Saturday, July 31, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय...वो 5 देश जो भारत के साथ 15 अगस्त को ही मनाते हैं अपना...

…वो 5 देश जो भारत के साथ 15 अगस्त को ही मनाते हैं अपना स्वतंत्रता दिवस, अंग्रेज थे सिर्फ एक के ‘मालिक’

यूरोपीय देश लिहटेंस्टाइन को 15 अगस्त 1866 को जर्मनी से आज़ादी मिली थी। यह देश 1940 से 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाता है। क्षेत्रफल के आधार पर यह दुनिया का सबसे छोटे देशों में से एक...

हमारा देश आज आज़ादी की 73वीं सालगिरह मना रहा है। आज़ादी का यह जश्न मनाने वाला भारत अकेला देश नहीं है बल्कि पाँच और देश हैं जो आज ही के दिन आज़ाद हुए थे। आज वो भी आज़ादी के इस जश्न को धूमधाम से मना रहे हैं। वो पाँच देश हैं:

  • दक्षिण कोरिया
  • उत्तर कोरिया
  • कांगो
  • बहरीन
  • लिहटेंस्टाइन (Liechtenstein)

हम आपको बारी-बारी से इन देशों के बारे में बताते हैं कि आख़िर कैेसे और कब इन देशों ने आज़ादी प्राप्त की।

दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया

दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया को आज 74 साल पहले जापानी कॉलोनािजेशन से 15 अगस्त 1945 को आज़ादी मिली थी। दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया आज अपना 75वाँ स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं। इस दिन को दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के लोग राष्ट्रीय अवकाश को तौर पर मनाते हैं। छुट्टी का दिन होने की वजह से यहाँ शादी की एक परंपरा चल पड़ी है।

कांगो

रिपब्लिक ऑफ़ कांगो मध्य अफ्रीकी देश है, जिसे 15 अगस्त 1960 को आज़ादी मिली थी। अफ्रीका के इस देश को फ्रांस की दासता से आज़ादी मिली थी। 1880 से फ्रांस का क़ब्ज़ा कांगो पर था, इसे फ्रेंच कॉन्गो के तौर पर जाना जाता था। इसके बाद 1903 में ये मिडिल कॉन्गो बना। इस हिसाब से कांगो देश आज अपना 60वाँ स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। 

बहरीन

15 अगस्त 1971 को ब्रिटेन के क़ब्ज़े वाले बहरीन को आज़ादी मिली थी। इस प्रकार बहरीन ने 15 अगस्त को अपना स्वतंत्रता दिवस घोषित कर दिया। लेकिन बहरीन की जनता ने ब्रिटिश सरकार द्वारा दिए गए स्वतंत्रता दिवस को मनाने से इनकार कर दिया था और देश के पूर्व बादशाह सलमान अल खलीफ़ा के राजतिलक के दिन यानी 16 दिसंबर को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाने का ऐलान किया गया। दरअसल, ब्रिटेन के मध्य एक करार हुआ था जिसके बाद बहरीन ने आज़ाद देश के तौर पर ब्रिटेन के साथ अपने संबंध रखे। इसलिए बहरीन अपना स्वतंत्रता दिवस 16 दिसंबर को मनाता है। 

लिहटेंस्टाइन

यूरोपीय देश लिहटेंस्टाइन को 15 अगस्त 1866 में जर्मनी से आज़ादी मिली थी। यह देश 1940 से 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाता है। इस देश के बारे में बता दें कि क्षेत्रफल के आधार पर यह दुनिया का सबसे छोटे देशों में से एक है। मात्र 160 वर्ग किलोमीटर वाले इस देश की कुल आबादी 35,000 है। लिहटेंस्टाइन दुनिया का जर्मन भाषी इकलौता अल्पाइन राज्य है, जो पूरी तरह से आल्पस पर स्थित है। यह देश एकमात्र ऐसा जर्मनभाषी राज्य है, जिसकी सीमा जर्मनी से नहीं मिलती।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe