Tuesday, September 28, 2021
Homeराजनीति'योगी बैठ्या है बक्कल तार दिया करे...': राकेश टिकैत ने कहा था- चुनाव से...

‘योगी बैठ्या है बक्कल तार दिया करे…’: राकेश टिकैत ने कहा था- चुनाव से पहले लखनऊ को दिल्ली की तरह घेरेंगे

टिकैत ने बीजेपी नेता को लुटेरा बताते हुए कहा था कि पीएम मोदी को गुजरात भेजना पड़ेगा। साल 2024 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी को देश की सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा।

कृषि कानूनों को रद्द करने की माँग को लेकर दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे कथित किसान नेताओं ने अब लखनऊ घेरने का एलान किया है। इसको लेकर उत्तर प्रदेश भाजपा ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक कार्टून के माध्यम से चेतावनी दी है। ट्वीट किए गए कार्टून में दिखाया गया है कि एक यूपी का एक बाहुबली राकेश टिकैत से कहता है, “सुना लखनऊ जा रहे तुम, किमें पंगा न लिए भाई। योगी बैठ्या है बक्कल तार दिया करे और पोस्टर भी लगवा दिया करे।”

बता दें कि किसान नेता राकेश टिकैत ने ऐलान किया था कि तीनों कृषि कानूनों की वापसी और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) के लिए किसान अब दिल्ली की तरह लखनऊ का भी घेराव करेंगे और यूपी चुनाव में जनता से भाजपा को हराने की अपील करेंगे। इस पर भाजपा की तरफ से तीखा पलटवार किया गया है। टिकैत ने बीजेपी नेता को लुटेरा बताते हुए कहा था कि पीएम मोदी को गुजरात भेजना पड़ेगा। साल 2024 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी को देश की सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा।

टिकैत ने कहा था कि 8 महीने आंदोलन करने के बाद संयुक्त मोर्चा ने फैसला किया है कि उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब और पूरे देश में जाकर किसानों के सामने अपनी बात रखी जाएगी। इसकी तैयारी के लिए 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में बड़ी पंचायत की जाएगी।

बता दें कि हाल ही मे किसान संघों ने चेतावनी जारी करते हुए कहा था कि वे स्वतंत्रता दिवस पर भाजपा नेताओं और मंत्रियों को राष्ट्रीय ध्वज नहीं फहराने देंगे। उन्होंने यह भी कहा कि पूरे हरियाणा में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। टाइम्स नाउ से बात करते हुए एक किसान नेता ने कहा कि वे राज्य में ट्रैक्टर परेड निकालेंगे और भाजपा नेताओं को काले झंडे दिखाएँगे।

शनिवार (जुलाई 24, 2021) को भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने धमकी देते हुए कहा था, “किसान संसद से किसानों ने गूँगी-बहरी सरकार को जगाने का काम किया है। किसान संसद चलाना भी जानता है और अनदेखी करने वालों को गाँव में सबक सिखाना भी जानता है। भुलावे में कोई न रहे।”

वहीं, भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने समानांतर संसद चलाने की धमकी दी थी। टिकैत ने यह धमकी आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार द्वारा ‘किसानों’ को केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन करने की अनुमति देने के बाद दी। वहीं, प्रदर्शन स्थल पर तथाकथित किसानों ने विरोध प्रदर्शन कवर करने गए मीडियाकर्मी पर लाठियों से हमला किया गया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,829FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe