Wednesday, April 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयभारत की मदद को आए कई विदेशी हिंदू मंदिर: करोड़ों रुपए, ऑक्सीजन कन्संट्रेटर और...

भारत की मदद को आए कई विदेशी हिंदू मंदिर: करोड़ों रुपए, ऑक्सीजन कन्संट्रेटर और सिलिंडर से सहायता

बैंकॉक, लंदन या UAE... दुनिया के चारों ओर फैले हिंदू मंदिर भारत की मदद करने को आगे आ रहे हैं। कहीं से पैसों की व्यवस्था की जा रही तो कहीं से ऑक्सीजन कन्संट्रेटर और ऑक्सीजन सिलिंडरों की।

भारत में कोरोना के कहर के बीच हिंदू मंदिरों ने देश का खूब साथ दिया। पिछले दिनों हमने आपको देश में स्थित उन तमाम मंदिरों के बारे में बताया, जो विपदा की इस घड़ी में सामने आए और मदद की पेशकश की।

आज हम आपको ऐसे ही कुछ विदेशी मंदिरों के बारे में भी बताने जा रहे हैं। ये हिंदू मंदिर भले ही विदेशों में स्थित हैं लेकिन जब बात हिंदुस्तान को संकट से उभारने की आई तो इन्होंने अपने सामर्थ्य से ज्यादा भारत को मदद दी।

बैंकॉक का हिंदू समाज देव मंदिर

सबसे ताजा मामला बैंकॉक से आया है। द ट्रिब्यून की खबर के अनुसार, एक सदी पुराना हिंदू समाज देव मंदिर, भारत की मदद के लिए आगे आया और अपने बूते भारतीयों को ऑक्सीजन सप्लाई में मदद की। ये मंदिर इस समय रॉयल थाई एयरफोर्स की मदद से भारत में ऑक्सीजन उपकरणों की मदद पहुँचा रहा है।

जानकारी के मुताबिक, मंदिर की ओर से 1 मई को 10 लीटर के 15 कन्संट्रेटर और 500 ऑक्सीजन मास्क भारत भेजे गए। बाद में 5 मई को भी 10 मशीनें फ्लाइट के जरिए भारत आईं।

मंदिर के सचिव ने बताया कि उन्होंने इंसानियत के नाते यह मदद की है। उन्हें अपने परिजनों और दोस्तों से भारत में ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर और ऑक्सीजन टैंक की कमी का पता चल रहा था। इसी कारण उन्होंने फंड इकट्ठा करके भारत की मदद की।

लंदन का श्रीस्वामीनारायण मंदिर

इसके बाद लंदन के श्रीस्वामीनारायण मंदिर ने भी भारत की स्थिति देखते हुए मदद करने के लिए फंड इकट्ठा किया। रिपोर्ट्स के मुताबिक लंदन से दिल्ली बाइकाथॉन प्रोग्राम ऑर्गनाइज किया गया। इसका मकसद भारत के लिए फंड जमा करना था।

जानकारी के मुताबिक, इस आयोजन से मंदिर ने भारत के लिए 500,000 पाउंड यानी 5.1 करोड़ रुपए के आसपास फंड इकट्ठा किया है। आयोजन को CYCLE TO SAVE LIVES का नाम देकर 7,600 किलोमीटर साइकिल चलाई गई। इवेंट में भारतीयों के अलावा लोकल लोगों ने भी भाग लिया। 

इवेंट ऑर्गनाइजर्स ने कहा, “भारत में ऑक्सीजन की कमी है। हमें मदद की जरूरत है। हम भारत के लोगों को ये बता रहे हैं कि वो इस लड़ाई में अकेले नहीं हैं। हम उनके साथ हैं, चाहे हम आपसे हजारों मील दूर बैठे हैं लेकिन हम आपके साथ हैं।”

UAE का हिंदू मंदिर

अबु धाबी में भारत की हर संभव मदद करने की घोषणा होने के बाद वहाँ के हिंदू मंदिर ने भी संकट की घड़ी में भारत की मदद करने का निर्णय लिया। BAPS हिंदू मंदिर ने पूजनीय स्वामी महाराज के देखरेख में ऑक्सीजन टैंक और सिलेंडर भेजने का निर्णय लिया। BAPS पर प्रकाशित एक खबर के अनुसार यह मंदिर भारत को 440 टन ऑक्सीजन हर माह देगा। इससे देश में करीब 50,000 सिलेंडर भरे जा सकेंगे।

इस क्रम में पिछले हफ्ते पहली मदद भी कर दी गई है। इस दौरान वहाँ से 44 टन तरल ऑक्सीजन, 130 ऑक्सीजन सिलिंडर, 600 सिलिंडर के लिए 30,000 लीटर मेडिकल ऑक्सीजन दी गई। साधुओं से लेकर मंदिर के स्वयंसेवक, सब इस समय भारत को ऑक्सीजन भेजने के लिए काम में जुटे हुए हैं।

स्विंडन के हिंदू मंदिर

ब्रिटेन के स्विंडन में भी हिंदुस्तान की मदद के लिए हिंदू मंदिर आगे आया है। वहाँ भी कोशिश हो रही है कि भारत में मेडिकल उपकरणों को भेजा जाए। भारतीय मूल के ब्रिटिश डॉक्टर अक्षय पात्रा यूके चैरिटी के साथ जुड़ कर अस्पतालों को उपकरण भेज रहे हैं और पीड़ितों को मेडिकल हेल्प भी मुहैया करवाई जा रही है।

कोरोना संकट में हिंदू मंदिर मदद को आगे आए

गौरतलब है कि कोरोना महामारी से आज पूरा भारत त्रस्त हो रखा है। हर जगह स्वास्थ्य सुविधाओं में कमी के कारण मौत की खबरें आ रही हैं। ऐसे में देश के तमाम मंदिर हैं, जिन्होंने पिछले दिनों अलग-अलग तरह से अपनी सहायता पेश की। पटना के महावीर मंदिर ने जहाँ ऑक्सीजन मुहैया करवाने का बीड़ा उठाया, वहीं मुंबई के स्वामी नारायण मंदिर को कोविड अस्पताल में तब्दील कर दिया गया। गजानन मंदिर में भी 500-500 बेड के अलग आइसोलेशन परिसर बनाए गए।

इसी तरह देश में मदद को आगे आए 24 मंदिरों के नाम आप इस लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हलाल-हराम के जाल में फँसा कनाडा, इस्लामी बैंकिंग पर कर रहा विचार: RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने भारत में लागू करने की...

कनाडा अब हलाल अर्थव्यवस्था के चक्कर में फँस गया है। इसके लिए वह देश में अन्य संभावनाओं पर विचार कर रहा है।

त्रिपुरा में PM मोदी ने कॉन्ग्रेस-कम्युनिस्टों को एक साथ घेरा: कहा- एक चलाती थी ‘लूट ईस्ट पॉलिसी’ दूसरे ने बना रखा था ‘लूट का...

त्रिपुरा में पीएम मोदी ने कहा कि कॉन्ग्रेस सरकार उत्तर पूर्व के लिए लूट ईस्ट पालिसी चलाती थी, मोदी सरकार ने इस पर ताले लगा दिए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe