महाराष्ट्र की 288, हरियाणा की 90 सीटों के लिए डाले जा रहे वोट: 18 राज्यों में 53 सीटों पर उपचुनाव भी

महाराष्ट्र में भाजपा मुख्यमंत्री फड़णवीस के नेतृत्व में दूसरे कार्यकाल के लिए प्रयासरत है, जबकि हरियाणा में भाजपा मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व मेंं दोबारा चुनाव जीतने की कोशिश में है। वोटों की गिनती 24 अक्टूबर को होगी।

महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनावों के मद्देनजर आज यानी सोमवार (अक्टूबर 21, 2019) को वोट डाले जा रहे हैं। इसके अलावा देश के 18 राज्यों की 51 विधानसभा सीटों और 2 लोकसभा सीटों के लिए उपचुनाव भी हो रहे हैं। महाराष्ट्र विधानसभा में 288 और हरियाणा विधानसभा में 90 सीटे हैं।

दोनों ही राज्यों में भाजपा की दोबारा सत्ता में वापसी के आसार दिखाई दे रहे हैं। वोटों की गिनती 24 अक्टूबर को होगी। महाराष्ट्र में भाजपा मुख्यमंत्री फड़णवीस के नेतृत्व में दूसरे कार्यकाल के लिए प्रयासरत है, जबकि हरियाणा में भाजपा मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व मेंं दोबारा चुनाव जीतने की कोशिश में है।

हरियाणा विधानसभा की 90 सीटों के लिए 1169 उम्मीदवार मैदान में हैं। की राजनीतिक किस्मत का फैसला होगा। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में इस बार कुल 3239 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें 150 महिला हैं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

महाराष्ट्र में पहली बार वोटर वेरीफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल(वीवीपैट) मशीन का भी उपयोग किया जा रहा है। मुकाबला बीजेपी -शिवसेना-रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आठवले) के महागठबंधन और कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के गठबंधन के बीच है। हरियाणा में भाजपा का मुकाबला कॉन्ग्रेस, इनेलो और उससे टूट कर बनी जेजेपी से है।

अप्रैल-मई में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा-शिवसेना गठबंधन ने महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों में से 41 सीटें जीती थीं, जबकि कॉन्ग्रेस ने एक और राकांपा ने चार सीटों पर जीत दर्ज की थी। उद्धव ठाकरे के पुत्र एवं युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे मुंबई के वर्ली से चुनाव लड़ रहे हैं। ठाकरे परिवार से चुनावी राजनीति में कदम रखने वाले 29 वर्षीय आदित्य पहले व्यक्ति हैं।

हरियाणा में 2014 के विधानसभा चुनाव में भाजपा 47 सीटें जीतकर पहली बार सत्ता में आयी थी। भाजपा ने इसी साल हुए जींद उपचुनाव में भी जीत हासिल की थी। लिया था जिससे उसकी सीटों की संख्या बढ़कर 48 हो गई थी। इनेलो के 19 विधायक हैं जबकि कॉन्ग्रेस के 17 विधायक हैं। पिछले विधानासभा चुनाव में बसपा और शिअद ने एक एक सीटें जबकि पांच सीटें निर्दलीयों ने जीती थीं। 17 राज्यों की 51 विधानसभा सीटों पर भी उपचुनाव होगा।

इसके अलावा 17 राज्यों की 51 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए भी वोट डाले जा रहे हैं। इनमें से करीब 30 सीटें भाजपा और उसके सहयोगी दलों के पास थीं। भाजपा शासित उत्तर प्रदेश की 11, गुजरात की छह, बिहार की पॉंच, असम की चार और हिमाचल प्रदेश तथा तमिलनाडु की दो-दो विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहा है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

सोनिया गाँधी
शिवसेना हिन्दुत्व के एजेंडे से पीछे हटने को तैयार है फिर भी सोनिया दुविधा में हैं। शिवसेना को समर्थन पर कॉन्ग्रेस के भीतर भी मतभेद है। ऐसे में एनसीपी सुप्रीमो के साथ उनकी आज की बैठक निर्णायक साबित हो सकती है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,489फैंसलाइक करें
23,092फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: