Thursday, June 13, 2024
Homeदेश-समाजअसम के कॉन्स्टेबल रफ़ीकुल इस्लाम ख़ान को Pro-Pak पोस्ट शेयर करना पड़ा भारी, हुआ...

असम के कॉन्स्टेबल रफ़ीकुल इस्लाम ख़ान को Pro-Pak पोस्ट शेयर करना पड़ा भारी, हुआ सस्पेंड

निलंबित कॉन्स्टेबल ख़ान के ख़िलाफ़ जाँच कमिटी बिठाई जाएगी, जिसके बाद इस संबंध में आगे के निर्णय लिए जाएँगे। इसके साथ ही पुलिस ने...

असम के एक कॉन्स्टेबल को नौकरी से सस्पेंड कर दिया गया है। सस्पेंड करने के साथ ही उसकी गिरफ़्तारी भी हो गई है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, उक्त कॉन्स्टेबल ने सोशल मीडिया पर पाकिस्तान समर्थित पोस्ट शेयर किया था, जिसमें पाक के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान की तारीफ़ों के पुल बाँधे गए थे। इतना ही नहीं, इस पोस्ट में इस्लाम धर्म को बढ़ावा देने वाली बातें भी कही गई थी। कॉन्स्टेबल रफ़ीकुल इस्लाम ख़ान मोरीगाँव ज़िले के बरछाला पुलिस आउटपोस्ट में तैनात था।

पुलिस विभाग ने रफ़ीकुल की इस हरकत को अनुशासनहीनता बताया। एसपी स्वप्नानील डेका ने इस बारे में विशेष जानकारी देते हुए बताया:

“मैंने उसके फेसबुक प्रोफाइल पर किसी और के पोस्ट को शेयर करने के लिए उसके ख़िलाफ़ अनुशासनात्मक कार्रवाई की है। इस पोस्ट में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की प्रशंसा की गई थी और कहा गया था कि मुस्लिम बहुत उदार (Generous) हैं। कोई भी पुलिस कर्मी किसी धर्म विशेष का पक्ष नहीं ले सकता है।”

निलंबित कॉन्स्टेबल ख़ान के ख़िलाफ़ जाँच कमिटी बिठाई जाएगी, जिसके बाद इस संबंध में आगे के निर्णय लिए जाएँगे। इसके साथ ही पुलिस को उस व्यक्ति की भी तलाश है, जिसने ये पोस्ट लिखा था। पुलिस इसका पता लगाने में जुटी हुई है। ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ के मुताबिक, जब उसने रफ़ीकुल से संपर्क साधना चाहा तो उस से कोई बात नहीं हो पाई।

बता दें कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले और उसके बाद भारत की जवाबी कार्रवाई में आतंकियों के मारे जाने के बाद ऐसे कई लोगों को गिरफ़्तार किया जा चुका है। इन लोगों ने बलिदानी जवानों का मज़ाक बनाने से लेकर आतंकियों की पैरवी तक की थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेता खाएँ मलाई इसलिए कॉन्ग्रेस के साथ AAP, पानी के लिए तरसते आम आदमी को दोनों ने दिखाया ठेंगा: दिल्ली जल संकट में हिमाचल...

दिल्ली सरकार ने कहा है कि टैंकर माफिया तो यमुना के उस पार यानी हरियाणा से ऑपरेट करते हैं, वो दिल्ली सरकार का इलाका ही नहीं है।

पापुआ न्यू गिनी में चली गई 2000 लोगों की जान, भारत ने भेजी करोड़ों की राहत (पानी, भोजन, दवा सब कुछ) सामग्री

प्राकृतिक आपदा के कारण संसाधनों की कमी से जूझ रहे पापुआ न्यू गिनी के एंगा प्रांत को भारत ने बुनियादी जरूरतों के सामान भेजे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -