Monday, July 22, 2024
Homeराजनीतिउत्तरी बंगाल में दार्जिलिंग के दौरे पर राज्यपाल, तिलमिलाई ममता ने धनखड़ को कहा-...

उत्तरी बंगाल में दार्जिलिंग के दौरे पर राज्यपाल, तिलमिलाई ममता ने धनखड़ को कहा- ‘भ्रष्ट आदमी’

राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता बनर्जी के आरोपों का पूरी तरह से खंडन करते हुए कहा कि यह जानकारी पूरी तरह गलत है और उन्हें किसी वरिष्ठ नेता से ऐसी उम्मीद बिल्कुल भी नहीं है। धनखड़ ने कहा कि उनका नाम किसी चार्जशीट में नहीं है और न ही ऐसा ही कोई दस्तावेज है।

केंद्र सरकार और पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ के खिलाफ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तल्खी किसी से छुपी नहीं है। इसी क्रम में सोमवार (28 जून) को ममता ने राज्यपाल धनखड़ को एक ‘भ्रष्ट आदमी’ कह दिया और आरोप लगाया कि धनखड़ का नाम 1996 के जैन हवाला मामले में शामिल है।

सोमवार को राज्य सचिवालय में पत्रकारों से चर्चा करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि राज्यपाल का नाम जैन हवाला केस में सामने आया था, तब उन्हें कोर्ट जाना पड़ा था लेकिन उन्होंने अपना नाम हटवा लिया था। ममता ने बताया कि अब एक बार फिर याचिका दाखिल की गई है जो पेंडिंग है। ममता ने कहा, “यह कहने के लिए मुझे माफ करें, लेकिन वह (जगदीप धनखड़) एक भ्रष्ट आदमी हैं।“

ममता ने केंद्र को भी निशाने पर लिया और कहा कि यदि केंद्र को इस बारे में नहीं पता तो वह बताती हैं कि चार्जशीट निकाली जाए, जिसमें धनखड़ का भी नाम शामिल है। ममता ने कहा कि केंद्र सरकार ऐसे आदमी को राज्यपाल के पद पर क्यों बने रहने देना चाहती है? ममता ने यह भी दावा किया कि एक पत्रकार ने उन्हें जैन हवाला मामले में धनखड़ के शामिल होने के बारे में पूरी डिटेल भेजी है।

हालाँकि, राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता बनर्जी के आरोपों का पूरी तरह से खंडन करते हुए कहा कि यह जानकारी पूरी तरह गलत है और उन्हें किसी वरिष्ठ नेता से ऐसी उम्मीद बिल्कुल भी नहीं है। धनखड़ ने कहा कि उनका नाम किसी चार्जशीट में नहीं है और न ही ऐसा ही कोई दस्तावेज है। ममता बनर्जी के खिलाफ कार्रवाई करने के प्रश्न पर राज्यपाल धनखड़ ने कहा कि भारत के इतिहास में किसी ने भी अपनी छोटी बहन के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है और वह भी नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि वह बंगाल के लोगों के लिए जो भी कर सकते हैं वही करेंगे।

जैन हवाला कांड, नब्बे के दशक का एक राजनैतिक घोटाला था। जाँचकर्ता जब हिजबुल मुजाहिद्दीन के सदस्यों से मिले 23 डिमांड ड्राफ्ट की जाँच कर रहे थे तब उन्हें हवाला ऑपरेटर्स की एक डायरी मिली थी। इस हस्तलिखित डायरी में लगभग 65 करोड़ रुपए के भुगतान का उल्लेख था। डायरी में उन व्यक्तियों के नाम कोड वर्ड में लिखे गए थे। कोड वर्ड में लिखे गए ये नाम कई बड़े नेताओं के नाम के अक्षरों से मेल खाते थे।

हालाँकि, इस मामले में केन्द्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) ने दो दर्जन से अधिक चार्जशीट दाखिल की थी, लेकिन यह मामला निष्कर्ष तक नहीं पहुँच सका क्योंकि सीबीआई इस रिश्वत कांड में कोई पुख्ता सबूत नहीं दे पाई थी।

हालाँकि ममता बनर्जी ने राज्यपाल के विरुद्ध भ्रष्टाचार का आरोप ऐसे समय लगाया है, जब राज्यपाल धनखड़ उत्तरी बंगाल में दार्जिलिंग के दौरे पर हैं और उन्होंने गोरखालैंड टेरिटोरियल एडमिनिस्ट्रेशन (GTA) में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। GTA एक सेमी-ऑटोनॉमस बॉडी है, जो उत्तरी बंगाल में दार्जिलिंग और कलिमपोंग के प्रशासन के लिए जिम्मेदार है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -