Wednesday, November 30, 2022
Homeदेश-समाजजेल में रोते रहते हैं आर्यन, जेल का ही खाते हैं खाना: जेल के...

जेल में रोते रहते हैं आर्यन, जेल का ही खाते हैं खाना: जेल के एक कैदी ने सुनाई ड्रग्स मामले में बंद कैदी नंबर 956 की कहानी

आर्यन खान के वकील ने मुंबई हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है। याचिका में आर्यन खान की तरफ से कहा गया है कि क्रूज पर ड्रग्स बरामदगी के मामले में NCB उनके व्हाट्सएप चैट को गलत तरीके से पेश कर रही है।

मुंबई में क्रूज पार्टी में ड्रग्स लेने के आरोप में गिरफ्तार किए गए बॉलीवुड ऐक्टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान आर्थर रोड जेल में बंद हैं। उनकी जमानत याचिकाओं के ख़ारिज होने के चलते वो जेल से बाहर नहीं आ पाए हैं। जेल में कैदी नंबर 956 के रूप में बंद आर्यन की दिनचर्या आम कैदियों जैसी ही है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, जेल में आर्यन खान को कोई स्पेशल सुविधा नहीं दी जा रही है। उनके साथ जेल में बंद रहे एक बंदी ने कथित रूप से बताया कि आर्यन जेल की बैरक में अक्सर रोते रहते हैं। आर्यन को जेल में अन्य कैदियों वाला ही खाना दिया जाता है। इस खाने में बिस्किट भी शामिल है।

इसी के साथ घर वालों से मिले पैसे से आर्यन जेल की कैंटीन से सामान खरीद कर खाते हैं। आर्यन खान को जेल में लगभग 2 सप्ताह से अधिक हो चुके हैं। आर्यन न तो ढंग से खाना खा रहे हैं और न ही उचित मात्रा में पानी पी रहे हैं। इसीलिए जेल के अधिकारी उनके स्वास्थ्य को ले कर चिंतित हैं।

बताया जा रहा है कि आर्यन अक्सर दुखी रहते हैं। जेल के टॉयलेट का भी वह बहुत ही कम इस्तेमाल करते हैं। जेल सुपरिटेंडेंट के अनुसार, शाहरुख़ खान ने आर्यन को खर्च के लिए 4500 रुपये दिए हैं। शाहरुख़ इसी दिन आर्यन से मिलने जेल में भी आए थे।

दरअसल, 2 बार जमानत याचिका ख़ारिज होने के बाद आर्यन खान के वकील ने मुंबई हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है। याचिका में आर्यन खान की तरफ से कहा गया है कि क्रूज पर ड्रग्स बरामदगी के मामले में NCB उनके व्हाट्सएप चैट को गलत तरीके से पेश कर रही है। इसी के साथ आर्यन खान ने कहा कि उनके पास से कोई भी ड्रग्स नहीं मिला है। पकड़े गए 20 आरोपितों में से उन्होंने अपना संबंध सिर्फ अरबाज़ मर्चेंट और आचित कुमार से बताया।

आर्यन खान ने अपनी व्हाट्सएप चैट को घटना से पहले की बताया है। उन्होंने NCB पर अपनी बातचीत को गलत तरीके से तोड़-मरोड़ कर पेश करने का आरोप लगाया है। वहीं, आर्यन की जमानत याचिका का विरोध करते हुए NCB ने कहा है कि यदि उन्हें जमानत दी गई तो वो सबूतों को प्रभावित कर सकते हैं। इस मामले की सुनवाई 26 अक्टूबर को होनी है।

रिपोर्ट के अनुसार, आर्यन के बैरक में एक मंदिर है और आर्यन इस मंदिर में रोज सुबह 7 बजे होने वाली आरती में शामिल होते हैं। पूजा खत्म होने तक वो वहीं रहते हैं। इस दौरान वो किसी से ज्यादा बात भी नहीं करते।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोता हुआ आम का पेड़, आरती के समय मंदिर में देवता को प्रणाम करने वाला ताड़ का वृक्ष… वेदों से प्रेरित था जगदीश चंद्र...

छुईमुई का पौधा हमारे छूते ही प्रतिक्रिया देता है। जगदीश चंद्र बोस ने दिखाया कि अन्य पेड़-पौधों में भी ऐसा होता है, लेकिन नंगी आँखों से नहीं दिखता।

‘मौलाना साद को सौंपी जाए निजामुद्दीन मरकज की चाबियाँ’: दिल्ली HC के आदेश पर पुलिस को आपत्ति नहीं, तबलीगी जमात ने फैलाया था कोरोना

दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज की चाबी मौलाना साद को सौंपने की हिदायत दी। पुलिस ने दावा किया है कि वह फरार है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,143FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe