Sunday, October 17, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय8000 महिलाओं की अवैध नसबंदी: डॉक्टर मोहम्मद सियाब्दीन ने अर्जित की अकूत संपत्ति, गिरफ़्तार

8000 महिलाओं की अवैध नसबंदी: डॉक्टर मोहम्मद सियाब्दीन ने अर्जित की अकूत संपत्ति, गिरफ़्तार

यह डॉक्टर पहले कई अस्पतालों में काम कर चुका है और सिजेरियन सर्जरी के दौरान अवैध रूप से नसबंदी कर देना इसके लिए बाएँ हाथ का खेल रहा है।

श्री लंका में स्थित कुरुनेगला टीचिंग हॉस्पिटल से मोहम्मद सियाब्दीन साफी नामक डॉक्टर को गिरफ़्तार किया गया है। उसके द्वारा लगभग 8000 महिलाओं की अवैध नसबंदी करने का मामला सामने आया है। ख़ुद श्री लंका के स्वास्थ्य मंत्री रंजीता सेनारत्ने ने कहा कि विशेषज्ञों की एक कमिटी बनाई गई है, जो इस मामले की जाँच करेगी। आरोपित डॉक्टर ने न सिर्फ़ अवैध नसबंदी की बल्कि उसके द्वारा वित्तीय अनियमितता की बातें भी सामने आईं हैं। उसने अवैध तरीके से अकूत संपत्ति का अर्जन किया है। मंत्री सेनारत्ने ने बताया कि विशेषज्ञों की कमिटी में दो एक्सपर्ट्स ‘Sri Lanka College of Obstetricians and Gynaecologists’ से होंगे, जबकि एक एक्सपर्ट मेडिकल काउंसिल से होंगे।

मंत्री ने कहा कि दोषी साबित होने पर उक्त डॉक्टर के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मंत्री ने कहा कि मीडिया रिपोर्ट्स में उक्त डॉक्टर द्वारा 8000 सिजेरियन ऑपरेशन किए जाने की बात सामने आ रही है। उसे क्रिमिनल इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट (CID) को सौंप दिया गया है, जहाँ उससे पूछताछ की जा रही है। यह डॉक्टर पहले कई अस्पतालों में काम कर चुका है और सिजेरियन सर्जरी के दौरान अवैध रूप से नसबंदी कर देना इसके लिए बाएँ हाथ का खेल रहा है। श्री लंका के मंत्री ने इस पर आश्चर्य जताया है क्योंकि ऐसी सर्जरी करते समय डॉक्टर के साथ उसके कई सहायक भी ऑपरेशन कक्ष में उपस्थित रहते हैं।

अब तक कुल 27 ऐसी महिलाएँ सामने आई हैं, जिन्होंने डॉक्टर सियाब्दीन के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराते हुए सिजेरियन ऑपरेशन के दौरान नसबंदी किए जाने की बात कही है। सरकार ने कहा है कि ऐसी अन्य पीड़ित महिलाएँ भी आकर शिकायत दर्ज करा सकती हैं ताकि अधिक से अधिक साक्ष्य जुटाए जा सकें और पीड़ितों की संख्या का सही अंदाज़ा लगे। कुरुनेगला अस्पताल में एक अलग दफ्तर सिर्फ़ इसीलिए स्थापित किया गया है, ताकि वहाँ पीड़ित महिलाएँ जाकर शिकायत दर्ज करा सकें।

इसके अलावा आरोपित डॉक्टर के ख़िलाफ़ कई अन्य चौंकाने वाली शिकायतें भी दर्ज की गई है। वह नवजात बच्चे को किसी तीसरे को दे देता था। इसके लिए वह काग़ज़ातों से छेड़छाड़ किया करता था और दस्तावेजों को बदल देता था। इसके अलावा एक महिला ने कहा कि ऑपरेशन के दौरान उसकी बच्चेदानी निकाल दी गई, जिसका पता उसे काफ़ी बाद में चला। अगर अभी तक की बात करें तो ताज़ा सूचना के अनुसार उसके ख़िलाफ़ कुल 51 शिकायतें दर्ज की जा चुकी हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘और गिरफ़्तारी की बात मत करो, वरना सरेंडर करने वाले साथियों को भी छुड़ा लेंगे’: निहंगों की पुलिस को धमकी, दलित लखबीर को बताया...

दलित लखबीर की हत्या पर निहंग बाबा राजा राम सिंह ने कहा कि हमारे साथियों को मजबूरन सज़ा देनी पड़ी, क्योंकि किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की।

CPI(M) सरकार ने महादेव मंदिर पर जमाया कब्ज़ा, ताला तोड़ घुसी पुलिस: केरल में हिन्दुओं का प्रदर्शन, कइयों ने की आत्मदाह की कोशिश

श्रद्धालुओं के भारी विरोध के बावजूद केरल की CPI(M) सरकार ने कन्नूर में स्थित मत्तनूर महादेव मंदिर का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,325FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe