Sunday, October 17, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबांग्लादेशी वामपंथी नेता मनीषा चक्रवर्ती ने बकरीद पर 5 गायों को काटकर बाँटा गोमांस,...

बांग्लादेशी वामपंथी नेता मनीषा चक्रवर्ती ने बकरीद पर 5 गायों को काटकर बाँटा गोमांस, अगले साल 30 की ‘गौ-कुर्बानी’ का वादा

मनीषा इस ’नेक’ इरादे के पीछे के अपने उद्देश्यों को बताने के लिए फेसबुक पर लाइव आई। इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से गरीब लोग ईद का त्योहार न मनाने के लिए मजबूर थे। इसलिए उन्होंने और उनकी टीम ने यह सुनिश्चित किया कि 'दलितों' को पीछे न छोड़ा जाए।

बांग्लादेशी कम्युनिस्ट राजनेता डॉ. मनीषा चक्रवर्ती और उनके कॉमरेड साथियों ने शनिवार (अगस्त 1, 2020) को बांग्लादेश के बारिसल में बकरीद के अवसर पर कथित तौर पर गोमांस वितरित किया। मनीषा चक्रवर्ती, बांग्लादेश समाजवादी दल (Bangladesh Socialist party) की बारिसल डिस्ट्रिक्ट कमेटी की सदस्य सचिव हैं।

मनीषा इस ’नेक’ इरादे के पीछे के अपने उद्देश्यों को बताने के लिए फेसबुक पर लाइव आई। इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से गरीब लोग ईद का त्योहार न मनाने के लिए मजबूर थे। इसलिए उन्होंने और उनकी टीम ने यह सुनिश्चित किया कि ‘दलितों’ को पीछे न छोड़ा जाए।

लाइव के दौरान मनीषा को यह कहते हुए सुना गया, “एखना पंचति गोरू कुर्बानी दोव होयचा ओ सेत के प्रोसेस कोरा होइछे। (हमने 5 गायों की बलि दी है और मांस को परिष्कृत किया है)।”

उन्होंने कहा कि इतने कम समय के भीतर 5 गायों को मारना मुश्किल था, लेकिन उनके साथियों और स्वयंसेवकों के समूह मुश्किल काम को पूरा करने में सक्षम थे।

मनीषा ने कहा कि उसने बारिसल जिले के 30 वार्डों में से 50 ऐसे गरीब परिवारों की सूची तैयार की थी, जिन्हें पुलाव बनाने के लिए 1 किलो गोमांस और 1 किलो चावल दिया गया।

इस कार्य का श्रेय लेते हुए, मनीषा ने अपनी टीम द्वारा कड़ी मेहनत पर जोर देने के लिए गाय के मांस से भरे पैकेट की ओर कैमरे को घुमाया।

उन्होंने कहा कि उनकी टीम ईद के दिन सुबह 7 बजे से अथक प्रयास कर रही थी। जिला स्तर पर पार्टी का प्रतिनिधित्व करने वाले एक व्यक्ति ने कहा, “पिछले साल, हमने लगभग 5000 परिवारों को खिलाया था … हमने 5 गायों को खरीदने और उसकी बलि देने के लिए धन जुटाया। हम सभी का धन्यवाद करते हैं जिन्होंने ऐसा करने में हमारी मदद की।”

बांग्लादेशी राजनेता ने अपनी फ्यूचर प्लानिंग बताते हुए कहा, “अगामी कुर्बानी ते 30 टा वार्ड ई मिनिमम 30 टा गोरू कुर्बानी दिबो (अगले वर्ष, ईद पर, हम जिले के 30 वार्डों में लोगों को खिलाने के लिए कम से कम 30 गायों की बलि देंगे)।”

मीर जाफ़र का उदाहरण देते हुए, जो एक गद्दार था और पलासी की लड़ाई में बंगाल के राजा सिराजुद्दुल्ला को धोखा दिया था, उन्होंने कहा, “षड्यंत्रकारी विफल हो गए हैं। इतिहास इस बात का प्रमाण है कि जो लोग लोगों के लिए काम करते हैं वे ही सफल हो सकते हैं।”

मनीषा ने आगे कहा, “हम एक परिवार हैं। हम दुःख और खुशी एक साथ साझा करते हैं … हम शोक और उत्सव एक साथ मनाते हैं …चूँकि यहाँ हर किसी ने इसे संभव बनाने के लिए अपना समय समर्पित कर दिया, यह वास्तव में बलिदान के अर्थ को दर्शाता है।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डीजल डाल कर जला दिया दलित लखबीर का शव, चेहरा तक नहीं देखने दिया परिजनों को: ग्रामीणों ने किया बहिष्कार

डीजल डाल कर मोबाइल की रोशनी में दलित लखबीर सिंह के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। शव से पॉलीथिन नहीं हटाया गया। परिजन चेहरा तक न देख पाए।

पश्चिम बंगाल में दुर्गा विसर्जन से लौट रहे श्रद्धालुओं पर बम से हमला, कई घायल, पुलिस ने कहा – ‘हमलावरों की अभी तक पहचान...

हमलावर मौके से फरार हो गए। सूचना पाकर पहुँची पुलिस ने लोगों की भीड़ को हटाकर मामला शांत किया और घायलों को अस्पताल भेजा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,199FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe