Friday, December 4, 2020
Home रिपोर्ट अंतरराष्ट्रीय चीन के सुधरने के नहीं नजर आ रहे आसार, सैनिकों की वापसी का मामला...

चीन के सुधरने के नहीं नजर आ रहे आसार, सैनिकों की वापसी का मामला अटका, बैठक के बाद भी PLA सैनिक नहीं हटे पीछे: रिपोर्ट

"सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति एवं स्थिरता कायम रखना हमारे द्विपक्षीय संबंधों का आधार है। इसलिए यह हमारी उम्मीद है कि विशेष प्रतिनिधियों के बीच बनी सहमति के अनुरूप चीनी पक्ष सीमावर्ती क्षेत्रों से पूरी तरह हटने और तनाव कम करने तथा पूर्ण शांति एवं स्थिरता बहाली के लिए हमारे साथ ईमानदारी से काम करेगा।"

भारत और चीन के बीच लद्दाख स्थित एलएसी पर पिछले करीब तीन महीने से तनाव जारी है। हाल ही में दोनों देशों के बीच सैन्य और राजनयिक स्तर की वार्ताओं का दौर चला, जिसके बाद दोनों देशों के बीच LAC से सेनाओं को पीछे हटाने पर सहमति बनी। पिछले कुछ दिनों में भारत और चीन ने टकराव वाली जगहों से टुकड़ियों को पीछे भी खींचा है। हालाँकि, ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, चीन ने कई जगहों पर अब भी अपनी सेना तैनात कर रखी हैं।

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख सीमा पर मौजूदा हालात को देखते हुए चीन की चालबाजी साफ़ दिखने लगी है। पिछले दस दिनों के भीतर वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के अधिकांश विवादग्रस्त इलाकों से चीनी PLA की या तो वापसी नहीं हुई है या हुई भी है तो बेहद कम। ऐसे में दोनों देशों के विशेष प्रतिनिधियों (भारतीय एनएसए और चीन के विदेश मंत्री) के बीच तनाव खत्म करने के लिए सैनिकों की वापसी को लेकर जो सहमति बनी थी, उसके अनुपालन पर भी प्रश्न चिन्ह लग गया है।

वहीं भारत ने इस हालात पर चिंता जताते हुए उम्मीद जताई है कि चीन की जिनपिंग सरकार पूर्व में बनी सहमति को अमल में लाएगा, क्योंकि सीमा पर शांति स्थापित किए बगैर दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय रिश्ते को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता।

ऐसे में मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि चीन द्वारा की जा रही चालबाजी का असर विदेश मंत्रालयों के अधिकारियों की आने वाले बैठक में भी देखने को मिलेगा। चीन जानबूझ कर तनाव का माहौल पैदा करने की कोशिश कर रहा है। वर्किंग मेकेनिज्म (डब्लूएमसीसी) के तहत होने वाली इस बैठक में इस मुद्दे को भी उठाए जाने की भी सम्भावना है।

सीमा पर उत्पन्न हुए तनाव को कम करने और आपस में समझौता कराने के लिए वर्किंग मेकेनिज्म की यह बैठक पहले भी दो बार हो चुकी है। कुल मिला कर हाल ही में चीन के साथ भारत की चार बैठके हो चुकी हैं। वहीं आपसी तनाव को देखते हुए दोनों देशों के अधिकारियों ने फोन के जरिए भी मामले को सुलझाने की कोशिश की थी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने बताया, “सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति एवं स्थिरता कायम रखना हमारे द्विपक्षीय संबंधों का आधार है। इसलिए यह हमारी उम्मीद है कि विशेष प्रतिनिधियों के बीच बनी सहमति के अनुरूप चीनी पक्ष सीमावर्ती क्षेत्रों से पूरी तरह हटने और तनाव कम करने तथा पूर्ण शांति एवं स्थिरता बहाली के लिए हमारे साथ ईमानदारी से काम करेगा।” उन्होंने यह भी उम्मीद जताई कि डब्लूएमसीसी की अगली बैठक जल्द होगी, जिसमें सैनिकों की वापसी से जुड़ी प्रगति की समीक्षा की जाएगी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यह दावा किया जा रहा है कि दोनों देशों के सैनिकों के पीछे हटने के शुरुआती कदम के बाद स्थिति में कुछ ज्यादा बदलाव नहीं आया है। दोनों ही देशों के सैनिक काफी कम फासले पर मौजूद हैं। हालाँकि, सैनिकों की संख्या जरूर घटी है। फ्लैश प्वॉइंट पैंगोंग झील के किनारे से चीन के सैनिक फिंगर 4 से फिंगर 5 तक पीछे हटे हैं। झील के पास भले ही दोनों सेनाओं की बीच की दूरी 4-5 किमी. हो, लेकिन पहाड़ी इलाके में ये सिर्फ एक किमी की बात है।

ऐसे में साफ दिख रहा है कि पिछले एक हफ्ते से स्थिति में कोई बदलाव नहीं हुआ है। कहा जा रहा था कि काफी लंबे वक्त पहले चीनी सेना फिंगर चार तक आ गई थी, जबकि भारत का दावा फिंगर 8 तक का है। करीब 600-800 मीटर की दूरी पर अभी भी 40-50 जवान करीबी से नजर बनाए हुए हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, इससे पहले समझौते के आधार पर 15 जून को जहाँ झड़प हुई थी, उस इलाके से चीन 1.5 किमी. तक पीछे हट गया था। जिसके बाद दोनों देशों के बीच की सेनाओं की दूरी तीन किमी. तक हो गई थी। ऐसी स्थिति में भारतीय सेना लंबी तैयारी कर रही है और पूरी तरह से मुस्तैद है।

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर जारी तनाव को कम करने के लिए चार बार कॉर्प्स कमांडर स्तर की वार्ता हो चुकी है। इसके बावजूद डेपसांग समतल क्षेत्र और दौलत बेग ओल्डी क्षेत्र में चीन के अवैध निर्माण की बात कही जा रही है। भारत ने इन गतिविधियों का मुद्दा सेना के अधिकारियों की बैठक में उठाया था। भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने उनके चीनी समकक्ष सहित विशेष प्रतिनिधियों से एलएसी पर सैन्य निर्माण के मुद्दे को हल करने के लिए बातचीत की थी।

दोनों पक्षों के बीच हुई बैठक के दौरान कई विषयों पर चर्चा हुई थी। डेपसांग मुद्दे को प्रमुखता से उठाने से पहले भारतीय पक्ष गलवान घाटी (PP-14), PP-15, हॉट स्प्रिंग्‍स, गोगरा और फिंगर एरिया सहित चार बिंदुओं पर विस्‍थापन प्रक्रिया पर चर्चा कर रहा था। कई दौर की चर्चा के बाद दोनों पक्षों में सहमति बनी थी। जिसके बाद चीनी सेना पीछे हट गई थी। 15 जून को भारत और चीनी सेना के बीच हुई खूनी झड़प के बाद युद्ध जैसे हालात बने हुए थे जिसे आपसी बातचीत के जरिए सामान्य किया गया वहीं दोनों ही देशों की सेना के बीच तय हुआ कि, अपनी पुरानी स्थित‍ि में वापस आएँगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बीजद के निष्कासित विधायक को अधिकारियों ने घर से उठाया, पत्नी ने कहा- अगर मेरे पति को कुछ हुआ तो CM जिम्मेदार

सुजाता का कहना है, "“मुझे अपने पति की लोकेशन के बारे में नहीं पता चल पा रहा है। अगर मेरे पति को कुछ भी हुआ तो मुख्यमंत्री इसके लिए जिम्मेदार होंगे।”

‘आमी किलिकी भाषा जानी’: ममता बनर्जी ने हिडेन टैलेंट से उठाया पर्दा तो लोग उड़ाने लगे मजाक, देखें वीडियो

अब ममता बनर्जी की यह वीडियो वायरल हो रही है। लोग इस वीडियो को लेकर तंज कस रहे हैं। एक यूजर का कहना है कि ममता बनर्जी अपने ऑफिस नबना में ट्यूशन की क्लास दे सकती हैं।

‘गुस्ताख़-ए-रसूल की एक ही सज़ा…’- दीवारों पर ग्राफिटी लिखने वाले मो नजीर को मेंगलुरु पुलिस ने किया गिरफ्तार

कर्नाटक के मेंगलुरु में एक अपार्टमेंट की दीवारों पर संघियों और मनुवादियों को धमकी भरी भयावह बातें लिखने के मामले में पुलिस ने गुरुवार को एक मोहम्मद नजीर नामक युवक को गिरफ्तार किया है।

कोरोना वैक्सीन को लेकर राहुल गाँधी गढ़ रहे झूठ, फैला रहे भ्रम: मोदी-विरोध में कॉन्ग्रेसी राजनीति का Fact Check

जब पूरा देश कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ जंग लड़ रहा है, तब राहुल गाँधी जनता को बरगलाना रहे, अपने झूठे वादों से जनता में भय पैदा करना चाहते हैं।

‘अपनी 12 बीघा जमीन PM मोदी को देना चाहती हूँ’ – 85 साल की बुजुर्ग महिला का ‘सीरियस’ वीडियो हो रहा वायरल

उत्तर प्रदेश की 85 वर्षीय वृद्ध महिला अपनी पूरी संपत्ति प्रधानमंत्री के नाम करना चाहती हैं और इसके पीछे की वजह बेहद भावनात्मक है।

UP में फिल्म सिटी पर महाराष्ट्र की सत्ता में ‘आग’: NCP का प्रदर्शन, CM ठाकरे ने कहा – ‘ईर्ष्या नहीं कर रहे लेकिन…’

NCP कार्यकर्ताओं ने फिल्म सिटी के खिलाफ यूपी में विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने 2 दिवसीय यात्रा के लिए मुंबई पहुँचे योगी आदित्यनाथ के खिलाफ...

प्रचलित ख़बरें

‘गुजराती कसम खा कर पलट जाते हैं, औरंगजेब की तरह BJP नेताओं की कब्रों पर थूकेंगे लोग’: क्रिकेटर युवराज सिंह के पिता की धमकी

जब उनसे पूछा गया कि इस 'किसान आंदोलन' में इंदिरा गाँधी की हत्या को याद कराते हुए पीएम मोदी को भी धमकी दी गई है, तो उन्होंने कहा कि जिसने जो बोया है, वो वही काटेगा।

एक ही परिवार के 3 भाइयों का शव बरामद, आँखें निकली हुईं: हत्या का आरोप लगा परिजनों ने मिर्जापुर में किया चक्का जाम

पुलिस अधीक्षक का कहना है कि लेहड़िया बंधी के पानी में तीन लड़कों का शव बरामद हुआ है। हत्या की आशंका जताई गई है, पोस्टमॉर्टम के लिए...

‘दिल्ली और जालंधर किसके साथ गई थी?’ – सवाल सुनते ही लाइव शो से भागी शेहला रशीद, कहा – ‘मेरा अब्बा लालची है’

'ABP न्यूज़' पर शेहला रशीद अपने पिता अब्दुल शोरा के आरोपों पर सफाई देने आईं, लेकिन कठिन सवालों का जवाब देने के बजाए फोन रख कर भाग खड़ी हुईं।

‘ओ चमचे चल, तू जिनकी चाट के काम लेता है, मैं उनकी रोज बजाती हूँ’: कंगना और दिलजीत दोसांझ में ट्विटर पर छिड़ी जंग

कंगना ने दिलजीत को पालतू कहा, जिस पर दिलजीत ने कंगना से पूछा कि अगर काम करने से पालतू बनते हैं तो मालिकों की लिस्ट बहुत लंबी हो जाएगी।

‘स्टैचू ऑफ यूनिटी या ताजमहल?’ – स्टैचू ऑफ लिबर्टी से भी ज्यादा पर्यटकों के आँकड़े चिढ़ा रहे ध्रुव राठी को

यूट्यूब की जनता को एंगेज रखना है, खुद को वामपंथी ब्रिगेड की यूथ विंग का मुखिया साबित करना है तो यह सब करना ही पड़ेगा। सरकार को गाली...

15274 मौतें, एंडरसन, शहरयार… सुषमा स्वराज ने जब राहुल गाँधी से कहा- अपनी ममा से पूछें डैडी ने…

सन् 1984। ऑपरेशन ब्लू स्टार का साल। इंदिरा गॉंधी की हत्या का साल। सिखों के नरसंहार का साल। सबसे प्रचंड बहुमत से...

बीजद के निष्कासित विधायक को अधिकारियों ने घर से उठाया, पत्नी ने कहा- अगर मेरे पति को कुछ हुआ तो CM जिम्मेदार

सुजाता का कहना है, "“मुझे अपने पति की लोकेशन के बारे में नहीं पता चल पा रहा है। अगर मेरे पति को कुछ भी हुआ तो मुख्यमंत्री इसके लिए जिम्मेदार होंगे।”

पाकिस्तान की मदद के लिए आगे आया तुर्की, सीरियन आतंकियों को कश्मीर भेजने का प्लान: ग्रीस पत्रकार का दावा

रिपोर्ट से आतंकियों को कश्मीर जाने के लिए 2000 डॉलर की राशि देने की बात भी सामने आई है। आतंकियों को कहा जा रहा है कि कश्मीर भी उतना ही पहाड़ी है जितना आर्मीनिया का नार्गोनो काराबाख है।

‘आमी किलिकी भाषा जानी’: ममता बनर्जी ने हिडेन टैलेंट से उठाया पर्दा तो लोग उड़ाने लगे मजाक, देखें वीडियो

अब ममता बनर्जी की यह वीडियो वायरल हो रही है। लोग इस वीडियो को लेकर तंज कस रहे हैं। एक यूजर का कहना है कि ममता बनर्जी अपने ऑफिस नबना में ट्यूशन की क्लास दे सकती हैं।

लव जिहाद जैसा कुछ किया तो बर्बाद कर दूँगा, किसानों के हित में भी CM शिवराज ने दिया बड़ा बयान

"हमारे राज्य में कोई भेदभाव नहीं है, लेकिन अगर कोई हमारी बेटियों के साथ कुछ भी घृणित करने की कोशिश करेगा तो उन्हें मैं छोड़ूँगा नहीं।"

‘लव जिहाद’ कानून के खिलाफ SC में 2 याचिकाएँ दाखिल, कहा- किसी को फँसाने के लिए ये बनेगा शक्तिशाली उपकरण

याचिकाकर्ताओं ने दलील दी है कि संसद के पास मौलिक अधिकारों में संशोधन करने की कोई शक्ति नहीं है और यदि यह अध्यादेश लागू किया जाता है तो यह बड़े पैमाने पर जनता को नुकसान पहुँचाएगा और समाज में अराजक स्थिति पैदा करेगा।

‘ओ चमचे चल, तू जिनकी चाट के काम लेता है, मैं उनकी रोज बजाती हूँ’: कंगना और दिलजीत दोसांझ में ट्विटर पर छिड़ी जंग

कंगना ने दिलजीत को पालतू कहा, जिस पर दिलजीत ने कंगना से पूछा कि अगर काम करने से पालतू बनते हैं तो मालिकों की लिस्ट बहुत लंबी हो जाएगी।

‘गुस्ताख़-ए-रसूल की एक ही सज़ा…’- दीवारों पर ग्राफिटी लिखने वाले मो नजीर को मेंगलुरु पुलिस ने किया गिरफ्तार

कर्नाटक के मेंगलुरु में एक अपार्टमेंट की दीवारों पर संघियों और मनुवादियों को धमकी भरी भयावह बातें लिखने के मामले में पुलिस ने गुरुवार को एक मोहम्मद नजीर नामक युवक को गिरफ्तार किया है।

PFI नेताओं के 26 ठिकानों पर ED की छापेमारी: दंगों-अराजक गतिविधियों की फंडिंग के मामले में चला अभियान

ईडी ने आज पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (पीएफ़आई) के नेशनल एग्जीक्यूटिव काउंसिल मेम्बर करमना अशरफ मौलवी के तिरुअनंतपुरम स्थित पूंथुरा आवास पर छापा मारा।

कोरोना वैक्सीन को लेकर राहुल गाँधी गढ़ रहे झूठ, फैला रहे भ्रम: मोदी-विरोध में कॉन्ग्रेसी राजनीति का Fact Check

जब पूरा देश कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ जंग लड़ रहा है, तब राहुल गाँधी जनता को बरगलाना रहे, अपने झूठे वादों से जनता में भय पैदा करना चाहते हैं।

लवजिहाद आरोपित उवैश अहमद 5 दिनों से चल रहा था फरार: नए कानून के तहत यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार

उवैश पर आरोप है कि वह एक हिन्दू लड़की को अपने प्रेमजाल में फँसाकर उस पर धर्मांतरण का दबाव बना रहा था। इतना ही नहीं लड़की की शादी कहीं और हो जाने के बाद भी आरोपित उसे जान से मारने की धमकी भी दे रहा था।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,525FollowersFollow
359,000SubscribersSubscribe