Saturday, February 4, 2023
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयब्रिटिश गृह मंत्री ने दी भगोड़े बिजनेसमैन नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण को मंजूरी:...

ब्रिटिश गृह मंत्री ने दी भगोड़े बिजनेसमैन नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण को मंजूरी: सीबीआई ने दी जानकारी

यूके की अदालत ने फरवरी 2021 में यह स्वीकार किया था कि नीरव मोदी के खिलाफ मनी लॉन्डरिंग का केस दर्ज किया गया है। यूके की वेस्टमिन्स्टर कोर्ट ने यह भी माना कि हीरों के व्यापारी ने सबूतों को खत्म करने और गवाहों को डराने का कार्य किया है।

यूनाइटेड किंगडम (यूके) के गृह मंत्री ने भगोड़े भारतीय बिजनेसमैन नीरव मोदी के भारत में प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी है। शुक्रवार को सीबीआई ने इसकी जानकारी दी। नीरव मोदी 14,000 करोड़ रुपए के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले में धोखाधड़ी और मनी लॉन्डरिंग का आरोपित है।

यूके की अदालत ने फरवरी 2021 में यह स्वीकार किया था कि नीरव मोदी के खिलाफ मनी लॉन्डरिंग का केस दर्ज किया गया है। यूके की वेस्टमिन्स्टर कोर्ट ने यह भी माना कि हीरों के व्यापारी ने सबूतों को खत्म करने और गवाहों को डराने का कार्य किया है। कोर्ट ने ऑर्डर दिया कि नीरव मोदी को ट्रायल के लिए भारत प्रत्यर्पित किया जाए।  

नीरव मोदी है दो बिलियन डॉलर के घोटाले का मुख्य आरोपित :

नीरव मोदी को दो प्रमुख मामलों में आरोपित बनाया गया है। पहला मामला है दो बिलियन डॉलर के पीएनबी घोटाले का जिसमें सीबीआई के द्वारा केस दर्ज किया गया है और दूसरा मामला है मनी लॉन्डरिंग का जिसमें प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा नीरव मोदी पर सबूतों के साथ खिलवाड़ करने और गवाहों को डराने-धमकाने का भी आरोप है।

नीरव मोदी और उसके रिश्तेदार मेहुल चौकसी द्वारा किए गए पीएनबी घोटाले के सामने आने के पहले ही नीरव मोदी देश छोड़कर भाग गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान ने Wikipedia को किया बैन, ‘ईशनिंदा’ वाले कंटेंट हटाने को राजी नहीं हुई कंपनी

पाकिस्तान ने कथित ईशनिंदा से संबंधित कंटेंट को लेकर देश में विकिपीडिया को बैन कर दिया है। इससे पहले उसे 48 घंटे का समय दिया था।

‘ये मुस्लिम विरोधी कार्रवाई’: असम में बाल विवाह के खिलाफ एक्शन से भड़के ओवैसी, अब तक 2200 गिरफ्तार – इनमें सैकड़ों मौलवी-पुजारी

असम सरकार की कार्रवाई के तहत दूल्हे और उसके परिजनों के अलावा पंडितों और मौलवियों को भी गिरफ्तार किया जा रहा है। ओवैसी बोले - ये मुस्लिम विरोधी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
243,756FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe