Monday, April 22, 2024
Homeबड़ी ख़बरव्यापम घोटाला: पूर्व BJP नेता सहित 8 को CBI की क्लीन-चिट

व्यापम घोटाला: पूर्व BJP नेता सहित 8 को CBI की क्लीन-चिट

2012 में मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मण्डल (MPPEB) द्वारा आयोजित परीक्षाओं में घोटाले की बात सामने आई थी, जिसके बाद इसकी जाँच CBI को सौंप दी गई थी

CBI ने परिवहन आरक्षक भर्ती घोटाला मामले में 26 आरोपितों के ख़िलाफ़ आरोप-पत्र दाख़िल कर दिया है। जाँच एजेंसी ने इस मामले में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार में शिक्षा मंत्री रहे लक्ष्मीकांत शर्मा और 7 अन्य को क्लीन-चिट दे दी है। 2014 में इस स्कैम के सामने आने के बाद स्पेशल टास्क फ़ोर्स ने शर्मा को गिरफ़्तार भी किया था। घोटाले में नाम आने के बाद उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफ़ा दे दिया था।

CBI ने जो आरोप-पत्र तैयार किया है, उसमें लक्ष्मीकांत शर्मा के अलावा उनके ओएसडी रहे ओमप्रकाश शुक्ला, आईजी स्टाम्प इंद्रजीत कुमार जैन, तरंग शर्मा, भरत मिश्रा, मोहन सिंह ठाकुर, सुरेंद्र कुमार पटेल और संतोष सिंह उर्फ राजा तोमर को क्लीन-चिट दी गई है। विशेष न्यायाधीश सुरेश सिंह की अदालत में पेश किए गए चार्जशीट में CBI ने आरोपितों के ख़िलाफ़ पर्याप्त सबूत न मिलने क्लीन-चिट देने की वजह बताई।

बता दें कि 2012 में मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मण्डल (MPPEB) द्वारा आयोजित परीक्षाओं में घोटाले की बात सामने आई थी, जिसके बाद इसकी जाँच CBI को सौंप दी गई थी। इस परीक्षा में 56,000 से भी अधिक छात्र शामिल हुए थे। इस घोटाले के सामने आने के बाद इसका नाम प्रोफेशनल एग्ज़ामिनेशन बोर्ड (Professional Examination Board) रख दिया गया था।

सीबीआई द्वारा जिन 26 आरोपितों के ख़िलाफ़ आरोप-पत्र दायर की गई है, उन पर जालसाजी, आपराधिक षड्यंत्र, भ्रष्टाचार निरोधक कानून, आईटी कानून और अन्य सम्बद्ध धाराएँ लगाई गई हैं। मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल को शॉर्ट में व्यापम के नाम से जाना जाता है।

आरोप-पत्र में उन लोगों के नाम भी शामिल हैं, जिन्होंने उम्मीदवारों और व्यापम अधिकारियों के बीच बिचौलियों की भूमिका निभाई थी। इनके अलावा ऐसे कई नाम शामिल हैं, जो वास्तविक उम्मीदवारों के बदले फ़र्जी उम्मीदवार बन कर परीक्षा में शामिल हुए थे। व्यापम के पूर्व प्रमुख अधिकारी रहे पंकज त्रिवेदी सहित मण्डल के कई बड़े नाम भी इसमें शामिल हैं।

CBI द्वारा चार्जशीट दायर करने के साथ ही अब पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा को अदालत से बरी करने की बस औपचारिकता बाकी रह गई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बेटी नेहा की हत्या पर कॉन्ग्रेस नेता को अपनी ही कॉन्ग्रेसी सरकार पर भरोसा नहीं: CBI जाँच की माँग, कर्नाटक पुलिस पर दबाव में...

इससे पहले रविवार शाम को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केन्द्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी भी निरंजन से मिलने पहुँचे। उन्होंने भी फयाज के हाथों नेहा की हत्या में सीबीआई जाँच की माँग की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe