति जताई। बता दें कि दिल्ली सरकार कई जगह पर ‘कम्युनिटी किचेन’ के माध्यम से ग़रीबों को भोजन कराने का दावा करती रही है।

इससे पहले दिल्ली सरकार पर आरोप लगे थे कि मजदूरों के घरों का बिजली-पानी काट उन्हें रातोंरात दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर जाकर छोड़ दिया गया था। आनंद विहार इलाक़े में इन मजदूरों की भीड़ इकट्ठी हो गई थी, जिसके बाद कोरोना वायरस के संक्रमण का ख़तरा बढ़ गया था। बाद में योगी सरकार ने इन मजदूरों के रहने-खाने व आवागमन की व्यवस्था की। इसके बाद आप विधायक राघव चड्ढा ने आरोप लगाया था कि यूपी की योगी सरकार मजदूरों को दिल्ली वापस न जाने की धमकी देते हुए लाठी से पिटवा रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -