Friday, October 7, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षापाक से गोलाबारी की काट: पुंछ व राजौरी में बनेंगे 400 अतिरिक्त बंकर, प्रशासन...

पाक से गोलाबारी की काट: पुंछ व राजौरी में बनेंगे 400 अतिरिक्त बंकर, प्रशासन ने दी मंजूरी

प्रशासन ने अधिकारियों को इन बंकरों का तेजी से निर्माण करने का निर्देश दिया है। एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, एक महीने के अंदर दोनों जिलों में 200-200 बंकर बनेंगे।

भारतीय वायु सेना की तरफ से किए गए एयर स्ट्राइक से बौखलाया पाक लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। जिसकी वजह से नियंत्रण रेखा पर हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। सीमा पर बढ़ते तनाव को देखते हुए जम्मू एवं कश्मीर सरकार ने शनिवार को पुंछ और राजौरी जिलों के निवासियों के लिए 400 अतिरिक्त बंकर बनाने की अनुमति दे दी है।

प्रशासन ने अधिकारियों को इन बंकरों का तेजी से निर्माण करने का निर्देश दिया है। एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, एक महीने के अंदर दोनों जिलों में 200-200 बंकर बनेंगे। इन बंकरों के निर्माण के लिए धनराशि ग्रामीण विकास विभाग के जरिए संबंधित उपायुक्तों को उपलब्ध कराया जाएगा।

वहाँ के स्थानीय लोगों का कहना है कि पाकिस्तान द्वारा सीमा पार से की जाने वाली गोलीबारी के दौरान बंकर काफी प्रभावी होते हैं। ये बंकर गोलाबारी के दौरान सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले नागरिकों को सुरक्षित स्थान मुहैया करवाते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंदिर में नमाज गंगा-जमुनी तहजीब, कर्नाटक के बीदर में पारंपरिक दशहरा पूजा मस्जिद-मुस्लिमों पर हमला: इस्लामी प्रलाप कब तक भोगते रहेंगे हिंदू

कर्नाटक के बीदर में दशहरा पूजा की जो परिपाटी निजाम काल से चल रही है, उस पर इस्लामी प्रलाप चल रहा है। इसके दबाव में पुलिस ने 9 हिंदुओं पर एफआईआर की है।

राजस्थान में छाया बिजली संकट: 23 थर्मल स्टेशनों में से 11 बंद, प्रदेश में बचा है सिर्फ 4 दिन का कोयला

राजस्थान में बिजली संकट का खतरा बढ़ता जा रहा है। कोयले की आपूर्ति न होने के कारण प्रदेश में 23 थर्मल स्टेशनों में से 11 ने बिजली उत्पादन करना बंद कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,757FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe