Saturday, July 31, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबकरीद में बकरों की कुर्बानी के लिए खोला लॉकडाउन... जबकि बढ़ रहा कोरोना संक्रमण:...

बकरीद में बकरों की कुर्बानी के लिए खोला लॉकडाउन… जबकि बढ़ रहा कोरोना संक्रमण: बांग्लादेश में विशेषज्ञों का विरोध

"लॉकडाउन के बावजूद संक्रमण और मृत्यु दर में तेजी आई है. अभी भी संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। आशंका इस बात की है कि बकरीद के बाजार अब नए सुपर-स्प्रेडर्स बन सकते हैं।"

बांग्लादेश में बुधवार (14 जुलाई 2021) को कोरोना के मामलों में तेजी आने बावजूद वहाँ की सरकार ने मुस्लिमों के दूसरे सबसे बड़े त्योहार बकरीद के लिए देशभर से लॉकडाउन को पूरी तरह से खत्म कर दिया है। 20 से 22 जुलाई 2021 तक चलने वाले इस त्योहार के बाद देश में फिर से लॉकडाउन लगाया जाएगा।

लगभग 17 करोड़ की आबादी वाले बांग्लादेश में सरकार ने बुधवार 14 जुलाई 2021 को सुबह 6 बजे से सारे प्रतिबंधों को खत्म कर दिया। ऐसा इसलिए ताकि लोग ईद से पहले अपने घरों को जा सकें और बकरों की कुर्बानी दे सकें।

अंतरिम तौर पर लॉकडाउन को खत्म करने की सूचना सरकार ने मंगलवार (13 जुलाई 2021) को एक नोटिफिकेशन जारी कर दी थी। नोटिफिकेशन में इस अनलॉक को सही ठहराते हुए कहा गया है, “सामाजिक-आर्थिक हालात और सामान्य गतिविधियों को बनाए रखने के लिए यह निर्णय लिया गया है।”

इसके साथ ही लोगों को अनलॉक के दौरान हेल्थ प्रोटोकॉल और मास्क पहनने जैसे कोविड नियमों का पालन करने का सख्त निर्देश दिया गया है। इस दौरान पब्लिक ट्रांसपोर्ट सीमित स्तर पर चलेगा। इसके अलावा स्वास्थ्य दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए दुकानें, स्टोर और मॉल को खोलने की अनुमति रहेगी। देश भर में पशु बाजार भी पहले की तरह चलते रहेंगे।

रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना के कारण हुई मौतों में उछाल आने के बाद इसी महीने 1 जुलाई 2021 को बांग्लादेश ने अब तक का सबसे सख्त लॉकडाउन लगाया था। संक्रमण के हालात को देखते हुए सरकार ने कारखानों, उद्योगों, दुकानों और निजी कार्यालयों को एक बार फिर से बंद करने के साथ इसी तरह की तालाबंदी की घोषणा की है।

सेना की तैनाती माँग

कोरोना संक्रमण के बीच ढाका से लोगों के घर की ओर पलायन करने पर राष्ट्रीय कोविड सलाहकार पैनल के एक वायरोलॉजिस्ट प्रोफेसर डॉ नजरूल इस्लाम ने चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा, पिछले लॉकडाउन में त्योहारों के दौरान हमने सैकड़ों, हजारों लोगों को घर की ओर पलायन करते हुए देखा था। लेकिन इस बार परिवहन चालू हैं, तो भीड़ कम होगी।”

उन्होंने आगे कहा, “यातायात के दौरान हेल्थ प्रोटोकॉल का पालन किया गया तो जोखिम को कम किया जा सकता है। स्वास्थ्य नियमों का पालन कर पशु बाजारों में होने वाले संक्रमण से बचा जा सकेगा। जरूरत पड़ने पर पशु बाजारों में सेना की तैनाती की जाए।”

बढ़ते संक्रमण के बीच सरकार द्वारा कोविड संकट से निपटने के लिए बनाई गई स्वास्थ्य सलाहकार समिति के प्रमुख मोहम्मद शाहिदुल्ला ने कहा है कि उनके विशेषज्ञों की टीम ने इस ढील का विरोध किया है। समाचार एजेंसी एएफपी को शाहिदुल्ला ने बताया, “समिति का मानना ​​है कि इस सख्त लॉकडाउन को तब तक जारी रखा जाना चाहिए, जब तक कि संक्रमण की दरों में गिरावट न आने लगे।”

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के बावजूद संक्रमण और मृत्यु दर में तेजी आई है और अभी भी संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। आशंका इस बात की है कि बकरीद के बाजार अब नए सुपर-स्प्रेडर्स बन सकते हैं।

संक्रमण में आया उछाल

मंगलवार (13 जुलाई 2021) को बांग्लादेश में कोरोना वायरस के 12,000 से अधिक नए संक्रमित मिले। इसी के साथ देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 10 लाख से अधिक हो गई। वहीं आधिकारिक मौतों का आँकड़ा 16,600 को पार कर गया है। विशेषज्ञों के मुताबिक, मामले की कम रिपोर्टिंग की आशंका के बीच वास्तविक आँकड़े बहुत अधिक हो सकते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,277FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe