Wednesday, May 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयफ्रांसीसी MP ओलिवियर की हैलिकॉप्टर क्रैश में मौत, राफेल बनाती है उनकी पारिवारिक कंपनी

फ्रांसीसी MP ओलिवियर की हैलिकॉप्टर क्रैश में मौत, राफेल बनाती है उनकी पारिवारिक कंपनी

डसॉल्ट, साल 2002 से कंजरवेटिव लेस रिपब्लिकन्स पार्टी के सांसद थे और उन्हें अपने भाई-बहनों के साथ दुनिया के 361वें सबसे आदमी के रूप में जाना जाता था।

फ्रांस के नॉरमैंडी में हुए हेलिकॉप्टर क्रैश में फ्रांसीसी अरबपति व दक्षिणपंथी राजनीतिज्ञ ओलिवियर डसॉल्ट/दसॉ (Olivier Dassault) की मृत्यु हो गई। डसॉल्ट 69 वर्ष के थे। उनके दादा मार्केल डसॉल्ट (Marcel Dassault) ने वह कंपनी शुरू की थी जो राफेल का निर्माण करती है।

जानकारी के अनुसार, डौविल (Deauville) में नॉरमैंडी के तटीय रिजॉर्ट से उड़ान भरने के कुछ देर बाद हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। दुर्घटना में ओलिवियर के साथ हेलिकॉप्टर का पायलट भी मारा गया। ओलिवियर अपने निजी हेलिकॉप्टर से छुट्टियाँ मनाने गए थे।

बता दें कि ओलिवियर, सर्ज डसॉल्ट के सबसे बड़े बेटे थे। साल 2018 में उन्हें उनके दो छोटे भाइयों और एक बहन के साथ अपने पिता की संपत्ति मिली थी। अकेले उनके हिस्से 6 बिलियन यूरो आए थे। फ्रांसीसी राष्ट्रपति इम्मैनुअल मैक्रो ने उनकी मृत्यु की बात जान कर ट्विटर पर अपना दुख जताया। उन्होंने कहा कि ओलिवियर फ्रांस को प्रेम करते थे।

राष्ट्रपति ने लिखा, “ओलिवियर डसॉल्ट फ्रांस से बेहद प्यार करते थे। देश की उन्होंने उद्योग, नेता, वायु सेना के कमांडर के तौर पर काफी सेवा की। इस तरह उनका आकस्मिक निधन एक बहुत बड़ी क्षति है। उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति गहरी संवेदना।”

वहीं फ्रांसीसी एयर एक्सीडेंट इन्वेस्टीगेशन ब्यूरो ने बताया कि विमान Aérospatiale AS350 ecureuil, एक निजी मैदान से टेक ऑफ करने के बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया। बीईए ने जाँच शुरू की है। पड़ताल के लिए 5 जाँचकर्ताओं को घटनास्थल के लिए भेजा जा रहा है। 

बता दें कि डसॉल्ट, साल 2002 से कंजरवेटिव लेस रिपब्लिकन्स पार्टी (conservative Les Republicans) के सांसद थे और उन्हें अपने भाई-बहनों के साथ दुनिया के 361वें सबसे आदमी के रूप में जाना जाता था। बीते दिनों राजनीतिक कारणों और हितों के टकराव से बचने के लिए उन्होंने दसॉ बोर्ड से अपना नाम वापस ले लिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू-कश्मीर में फिर से 370 बहाल करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, कहा- फैसला सही था: CJI की बेंच ने पुनर्विचार याचिकाओं को किया...

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर दिए गए निर्णय को लेकर दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया।

‘दिखाता खुद को सेकुलर है, पर है कट्टर इस्लामी’ : हिंदू पीड़िता ने बताया आकिब मीर ने कैसे फँसाया निकाह के जाल में, ठगे...

पीड़िता ने ऑपइंडिया को बताया कि आकिब खुद को सेकुलर दिखाता है, लेकिन असल में वो है इस्लामवादी। उसने महिला से कहा हुआ था वह हिंदू देवताओं को न पूजे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -