Sunday, August 1, 2021
Homeराजनीतिमिलेनियम पार्क को कब्रिस्तान बनाने की फिराक में दिल्ली वक्फ बोर्ड: ​उपराज्यपाल को VHP...

मिलेनियम पार्क को कब्रिस्तान बनाने की फिराक में दिल्ली वक्फ बोर्ड: ​उपराज्यपाल को VHP का खत

शिकायत के अनुसार, दिल्ली वक्फ बोर्ड ने कोरोना के नाम पर पार्क की जमीन पर अतिक्रमण करने की कोशिश की है। वे इस पार्क में कोरोना संदिग्धों को दफनाकर इसे कब्रिस्तान बनाने का प्रयास रहे हैं।

कोरोना संक्रमितों को दफनाने के नाम पर इंद्रप्रस्थ के मिलेनियम पार्क की जमीन हड़पने की साजिश रची जा रही है। विश्व हिंदू परिषद (VHP) के अनुसार इसके पीछे दिल्ली वक्फ बोर्ड है। बोर्ड को दिल्ली सरकार के कुछ लोगों का भी समर्थन हासिल है।

VHP ने इस संबंध में दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल को पत्र लिखा है। पत्र में आरोप लगाया है कि दिल्ली वक्फ बोर्ड मिलेनियम पार्क की जमीन पर अवैध अतिक्रमण कर रहा है। इसलिए ‘जदीद कब्रिस्तान अहाले इस्लाम’ का बोर्ड पार्क के गेट से हटवाया जाए।

शिकायत के अनुसार, दिल्ली वक्फ बोर्ड ने कोरोना के नाम पर पार्क की जमीन पर अतिक्रमण करने की कोशिश की है। वे इस पार्क में कोरोना संदिग्धों को दफनाकर इसे कब्रिस्तान बनाने का प्रयास रहे हैं।

VHP का कहना है कि इस मामले के संबंध में स्थानीय नागरिक भी वक्फ बोर्ड की मंशा पर आपत्ति जता रहे हैं। विहिप ने बताया कि स्थानीय गाँव नंगली रजापुर के नागरिकों की सजगता से इंद्रप्रस्थ मिलेनियम पार्क में अतिक्रमण रुक गया है। लेकिन, इसे कब्जाने के प्रयास अब भी जारी है और लगातार पार्क में कोरोना संक्रमितों के शवों को दफनाने की कोशिश हो रही है, साथ ही पार्क के ताले भी तोड़े जा रहे हैं।

VHP के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने इस संबंध में ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है। साथ ही लिखा है, “इसे जमीन जिहाद कहते हैं और दिल्ली वक्फ बोर्ड इसमें माहिर हैं।”

गौरतलब है कि पिछले माह एक आदेश मे दिल्ली वक्फ बोर्ड ने मिलेनियम पार्क के पास कोरोना वायरस संक्रमितों को दफनाने के लिए जदीद कब्रिस्तान नाम से एक जगह निर्धारित कर शहर के मुस्लिमों को वहाँ शव को दफनाने से पहले क्रिया करने की इजाजत दी।

इस बारे में सूचना पाते ही नगली राजापुर के स्थानीय लोगों ने अतिक्रमण का विरोध किया और VHP के साथ मिलकर यह सुनिश्चित किया कि कोई मृतक शरीर वहाँ न दफनाया जाए।

लोगों का मत है कि वक्फ बोर्ड के यहाँ अतिक्रमण करने और यहाँ कोरोना शवों को दफनाने की अनुमति देने से बीमारी के फैलने का खतरा बढ़ सकता है। अपने पत्र में विहिप ने वक्फ बोर्ड पर आरोप लगाया है कि उन्होंने जहाँ जदीद कब्रिस्तान का बोर्ड लगाया है वह जगह पार्क की है।

संगठन का ये भी कहना है कि कब्रिस्तान पार्क के मुख्य गेट से जुड़ा हुआ है और बुद्धा स्तूपा भी उससे केवल 100 मीटर की दूरी पर है, जहाँ आवाजाही रहती है। वीएचपी ने पत्र में इस बात का भी उल्लेख किया है कि 17 और 18 मई को बोर्ड ने यहाँ जेसीबी मशीन लगातार पार्क का गेट तोड़ने का प्रयास किया।

पत्र में विश्व हिंदू परिषद ने माँग की है कि पार्क में अनाधिकृत कब्जा करने वालों तथा उनका साथ देने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही हो तथा पार्क के गेट पर जड़े कब्रिस्तान के बोर्ड को अबिलम्ब हटाया जाए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,328FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe