Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतियोगी सरकार ने बदला अंग्रेजों का जेल कानून: अब करवाचौथ और छठ मनेगी, हिंदू...

योगी सरकार ने बदला अंग्रेजों का जेल कानून: अब करवाचौथ और छठ मनेगी, हिंदू त्योहारों पर कैदियों के लिए खीर

कुख्यात बंदियों के लिए उच्च सुरक्षा कारागार बनाया गया है। इसके अलावा कारागार में जन्मे बच्चों का जेल में ही नामकरण संस्कार होगा। यही नहीं माँ या पिता के साथ-साथ जेल में रहने वाले बच्चों के लिए चिल्ड्रन पार्क भी बनेगा।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की अध्यक्षता में मंगलवार (16 अगस्त, 2022) को कैबिनेट की बैठक सम्पन्न हुई। योगी सरकार ने बैठक में ब्रिटिश काल (British Period Jail Manual) के जेल मैनुअल से आजादी लेने का फैसला लिया है। इस क्रम में उत्तर प्रदेश में नए जेल मैनुअल (Jail Manual) को मंजूरी दे दी गई है। अब नई जेल में हिंदुओं के लिए खीर बनेगी और मियां को खजूर मिलेंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, योगी आदित्यनाथ कैबिनेट ने 16 प्रस्तावों को हरी झंडी दे दी है। इससे अंग्रेजों के जमाने से जेल मैनुअल को लेकर चले आ रहे कानूनों में बदलाव किया जाएगा। यह जेल मैनुअल 1941 में बना था। नए जेल मैनुअल के तहत जेल कर्मियों को 303 रायफल की जगह 9 एमएम की पिस्टल मिलेगी। इसके अलावा, लॉकअप जेल की व्यवस्था भी होगी।

वहीं, कैबिनेट बैठक के बाद कारागार मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने कहा कि आज हुई बैठक में अंग्रेजों के समय के जेल मैनुअल में बदलाव किया गया है। कारागार मंत्री के मुताबिक, आज जो प्रस्ताव पास किए गए हैं, उसके अनुसार नए जेल मैनुअल के तहत प्रदेश की जेलों को 4 श्रेणियों में बाँटा गया है। इसके तहत अब महिला बंदियों को जेल में मंगलसूत्र और सलवार-सूट पहनने की अनुमति होगी। जेल में बंदियों को खीर, गुड़ और खजूर भी मिलेगा। कुख्यात बंदियों के लिए उच्च सुरक्षा कारागार बनाया गया है। इसके अलावा कारागार में जन्मे बच्चों का जेल में ही नामकरण संस्कार होगा। यही नहीं माँ या पिता के साथ-साथ जेल में रहने वाले बच्चों के लिए चिल्ड्रन पार्क भी बनेगा।

बता दें कि नए मैनुअल में महिला बंदियों को करवा चौथ, छठ और तीज का व्रत रखने की अनुमति भी होगी। महिला बंदियों को नारियल का तेल और शैम्पू भी दिया जाएगा। बंदी कैंटीन का प्रावधान और कैंटीन के 10 प्रतिशत लाभांश से बंदी कल्याणकारी कोष की स्थापना की जाएगी। कारागार मुख्यालय में सूचना एवं प्रौद्दोगिकी प्रकोष्ठ बनाया जाएगा। इन सबके अलावा बंदियों को स्वस्थ और फिट रखने के लिए कारागार के अंदर योग और व्यायाम की व्यवस्था भी की जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -