Tuesday, October 19, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयभाई से निकाह करा 17 साल की नायला खान को परिवार ने दी 'पापों'...

भाई से निकाह करा 17 साल की नायला खान को परिवार ने दी ‘पापों’ की सजा

नायला के परिवार वाले अक्सर उसे ताना देते थे कि वह कुछ ज्यादा ही वेस्टर्न होती जा रही हैं। उनकी नजर में वह 'पापी' हो गई थी। परिवार वालों ने निर्णय लिया कि इन सब चीजों को सही करने का एक ही तरीका है, निकाह।

तीस साल की नायला खान को 17 साल की उम्र में स्कॉटलैंड से परिजन पाकिस्तान ले गए। जहॉं उसका निकाह कजन से जबरन कराया गया। इससे आहत नायला एक दिन सारे नाते-रिश्तों को तोड़ कर भाग खड़ी हुईं। अब अपने साथ हुई ज्यादतियों पर वह एक किताब लिख रही हैं।

नायला के अनुसार, यह रिश्ता नैतिक रूप से ग़लत था। उन्होंने बताया कि उनके परिजनों ने काफी काम उम्र में ही उनका रिश्ता कजन से तय कर दिया था। परिवार की कट्टर इस्लामिक सोच के कारण बचपन से ही उन्हें काफ़ी प्रतिबंधों का सामना करना पड़ा। अम्मी-अब्बू इस बात को लेकर चिंतित रहते थे कि वह ‘पश्चिमी सभ्यता के अनुसार ढलती जा रही है।’ नायला के परिवार को लगता था कि वह ‘कंट्रोल से बाहर’ हो गई है। ऐसा इसीलिए, क्योंकि नायला कपड़े पहनने, बातें करने और ज़िंदगी का लुत्फ़ उठाने में यकीन रखती थीं।

नायला के परिवार वाले अक्सर उसे ताना देते थे कि वह कुछ ज्यादा ही वेस्टर्न होती जा रही हैं। उन्हें 17 वर्ष की उम्र में ही पाकिस्तान ले जाया गया और उसके कजन के साथ जबरन शादी करा दी गई। नायला के परिवार वालों को लगता था कि वह बहुत ‘पापी’ हो गई है और उनका मानना था कि नायला ने परिवार की बदनामी कराई है। नायला के परिवार वालों ने निर्णय लिया कि इन सब चीजों को सही करने का एक ही तरीका है और वह है निकाह।

नायला ने अपने परिवार से बहुत मिन्नतें कीं लेकिन परिवार वालों ने उसकी एक न सुनी। पाकिस्तान में 5 हफ्ते बिताने के बाद नायला और उसका परिवार वापस स्कॉटलैंड आ गया। उसका पति बाद में आने वाला था। 2 महीनों बाद परिवार की ज्यादतियों से परेशान होकर नायला ने घर छोड़ने का फैसला किया। नायला अपने एक दोस्त के साथ घर से भाग खड़ी हुईं। इसके बाद उसके ही परिवार के लोगों ने नायला के लिए आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया।

नायला ने जानकारी दी कि वह अपने साथ हुए अत्याचार पर एक पुस्तक लिख रही हैं

नायला ने फेसबुक पर पोस्ट लिख कर अपना दर्द जाहिर किया। वह महिलाओं की स्वच्छंदता और स्वतंत्रता की लगातार पैरवी कर रही हैं। उन्होंने एक पुस्तक लिखने का फैसला लिया है, जिसमें परिवार की प्रताड़ना से वह कैसे उबरीं, इसका विस्तृत विवरण होगा। इस किताब में एक चैप्टर इस बात पर जोर देगा कि प्यार को मजहब से भी ऊपर रखा जाना चाहिए। बीबीसी के अनुसार, ब्रिटेन में जबरन शादी की घटनाओं में काफ़ी बढ़ोतरी देखी गई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe