Monday, December 6, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान कोरोना वायरस के डर से चीन में फँसे अपने नागरिकों को बाहर नहीं...

पाकिस्तान कोरोना वायरस के डर से चीन में फँसे अपने नागरिकों को बाहर नहीं निकालेगा, रोकी उड़ान

"विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी यही चाहता है और चीन की भी ऐसी ही इच्‍छा है। हम भी इसी नीति के साथ हैं। हम पूरी एकजुटता से चीन के साथ खड़े हैं। चीन की सरकार ने इस महामारी को वुहान शहर तक सीमित रखने की कोशिश की है।"

कोरोना वायरस की चपेट में आए चीनी शहर वुहान में फँसे पाकिस्तानी छात्रों के एक समूह ने इमरान खान सरकार से उन्हें वहाँ से निकालने के लिए प्रयास करने का अनुरोध किया था लेकिन पाकिस्तान सरकार ने वायरस के खतरे के डर से उन्हें चीन से निकालने से मना कर दिया है।

इस पर पाकिस्‍तान ने कहा है कि वह चीन में फँसे अपने नागरिकों को नहीं निकालेगा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, चीन में फँसे पाकिस्‍तानियों में मुख्‍य रूप से छात्र हैं जो वुहान शहर में फँसे हुए हैं। वुहान चीन का वह शहर है जहाँ से यह महामारी चीन के बाकी हिस्‍सों समेत दुनियाभर के शहरों में पहुँची है।  

चीन में कोरोना वायरस के कारण अब तक 200 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून ने नेशनल हेल्‍थ सर्विस पर पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सहायक जफर मिर्जा के हवाले से बताया है कि सरकार अपने नागरिकों को चीन के वुहान शहर से नहीं निकालेगी।

जफ़र मिर्जा ने कहा- “विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी यही चाहता है और चीन की भी ऐसी ही इच्‍छा है। हम भी इसी नीति के साथ हैं। हम पूरी एकजुटता से चीन के साथ खड़े हैं। चीन की सरकार ने इस महामारी को वुहान शहर तक सीमित रखने की कोशिश की है। ऐसे में यदि हम गैरजिम्मेदारी से काम करते हैं और अपने लोगों को वहाँ से निकालना शुरू करते हैं तो यह महामारी जंगल की आग की तरह पूरी दुनिया में फैल जाएगी। “

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsCorona virus
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिम बाबरी विध्वंस को नहीं भूलेंगे, फिर से बनेगी मस्जिद’: केरल के स्कूल में बाँटा गया ‘मैं बाबरी हूँ’ का बैज

केरल के एक 'सेंट जॉर्ज स्कूल' की कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं, जिसमें एक SDPI कार्यकर्ता बच्चों की शर्ट पर बाबरी वाला बैज लगाता हुआ दिख रहा।

‘लड़ाई जीत ली, पर युद्ध जारी रहना चाहिए’: ISI सरगना और खालिस्तानी के साथ राकेश टिकैत का वीडियो कॉल, PM मोदी को कहा गया...

कथित किसान नेता राकेश टिकैत एक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार का हिस्सा बने, जिसमें खालिस्तानी से लेकर ISI से जुड़े लोग भी शामिल हुए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,998FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe