Tuesday, July 27, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयहमें पाकिस्तान से आज़ादी चाहिए: POK में हज़ारों लोग सड़क पर, पाक पुलिस ने...

हमें पाकिस्तान से आज़ादी चाहिए: POK में हज़ारों लोग सड़क पर, पाक पुलिस ने की बर्बरता

लोगों का कहना था कि पाकिस्तान ने उनके इलाक़े पर अवैध रूप से कब्ज़ा कर रखा है। पाकिस्तान ने विरोध प्रदर्शन को दबाने के लिए इलाक़े में टोटल कम्युनिकेशन ब्लैकआउट कर दिया है। मोबाइल सेवाएँ ठप्प कर दी गई हैं।

जहाँ भारत सरकार जम्मू कश्मीर में स्थिति सामान्य बनाने के लिए काम कर रही है, पाक अधिकृत कश्मीर में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। पाकिस्तान जम्मू कश्मीर में ‘सब कुछ ठीक न होने’ की बात करते हुए संयुक्त राष्ट्र से लेकर इस्लामिक मुल्क़ों तक को अपने झाँसे में लेने की कोशिश कर रहा है, और इसमें वह बुरी तरह विफल साबित हुआ है। जम्मू कश्मीर में स्थिति सामान्य है। एनएसए अजित डोभाल ने भी क्षेत्र का दौरा कर लोगों से स्थिति की जानकारी ली।

पाक अधिकृत कश्मीर में लोगों ने पाकिस्तान की सेना व पुलिस के द्वारा किए जा रहे अत्याचारों के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किया। इस विरोध प्रदर्शन में कई लोग शामिल हुए और उन्होंने ‘पाकिस्तान से आज़ादी’ की माँग की। लोगों का कहना था कि पाकिस्तान ने उनके इलाक़े पर अवैध रूप से कब्ज़ा कर रखा है। पाकिस्तान ने विरोध प्रदर्शन को दबाने के लिए इलाक़े में टोटल कम्युनिकेशन ब्लैकआउट कर दिया है। मोबाइल सेवाएँ ठप्प कर दी गई हैं।

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के साथ क्रूरता की। उन्हें पीटा गया। उन पर फायरिंग तक की गई। पुलिस ने बीती रात किसी व्यक्ति को गिरफ़्तार कर लिया था, जिससे लोग और भी गुस्से में थे। हजीरा पुलिस थाना के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में कई लोग धरने पर बैठे और उन्होंने ‘पाकिस्तान से आज़ादी’ की माँग की। रविवार (सितम्बर 8, 2019) पुलिस ने इन प्रदर्शनकारियों में से 40 को गिरफ़्तार कर लिया है।

इससे पहले शनिवार को भी पुलिस द्वारा विरोध प्रदर्शन करने वाले सैकड़ों लोगों के साथ क्रूरता की गई थी। उस क्षेत्र में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ कई मार्च निकाले गए। रक्षा विशेषज्ञ आरके सहगल ने बताया कि बलूचिस्तान और सिंध की तरह ही पाक अधिकृत कश्मीर में भी पाकिस्तानी फौज आम लोगों के साथ द्वारा बर्बरता कर रही है। मानवाधिकारों का लगातार हनन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में कहीं भी ऐसा कुछ भी नहीं हो रहा बल्कि बलूचिस्तान, सिंध और पीओके में हो रहा है।

पाकिस्तान को जम्मू कश्मीर की शांति पच नहीं रही है और वह लगातार घुसपैठियों को इस पार भेजने की कोशिश में लगा हुआ है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने भी कहा था कि 200 से भी अधिक आतंकी घुसपैठ के प्रयास में लगे हुए हैं। इस्लामाबाद क्षेत्र में हिंसा फैलाने की साज़िशें रच रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

6 साल के जुड़वा भाई, अगवा कर ₹20 लाख फिरौती ली; फिर भी हाथ-पैर बाँध यमुना में फेंका: ढाई साल बाद इंसाफ

मध्य प्रदेश स्थित सतना जिले के चित्रकूट में दो जुड़वा भाइयों के अपहरण और हत्या के मामले में 5 दोषियों को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई है।

‘अपनी मौत के लिए दानिश सिद्दीकी खुद जिम्मेदार, नहीं माँगेंगे माफ़ी, वो दुश्मन की टैंक पर था’: ‘दैनिक भास्कर’ से बोला तालिबान

तालिबान प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा कि दानिश सिद्दीकी का शव युद्धक्षेत्र में पड़ा था, जिसकी बाद में पहचान हुई तो रेडक्रॉस के हवाले किया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,381FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe